SMS hospital: हीटवेव संबंधी व्यवस्थाओं का निरीक्षण करने अस्पताल पहुंची एसीएस

हीटवेव संबंधी व्यवस्थाओं का निरीक्षण करने अस्पताल पहुंची एसीएस
हीटवेव संबंधी व्यवस्थाओं का निरीक्षण
Ad

Highlights

शुभ्रा सिंह लू-तापघात को लेकर चिकित्सा प्रबंधन का जायजा लेने अचानक सवाई मानसिंह अस्पताल पहुंची

अस्पताल में अतिआवश्यक प्रकृति की सेवाओं के लिए तत्काल प्रभाव से कंटीजेंसी प्लान बनाएं

जयपुर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की मुख्य सचिव शुभ्रा सिंह लू-तापघात (heat stroke) को लेकर चिकित्सा प्रबंधन का जायजा लेने अचानक सवाई मानसिंह अस्पताल पहुंची। हीटवेव (heatwave) को लेकर पर्याप्त इंतजाम सुनिश्चित नहीं होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए, अस्पताल प्रशासन को तुरन्त आकस्मिक योजना (contingency plan) बनाने तथा 7 दिन में सभी व्यवस्थाएं सुचारू करने के निर्देश दिए।  

सिंह गुरूवार दोपहर करीब 1 बजे अचानक सवाई मानसिंह (SMS) अस्पताल पहुंची। उन्होंने वहां आपातकालीन इकाई, मेडिसिन वार्ड (medicine ward), बांगड़ परिसर एवं चरक भवन का दौरा कर चिकित्सा व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। आपातकालीन इकाई (emergency unit) में डक्टिंग प्लांट (ducting plant) बंद होने एवं अन्य स्थानों पर कूलर, पंखे, एसी आदि क्रियाशील नहीं मिलने पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त की।

उन्होंने सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज (Sawai Mansingh Medical College) के प्राचार्य डॉ. दीपक माहेश्वरी एवं अधीक्षक डॉ. सुशील भाटी को निर्देश दिए कि अस्पताल में अतिआवश्यक प्रकृति की सेवाओं के लिए तत्काल प्रभाव से आकस्मिक योजना (contingency plan) बनाएं एवं दो दिन के भीतर कूलर, पंखे, एसी, वाटर कूलर आदि को ठीक करवाएं। साथ ही अन्य व्यवस्थाओं को सात दिन में सुचारू करें।
 
मुख्य सचिव ने अस्पताल परिसर में रोगियों एवं परिजनों के लिए पेयजल तथा बैठने की वाज़िब व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मरीजों के उपचार को लेकर आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं में कमी  बर्दाश्त नहीं की जा सकती। किसी भी स्तर पर लापरवाही सामने आने पर कठोर कार्यवाही (strict action) लिया जाएगा।
 
उन्होंने विद्युत उपकरणों का समय पर मेंटीनेंस (maintenance) नहीं होने पर संबंधित अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करने के निर्देश दिए। सिंह ने कहा कि राज्य सरकार सवाई मानसिंह अस्पताल (SMS) में रोगियों को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रतिबद्ध है।
 
अस्पताल में जो भी असुविधाएं सामने आई हैं, उनमें से अति आवश्यक प्रकृति की सेवाओं को  तुरन्त प्रभाव से ठीक किया जाएगा। साथ ही, दीर्घकालीन प्रकृति (long term nature) के कार्यों को योजनाबद्ध तरीके से पूरा किया जाएगा।

नोडल अधिकारी व्यवस्थाओं में सुधार के लिए

मुख्य सचिव ने चिकित्सा शिक्षा आयुक्त इकबाल खान को सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज (Sawai Mansingh Medical College) से संबद्ध एसएमएस (SMS) अस्पताल सहित सभी अस्पतालों में चिकित्सा व्यवस्थाओं में सुधार के लिए नोडल अधिकारी (nodal officer) नियुक्त करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही, नोडल अधिकारी के माध्यम से 28 मई, 2024 तक विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिए हैं।

हीटवेव (Heatwave) प्रबंधन एवं मौसमी बीमारियों को लेकर बैठक

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में शुक्रवार को हीटवेव (Heatwave) प्रबंधन को लेकर उच्च स्तरीय बैठक आयोजित की जाएगी। इसमें मौसमी बीमारियों, गर्मी जनित बीमारियों, अस्पतालों में पानी, बिजली की व्यवस्था, कूलर-एसी, पंखों आदि की क्रियाशीलता सहित अन्य बिंदुओं पर विस्तृत समीक्षा की जाएगी।
 
वीसी (VC) के माध्यम से आयोजित इस बैठक में मेडिकल कॉलेजों (medical colleges) के प्रधानाचार्य, अधीक्षक, संयुक्त निदेशक जोन, सीएमएचओ (CMHO), पीएमओ (PMO), जिला शिशु स्वास्थ्य एवं प्रजनन अधिकारी, उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला कार्यक्रम प्रबंधक, समस्त खण्ड मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं खण्ड कार्यक्रम प्रबंधक शामिल होंगे।

Must Read: विधायक बोले, थप्पड़ मार दूंगा, तहसीलदार ने भी आपा खो, कहा- तेरे लगेगी चल हट, Watch Video

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :