अब 50 जिलों का राजस्थान: 19 नए जिलों को गहलोत कैबिनेट की मुहर, दूदू सबसे छोटा, जैसलमेर सबसे बड़ा जिला

19  नए जिलों को गहलोत कैबिनेट की मुहर, दूदू सबसे छोटा, जैसलमेर सबसे बड़ा जिला
Ashok Gehlot
Ad

Highlights

राजस्थान 50 जिलों वाला राज्य बन गया है। शुक्रवार को सीएम आवास पर हुई कैबिनेट बैठक में 19 नए जिलों को गहलोत कैबिनेट की मुहर लग गई है।

जयपुर | आखिरकार राजस्थान 50 जिलों वाला राज्य बन गया है। शुक्रवार को सीएम आवास पर हुई कैबिनेट बैठक में 19 नए जिलों को गहलोत कैबिनेट की मुहर लग गई है।

विधान सभा चुनावों से पहले मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने नए जिले बनाने की मांग को पूरा करते हुए नया राजनीतिक मास्‍टरस्‍ट्रोक खेला है।

सीएम गहलोत ने पहले ही बजट में 19 जिलों की घोषणा कर दी थी, जिसके बाद आज इन जिलों को लेकर नोटिफिकेशन भी कर दिया गया है। 

ऐसे में पहले से ही 33 जिले रखने वाला राजस्थान अब 19 नए जिले और मिलने के बाद 50 जिलों वाला हो गया है। 

सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने राजस्थान को नए जिले मिलने पर खुशी जताते हुए इसे राजस्थान के लिए ऐतिहासिक दिन बताया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कैबिनेट की बैठक के बाद एक प्रेसकॉन्फ्रेंस कर जानकारी देते हुए कहा कि हम 2023 का विजन लेकर आगे बढ़ रहे हैं। 

सीएम गहलोत ने जानकारी देते हुए बताया कि अब राजस्थान में 50 जिले  और  कुल 10 संभाग होंगे। हमने इसके लिए 2000 करोड़ रुपये का बजट पास किया है।  बांसवाड़ा, सीकर और पाली नए संभाग होंगे।

7 अगस्त को हमारे प्रभारी मंत्री जिलों में जाएंगे। इसी के साथ सीएम गहलोत ने रामलुभाया कमेठी का कार्यकाल 6 महीने और बढ़ा दिया गया है। 

राजस्व मंत्री बोले- आगे और नए जिले बनाएंगे
राजस्व मंत्री रामलाल जाट ने कहा- सीएम ने इतिहास बनाया है। मेरी मांग है कि आगे और भी जिले बनें। कुछ छोटे जिले भी बनाए जाएं। लोगों की जिलों की और मांग आ रही है। बीजेपी के लोग भी जिलों की मांग कर रहे हैं। आगे और नए जिले बनाएंगे।

7 अगस्त को सभी प्रभारी मंत्री नए जिलों का उद्घाटन करेंगे
सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि 7 अगस्त को सभी नए जिलों का उद्घाटन होगा।

दूदू सबसे छोटा, जैसलमेर सबसे बड़ा जिला
राजस्थान में अब दूदू सबसे छोटा जिला होगा। क्षेत्रफल के हिसाब से जैसलमेर अभी भी सबसे बड़ा जिला रहेगा।

1. जयपुर सिटी
जयपुर नगर निगम हैरिटेज और ग्रेटर
तहसील : जयपुर, कालवाड़, आमेर और सांगानेर

2. जयपुर ग्रामीण
13 उपखण्ड : जयपुर, सांगानेर, आमेर, बस्सी, चाकसू, जमवारामगढ़, चौमूं, सांभरलेक, माधोराजपुरा, रामपुरा, डाबड़ी, किशनगढ़, रेनवाल, जोबनेर, शाहपुरा
तहसील : नगर निगम का इलाका छोड़कर जयपुर, कालवाड़, आमेर, सांगानेर तहसील का हिस्सा ग्रामीण में आएगा।
जालसू, बस्सी, तूंगा, चाकसू, कोटखावदा, जमवारामगढ़, आंधी, चौमूं, फुलेरा, माधोराजपुरा, रामपुरा डाबड़ी, किशनगढ़, रेनवाल, जोबनेर और शाहपुरा तहसील में शामिल होगी।

3. जोधपुर city
इसमें जोधपुर तहसील का नगर निगम जोधपुर के तहत आने वाला पूरा भाग होगा।

4. जोधपुर (ग्रामीण)
इस जिले में 10 उपखंड और 15 तहसील होंगी।

उपखंड: जोधपुर उत्तर, जोधपुर दक्षिण, लूणी, बिलाड़ा, भोपालगढ़, पीपाड़ सिटी, ओसियां, बावड़ी, शेरगढ़ और बालेसर।

तहसील: नगर निगम के क्षेत्र को छोड़कर जोधपुर उत्तर और दक्षिण तहसील का हिस्सा होंगे। कुड़ी, भगतासनी, लूणी, झवर, बिलाड़ा, भोपालगढ़, पीपाड़ सिटी, ओसियां, तिंवरी, बावड़ी, शेरगढ़, बालेसर, शेखला और चामू।

5. बालोतरा
इसमें 4 उपखंड और 7 तहसील होंगी।

उपखंड: बालोतरा, सिवाना, बायतु और सिणधरी।
तहसील: पचपदरा, कल्याणपुर, सिवाना, समदड़ी, बायतु, गिड़ा और सिणधरी

6. डीग
इसमें 6 उपखंड और 9 तहसील होंगी।

उपखंड: डीग, कुम्हेर, नगर, सीकरी, कामां और पहाड़ी।
तहसील: डीग, जनूथर, कुम्हेर, रारह, नगर, सीकरी, कामां, जुरहरा और पहाड़ी।

7. डीडवाना-कुचामन
इसमें 6 उपखंड और 8 तहसील होंगी।

उपखंड: डीडवाना, लाडनूं, परबतसर, मकराना, नागौर और कुचामन सिटी।
तहसील: डीडवाना, मौलासर, छोटी खाटू, लाडनूं, परबतसर, मकराना, नावां और कुचामन सिटी।

8. दूदू
इसमें 3 उपखंड और 3 तहसील होंगी।

उपखंड: मोजमाबाद, दूदू और फागी।
तहसील: मोजमाबाद, दूदू और फागी।

9. गंगापुरसिटी
5 उपखंड और 7 तहसील होंगी।

उपखंड: गंगापुरसिटी, वजीरपुर, बामनवास, टोडाभीम और नादौती।
तहसील: गंगापुरसिटी, तलवाड़ा, वजीरपुर, बामनवास, बरनाला, टोडाभीम और नादौती।

10. ब्यावर
इसमें 6 उपखंड और 7 तहसील होंगी।

उपखंड: ब्यावर, टॉडगढ़, जैतारण, रायपुर, मसूदा और बदनोर।
तहसील: ब्यावर, टॉडगढ़, जैतारण, रायपुर, मसूदा, विजयनगर और बदनोर।

11. केकड़ी
इसमें 5 उपखंड और 6 तहसील होंगी।

उपखंड: केकड़ी, सावर, भिनाय, सरवाड़ और टोडारायसिंह।
तहसील: केकड़ी, सावर, भिनाय, सरवाड़, टाटोटी और टोडारायसिंह

12. कोटपूतली-बहरोड़
इसमें 7 उपखंड 8 तहसील शामिल।

उपखंड: बहरोड़, बानसूर, नीमराणा, नारायणपुर, कोटपूतली, विराटनगर और पावटा।
तहसील: बहरोड़, बानसूर, नीमराणा, मांधन, नारायणपुर, कोटपूतली, विराटनगर और पावटा।

13. खैरथल-तिजारा
इसमें 5 उपखंड और 7 तहसील होंगी।

उपखंड: तिजारा, किशनगढ़ बास, कोटकासिम, टपूकड़ा और मुंडावर।
तहसील: तिजारा, किशनगढ़ बास, खैरथल, कोटकासिम, हरसोली, टपूकड़ा और मुंडावर।

14. नीम का थाना
इसमें 4 उपखंड और 5 तहसील होंगी।

उपखंड: नीम का थाना, श्रीमाधोपुर, उदयपुरवाटी और खेतड़ी।
तहसील: नीम का थाना, पाटन, श्रीमाधोपुर, उदयपुरवाटी और खेतड़ी।

15. सलूंबर
इसमें 4 उपखंड और 5 तहसील होंगी।

उपखंड: सराडा, सेमारी, लसाडिया और सलूंबर।
तहसील: सराडा, सेमारी, लसाडिया, सलूंबर और झल्लारा।

16. सांचौर
4 उपखंड और 4 तहसील होंगी.

उपखंड और तहसील: सांचौर, बागोड़ा, चितलवाना और रानीवाड़ा।

17. शाहपुरा
इसमें 5 उपखंड और 6 तहसील होंगी।

उपखंड: शाहपुरा, जहाजपुर, फुलिया कला, बनेड़ा और कोटडी।
तहसील: शाहपुरा, जहाजपुर, काछोला, फुलिया कला, बनेड़ा और कोटडी।

18. फलोदी
इसमें 6 उपखंड और 8 तहसील होंगी।

उपखंड: फलोदी, लोहावट, आऊ, देचू, बाप और बापिणी।
तहसील: फलोदी, लोहावट, आऊ, देचू, सेतरावा, बाप, घंटियाली और बापिणी।

तीन नए संभाग और उनके जिले
सीकर: इस संभाग में सीकर, झुंझुनूं, चूरू और नीमकाथाना।
पाली: इस संभाग में पाली, जालोर, सिरोही और सांचौर।
बांसवाड़ा: इस संभाग में बांसवाड़ा, डूंगरपुर और प्रतापगढ़।

Must Read: भारतीय युवा कांग्रेस ने लॉच किया यंग इंडिया के बोल-सीजन 3

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :