पाकिस्तान की बॉर्डर छूएंगे 5 जिले: सीएम गहलोत की एक घोषणा ने बदल दिया राजस्थान का भूगोल

सीएम गहलोत की एक घोषणा ने बदल दिया राजस्थान का भूगोल
Rajasthan New Districts
Ad

Highlights

अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) की एक घोषणा के साथ ही राजस्थान का भूगोल भी बदल गया। जिसके चलते अब भूगोल के शिक्षकों और विद्यार्थियों को एक नए रूप में राजस्थान का भूगोल (Rajasthan Geography) समझना और पढ़ना होगा।

जयपुर |  राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) की एक घोषणा के साथ ही राजस्थान का भूगोल भी बदल गया। 

जिसके चलते अब भूगोल के शिक्षकों और विद्यार्थियों को एक नए रूप में राजस्थान का भूगोल (Rajasthan Geography) समझना और पढ़ना होगा।

सीएम गहलोत के प्रदेश में 19 नए जिलों और 3 संभागों को मंजूरी देते ही राजस्थान में अब 50 जिले और 10 संभाग हो गए हैं। 

इससे पहले तक प्रदेश में 33 जिले और 7 संभाग थे। 

सोमवार यानि आज से 19 नए जिलों की स्थापना हो रही है और  राजस्थान के भूगोल में भी बहुत बड़ा बदलाव होने जा रहा है।

प्रदेश में भौगोलिक बदलाव के साथ ही इतिहास, प्रशासनिक व्यवस्था, अंतरराष्ट्रीय व अंतरराज्यीय सीमा में बदलाव, राष्ट्रीय राजमार्गों की स्थिति, झीलें, अभयारण्य सहित विभिन्न चीजों में बदलाव आ जाएगा।

नए जिलों के बनने से अब अंतरराज्यीय सीमा बनाने वाले जिलों की संख्या 23 से बढ़कर 25 हो जाएगी। 

वहीं, अंतवर्ती जिलों की संख्या 8 से बढक़र 22 हो जाएगी।

राजस्थान की कुल सीमा बनाने वाले जिले 25 से बढ़कर 28 होंगे।

अब पाकिस्तान की बॉर्डर छूएंगे 5 जिले 

राजस्थान में 50 जिले होने के बाद पाकिस्तान की सीमा (Pakistan Border) को भी प्रदेश के 5 जिले छूएंगे। 

दरअसल, राजस्थान की पाकिस्तान से 1070 किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा लगती है। 

जिनमें अभी तक श्रीगंगानगर, बीकानेर, जैसलमेर और बाड़मेर जिले ही पाकिस्तानी सीमा को टच करते थे। 

लेकिन अब अनूपगढ़ भी जिला बन गया है। जो पाकिस्तानी सीमा से टच होने के साथ ही सबसे नजदीकी जिला मुख्यालय भी होगा।

अंतरराज्यीय सीमाओं में भी हुआ बदलाव

राजस्थान में 19 नए जिले बनने से न केवल अंतरराष्ट्रीय सीमा में बदलाव हुआ है बल्कि राष्ट्रीय सीमाओं में भी बड़े बदलाव हो गए हैं। जिनमें...

- हरियाणा के साथ अब सीकर व जयपुर की सीमा नहीं लगेगी, क्योंकि नीम का थाना, कोटपूतली-बहरोड, खैरथल-तिजारा और डीग नए जिले बन गए हैं और अब ये अपनी सीमा बनाएंगे।

- अब हरियाणा और उत्तरप्रदेश की सीमा से भरतपुर टच नहीं होगा क्योंकि अब डीग जिला बनने के बाद इसकी सीमा ही हरियाणा और यूपी से लगेगी।

- गुजरात की सीमा भी अब जालोर से नहीं लगेगी क्योंकि अब सांचौर जिला अपनी सीमा बनाएंगा। 

Must Read: रथ में सवार होकर अपनी मौसी के घर चले तीनों बहन-भाई,  रथ के निर्माण में नहीं होता कील-धातु का प्रयोग

पढें मनचाही खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :