Heavy Rainfall in Rajasthan: जयपुर में सड़कें बन गई नदियां, बारिश से पूरे राजस्थान में हालात ऐसे हैं

जयपुर में सड़कें बन गई नदियां, बारिश से पूरे राजस्थान में हालात ऐसे हैं
Heavy Rain in Jaipur
Ad

Highlights

जयपुर मौसम विज्ञान केंद्र के एक प्रवक्ता ने बताया कि शुक्रवार को पूर्वी राजस्थान के अजमेर, जयपुर, भरतपुर और कोटा संभाग में मानसून सक्रिय रहने की उम्मीद है और कुछ स्थानों पर भारी बारिश की भी संभावना है.

Jaipur | दिनांक: 29 जुलाई 2023

बीते चौबीस घंटों में जयपुर में भारी बारिश के चलते लोग हलकान हो रहे हैं। शहर के कई इलाकों में पानी भर गया और सड़कों ने नदियों का रूप ले लिया है। यही नहीं पूरे प्रदेश में पिछले 24 घंटों में कई स्थानों पर भारी बारिश हुई, जिससे शुक्रवार को जयपुर, जोधपुर और उदयपुर जैसे कई शहरों में जलभराव और यातायात जाम हो गया।

मौसम विभाग के अनुसार, जोधपुर, उदयपुर, जयपुर और अजमेर जिलों में गुरुवार रात भारी बारिश हुई, जिससे कई शहरों और कस्बों में प्रमुख सड़कों पर घुटनों तक पानी भर गया।

मौसम विभाग ने कहा कि पिछले 24 घंटों में राज्य के कई स्थानों पर गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश हुई।

जयपुर मौसम विज्ञान केंद्र के एक प्रवक्ता ने बताया कि शुक्रवार को पूर्वी राजस्थान के अजमेर, जयपुर, भरतपुर और कोटा संभाग में मानसून सक्रिय रहने की उम्मीद है और कुछ स्थानों पर भारी बारिश की भी संभावना है.

प्रवक्ता ने कहा कि जोधपुर और बीकानेर संभागों में कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है जबकि एक या दो स्थानों पर मध्यम से भारी बारिश का अनुमान है।

उन्होंने कहा कि शनिवार को पूर्वी और उत्तर-पूर्वी राजस्थान के कुछ हिस्सों और भरतपुर, जयपुर और कोटा संभाग के कुछ हिस्सों में मानसून सक्रिय रहने की संभावना है।

शुक्रवार को शाम 5.30 बजे तक के मौसम के आंकड़ों के अनुसार, बारां के आमता में सबसे अधिक 32.5 मिमी बारिश दर्ज की गई, जबकि कोटा में 32.4 मिमी, अलवर में 24.4 मिमी और अजमेर में 24.3 मिमी दर्ज की गई।

सुबह 8.30 बजे समाप्त हुए पिछले 24 घंटों में सिरोही के माउंट आबू में 14 सेमी बारिश के साथ सबसे ज्यादा बारिश हुई, इसके बाद राजसमंद के रेलमगरा में 12 सेमी, जोधपुर के फलोदी में 11 सेमी, जयपुर के कोटपूतली में 10 सेमी और प्रत्येक में 9 सेमी बारिश हुई। अलवर के बहरोड़ और श्रीगंगानगर के रायसिंहनगर में 9 सेमी बारिश रिकार्ड की गई। 

जैसे-जैसे मानसून का मौसम आगे बढ़ता है, राजस्थान राज्य में विविध वर्षा पैटर्न का अनुभव हो रहा है। जयपुर में जल विज्ञान के उप निदेशक ने एक मॉर्निंग रेनफॉल बुलेटिन जारी किया है, जिसमें निर्दिष्ट तिथि पर सुबह 8:30 बजे तक पिछले 24 घंटों में हुई वर्षा माप का विवरण दिया गया है। डेटा विभिन्न जिलों में महत्वपूर्ण वर्षा का संकेत देता है, कुछ क्षेत्रों में भारी से बहुत भारी वर्षा का सामना करना पड़ता है।

आइए राजस्थान के विभिन्न जिलों में दर्ज की गई वर्षा माप पर एक नज़र डालें:

heavy rainfall in jaipur rajasthan

heavy rainfall in rajasthan भारी वर्षा

अजमेर: अजमेर (70.0 मिमी), श्रीनगर (65.0 मिमी), रूपनगढ़ (57.0 मिमी)

अलवर: अलवर* (95.0 मिमी), जयसमंद* (62.0 मिमी), अलवर (50.0 मिमी)

बारां: अटरू (81.0 मिमी), शाहबाद (39.0 मिमी), और अंता (25.0 मिमी)।

भरतपुर: बैर* (69.0 मिमी), वियर (69.0 मिमी), सियोला हेड* (40.0 मिमी)

दौसा: लालसोट (120.0 मिमी), लालसोट* (65.0 मिमी), राहुवास (45.0 मिमी)

झालावाड़: अकलेरा (37.0 मिमी), सुनेल (22.0 मिमी), कालीसिंध बांध* (21.0 मिमी)

कोटा: जवाहरसागर* (87.6 मिमी), दर्रा कॉलोनी* (60.0 मिमी), लाडपुरा (56.0 मिमी)

सवाई माधोपुर: गंगापुर सिटी (69.0 मिमी), पंचोलस* (49.0 मिमी), मोरसागर* (40.0 मिमी)

सीकर: नीम का थाना (75.0 मिमी), रायपुर पाटन* (40.0 मिमी), पाटन (38.0 मिमी)

rajasthan very heavy rainfall in jaipur 

जयपुर: जयपुर (158.0 मिमी), रामगढ़ बांध* (80.0 मिमी), चोमू (68.0 मिमी),

अन्य जिलों में वर्षा:

  1. बांसवाड़ा: भूंगड़ा (27.0 मिमी), दानपुर (23.0 मिमी)।
  2. चित्तौड़गढ़: चित्तौड़गढ़ (39.0 मिमी), भैसरोडगढ़ (30.0 मिमी), और संदेसर* (30.0 मिमी)।
  3. झुंझुनू: नवलगढ़ (50.0 मिमी), मंडावा (27.0 मिमी), और बिसाऊ (26.0 मिमी)।
  4. जोधपुर: भोपालगढ़ (32.0 मिमी), जोधपुर (19.0 मिमी), और बिराई* (18.0 मिमी)।
  5. करौली: पंचना बांध* (66.0 मिमी), भालघाट (54.0 मिमी), और करणपुर (48.0 मिमी)।
  6. प्रतापगढ़: छोटीसादड़ी (58.0 मिमी), पीपलखूंट (41.0 मिमी), और दलोट (25.0 मिमी)।
  7. राजसमंद: भीम (93.0 मिमी), रेलमगरा (38.0 मिमी), और कुंवारिया (24.0 मिमी)।
  8. उदयपुर: कानोड़ (49.0 मिमी), ओगना* (27.0 मिमी), और ऋषभदेव (20.0 मिमी)।
  9. टोंक: पीपलू (39.0 मिमी), लांबा हरिसिंह* (36.0 मिमी), और चांदसेन* (35.0 मिमी)।

ये वर्षा माप क्षेत्र में बाढ़ की निगरानी और आपदा प्रबंधन के लिए महत्वपूर्ण हैं। जयपुर में बाढ़ सेल सक्रिय रूप से स्थिति की निगरानी कर रहा है और बाढ़ से संबंधित किसी भी आपात स्थिति के लिए दिए गए संपर्क नंबरों और ईमेल पते पर संपर्क किया जा सकता है।

rainfall alert in jaipur city rajasthan

इन क्षेत्रों के निवासियों के लिए भारी वर्षा के दौरान सतर्क रहना और आवश्यक सावधानी बरतना आवश्यक है। अधिकारियों से इस मानसून के मौसम के दौरान नागरिकों और बुनियादी ढांचे की सुरक्षा सुनिश्चित करने में सक्रिय रहने का आग्रह किया जाता है।

jaipur city rainfall alert

वर्षा की मात्रा के आधार पर वर्षा को चार श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है:

  1. मध्यम वर्षा: 15.6 से 64.4 मिमी
  2. भारी वर्षा: 64.5 से 115.5 मिमी
  3. बहुत भारी वर्षा: 115.6 से 204.4 मिमी
  4. अत्यधिक भारी वर्षा: 204.5 मिमी और अधिक

Must Read: भाजपा की परिवर्तन यात्रा के जवाब में अब कांग्रेस की ’जन आशीर्वाद यात्रा’

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :