परिवहन निगम: रोडवेज बस स्टैण्ड पर बुनियादी सुविधाओं को बेहतरीन करने के निर्देश दिये

रोडवेज बस स्टैण्ड पर बुनियादी सुविधाओं को बेहतरीन करने के निर्देश दिये
रोडवेज मुख्यालय पर वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के जरिए सभी मुख्य प्रबन्धकों के साथ आयोजित बैठक
Ad

Highlights

महिलाएं किसी भी आपातकालीन स्थिति से प्रबन्धन को अवगत कराने में सक्षम होगी

वीटीएस (व्हीकल ट्रेकिंग सिस्टम) के उपयोग से डीजल औसत के परिणामों में सुधार के साथ निगम की वित्तीय स्थिति भी सुधरेगी

जयपुर। राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम(Rajasthan State Road Transport Corporation) की अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक श्रेया गुहा ने बताया कि रोडवेज बसों में लगाए जा रहे पैनिक बटन(panic button) एक अच्छी पहल है। इसका उपयोग कर महिलाएं किसी भी आपातकालीन स्थिति से प्रबन्धन को अवगत कराने में सक्षम होगी। इससे रोडवेज बसों में महिलाओं का सफर और भी अधिक सुरक्षित होगा।

उन्होंने बताया कि यह परियोजना परिवहन विभाग के सड़क सुरक्षा प्रकोष्ठ के सहयोग से चलाई जा रही है। उन्होने गर्मी के मद्देनजर बस स्टैण्ड्स पर यात्रियों के लिए पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए।

गुहा बुधवार को रोडवेज मुख्यालय पर वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के जरिए सभी मुख्य प्रबन्धकों के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रही थीं। उन्होंने कहा कि रोडवेज आमजन से जुड़ा उपक्रम है। अतः सभी मुख्य प्रबन्धक यात्रियों को बस स्टैण्ड पर निरंतर सभी बुनियादी सुविधाएं मुहैया करवाने की दिशा में काम करें।

उन्होंने डीजल औसत के परिणामों की समीक्षा करते हुए कहा कि वीटीएस (व्हीकल ट्रेकिंग सिस्टम) के उपयोग से डीजल औसत के परिणामों में सुधार के साथ निगम की वित्तीय स्थिति भी सुधरेगी। उन्होंने इसे पर्यावरण संरक्षण(Environment protection) के लिए भी अहम बताया। इसके साथ ही उन्होने ग्रीष्मकालीन अवकाश(summer vacation) को मद्देनजर रखते हुए यात्रियों की सुविधा के लिए पहाड़ी एवं पर्यटन स्थलों पर शिड्यूल(schedule) बनाने के भी निर्देश दिए।

रोडवेज अध्यक्ष ने संचालन परिणामों, निरीक्षण परिणामों की तुलनात्मक समीक्षा की एवं आवंटित(allotted) लक्ष्यों से कम प्राप्ति के सम्बन्ध में मुख्य प्रबन्धकों से फीडबैक(Feedback) लिया। उन्होंने सभी क्षेत्रीय प्रबन्धकों को फील्ड में रहकर संचालन परिणामों, राजस्व अर्जन से जुड़े पहलुओं की नियमित निगरानी(monitoring) के निर्देश दिए। उन्होने मुख्य प्रबन्धकों को स्थानीय चुनौतियों के निराकरण के लिए जिला प्रशासन के साथ सामंजस्य(harmony) स्थापित कर कार्य करने के निर्देश दिए।

बैठक में रोडवेज की कार्यकारी निदेशक (प्रशासन) अनिता मीना, कार्यकारी निदेशक (यातायात) ज्योति चौहान, निगम के वित्तीय सलाहकार रामगोपाल पारीक सहित निगम अधिकारी मौजूद रहें।

Must Read: अचानक बदले गए एक आईएएस अधिकारी और 5 आईपीएस ऑफिसर

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :