मुख्य सचिव: सड़कों पर निर्बाध व सुचारू ट्रैफिक संचालन के लिए विशेष अभियान चलाएं

सड़कों पर निर्बाध व सुचारू ट्रैफिक संचालन के लिए विशेष अभियान चलाएं
मुख्य सचिव ने जयपुर शहर की ट्रैफिक व्यवस्था के सम्बन्ध में ली बैठक
Ad

Highlights

  • पैदल यात्रियों एवं साइकिल चालकों के लिए व्यवस्थित पथ निर्माण के लिए विस्तृत परियोजना बनाई जानी चाहिये।
  • ट्रैफिक पुलिस द्वारा वीआईपी व धार्मिक यात्राओं के दौरान गूगल मैप के सहयोग से दी जा रही रियल टाइम जानकारी के लिए उनकी सराहना की
  • यातायात नियमों के उल्लंघन पर नियमानुसार प्रभावी कार्यवाही करें तथा ई-चालान व्यवस्था को नई तकनीक के माध्यम से और मजबूत करें।

जयपुर | मुख्य सचिव  सुधांश पन्त ने कहा कि जयपुर शहर में ट्रैफिक व्यवस्था को सुगम और सुरक्षित बनाने के लिए सभी सम्बंधित विभागों को समन्वित होकर तेजी से कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि जयपुर की सड़कों पर निर्बाध व सुचारू ट्रैफिक संचालन के लिए विशेष अभियान चलाकर आमजन को जल्द राहत प्रदान करें। 

मंगलवार को शासन सचिवालय में जयपुर शहर की यातायात व्यवस्था के सम्बन्ध में आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शहर में अधिकाधिक नई सार्वजनिक पार्किंग के निर्माण के लिए कार्ययोजना बनाएं और मौजूदा सार्वजनिक पार्किंग स्थानों की पूरी उपयोगिता सुनिश्चित करें। उन्होंने मैरिज गार्डन, होटल्स, रेस्टोरेन्ट आदि की सुदृढ़ पार्किंग व्यवस्था हेतु आवश्यक कानूनी कार्रवाई अमल में लाने के लिए भी निर्देश दिये।

मुख्य सचिव ने कहा कि यातायात नियमों के उल्लंघन पर नियमानुसार प्रभावी कार्यवाही करें तथा ई-चालान व्यवस्था को नई तकनीक के माध्यम से और मजबूत करें। उन्होंने पुलिस, परिवहन, सूचना प्रौद्योगिकी विभाग और नगरीय निकायों को परियोजनाओं के निर्माण में आपसी सुझावों को सम्मिलित करते हुए समन्वय से कार्य करने के निर्देश दिए। 

पैदल यात्रियों एवं साइकिल चालकों के लिए पथ निर्माण


पन्त ने निर्देश दिए कि पैदल यात्रियों एवं साइकिल चालकों के लिए व्यवस्थित पथ निर्माण के लिए विस्तृत परियोजना बनाई जानी चाहिये। इससे आमजन इको फ्रेंडली यातायात के लिए प्रोत्साहित होंगे साथ ही यह पर्यावरण संरक्षण की दिशा में भी सकारात्मक प्रयास होगा। मुख्य सचिव ने कहा कि हमें भविष्य की जरूरतों के अनुसार परियोजनाओं पर कार्य करने की आवश्यकता है जिससे भावी पीढ़ी को एक सुनियोजित स्मार्ट शहर में रहने का अवसर मिले।  
    
मुख्य सचिव ने ट्रैफिक पुलिस द्वारा वीआईपी व धार्मिक यात्राओं के दौरान गूगल मैप के सहयोग से दी जा रही रियल टाइम जानकारी के लिए उनकी सराहना की। उन्होंने कहा कि यातायात व्यवस्था समाज के हर तबके को प्रभावित करती है इसलिए इसमें सुधार के लिए नए नियमों और आधुनिक तकनीक की आवश्यकता है।

बैठक में सड़कों पर अतिक्रमण, नए ब्रिज और अंडरपास निर्माण, ई-रिक्शा पंजीकरण, पब्लिक ट्रांसपोर्ट-सिटी बसें, बॉटल नैक स्थानों, बस टर्मिनल के निर्माण, नए ट्रैफिक मोनिटरिंग कैमरा, पुराने वाहनों का निस्तारण, स्ट्रीट लाइट्स आदि विषयों पर विस्तृत चर्चा की गई।

पुलिस महानिदेशक  उत्कल रंजन साहू, अतिरिक्त मुख्य सचिव परिवहन श्रीमती श्रेया गुहा, अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह  आनंद कुमार, सम्बंधित विभागों के प्रमुख शासन सचिव, शासन सचिव, जयपुर पुलिस आयुक्त, नगर निगम ग्रेटर- हेरिटेज, जयपुर विकास प्राधिकरण आदि विभागों के अधिकारी बैठक में उपस्थित रहे।  

Must Read: बहन-बहनोई का अपहरण कर ले गया ’भाई’, तीसरी आंख ने देख ली सारी करतूत

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :