जलदाय विभाग कराएगा अमृत-अमृत के काम : विधानसभा अध्यक्ष वासुदेव देवनानी के निर्देशों के बाद हुआ बदलाव

विधानसभा अध्यक्ष  वासुदेव देवनानी  के निर्देशों के बाद हुआ बदलाव
हवन यज्ञ में 101 जोड़ों ने आहुतियाँ
Ad

Highlights

विधानसभा अध्यक्ष  वासुदेव देवनानी के निर्देशों के बाद योजना में दो बड़े बदलाव हुए हैं। योजना के तहत अब आरयूआईडीपी के स्‍थान पर जलदाय विभाग ही अमृत-2 योजना की कार्यकारी एजेंसी होगी। इसके साथ ही योजना के तहत डीपीआर पुनः तैयार होगी। इसमें शहर के सभी हिस्सों तक पर्याप्त जलापूर्ति सुनिश्चित की जाएगी

 जयपुर । अजमेर शहर की पेयजल आपूर्ति के लिए वरदान मानी जाने वाली अमृत-2 योजना के प्रस्ताव नए सिरे से तैयार किए जा रहे हैं। लगभग 186 करोड़ रूपये की योजना से शहर में अंतिम छोर तक पूरे प्रेशर से जलापूर्ति सुनिश्चित होगी। योजना का काम अब आरयूआईडीपी के स्‍थान पर जलदाय विभाग कराएगा।

water supply department

विधानसभा अध्यक्ष  वासुदेव देवनानी के निर्देशों के बाद योजना में दो बड़े बदलाव हुए हैं। योजना के तहत अब आरयूआईडीपी के स्‍थान पर जलदाय विभाग ही अमृत-2 योजना की कार्यकारी एजेंसी होगी। इसके साथ ही योजना के तहत डीपीआर पुनः तैयार होगी। इसमें शहर के सभी हिस्सों तक पर्याप्त जलापूर्ति सुनिश्चित की जाएगी।

विधानसभा अध्यक्ष  वासुदेव देवनानी ने गुरूवार को जलदाय विभाग एवं डीपीआर तैयार करने वाली फर्म के साथ बैठक कर प्रस्तावों पर चर्चा की। उन्होंने निर्देश दिए कि शहर में सभी जगह पूरे प्रेशर के साथ नियमित जलापूर्ति सुनिश्चित करने के लिए योजना का खाका तैयार किया जाए।

अमृत दो योजना में इस तरह संसाधनों का निर्माण एवं वर्गीकरण किया जाएगा कि अंतिम छोर तक पानी पहुंच सके। योजना के तहत भूतल एवं उच्च जलाशय की जल आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए प्रस्‍ताव तैयार किए जाएंगे। नई पाइप लाइन भी पूरे नियमों और उचित ढाल के अनुरूप डाली जाएगी।

देवनानी ने बैठक में पेयजल आपूर्ति में तत्काल सुधार एवं दीर्घकालिक प्रबंधन को लेकर अधिकारियों से चर्चा की।  देवनानी ने फॉयसागर झील से शहर में होने वाली जलापूर्ति की जानकारी भी ली। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया की पेयजल आपूर्ति का खाका इस तरह तैयार किया जाए कि प्रत्येक क्षेत्र को पर्याप्त मात्रा में पानी मिल सके। अधिकारियों ने बताया कि फॉयसागर से पानी लिया जाएगा। इसे समान रूप से वितरित करने की व्यवस्था की जाएगी। योजना तैयार कर ली गई है।

विधानसभा अध्यक्ष ने अधिकारियों से कहा कि जलापूर्ति में तत्काल सुधार के साथ ही भविष्य को देखते हुए भी योजना तैयार की जाए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि शहर में लीकेज को तुरन्त सुधारा जाए एवं जलापूर्ति के समय सभी स्तर के अधिकारी स्वयं पेट्रोलिंग करें, ताकि यह पता लगे कि लीकेज कहा है। लीकेज का पता लगते ही उसे तुरन्त सुधार लिया जाए। अधिकारी शहर के अंतिम छोर पर भी जलापूर्ति के समय जाएं और देखे कि पानी का प्रेशर कितना आ रहा है।

 देवनानी ने निर्देश दिए कि ग्राम लोहागल व माकड़वाली सहित विधानसभा क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रों में लम्बे अंतराल से पेयजल आपूर्ति हो रही है। साथ ही इन क्षेत्रों में जरूरी इन्फ्रास्ट्रक्चर तुरन्त तैयार कर पेयजल की आपूर्ति करवायी जाए।

अवैध कनेक्शनों की जांच कर उन्हें कटवाया जाये, ताकि सभी को समानरूप से पेयजल मिल सके। अवैध बूस्टरों के खिलाफ भी कार्यवाही की जाए। बैठक में जलदाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य अभियंता एवं अधीक्षण अभियंता सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

 

राजगढ धाम में प्राण प्रतिष्‍ठा, 101 जोड़ो ने दी हवन यज्ञ में आहुति -

 मसाणिया भैरव धाम राजगढ़ में प्राण प्रतिष्‍ठा कार्यक्रम मनाया गया। ग्राम राजगढ़ में गुरूवार को वैदिक मंत्रोच्चार के साथ हवन यज्ञ भी करवाया गया। हवन यज्ञ में 101 जोड़ों ने आहुतियाँ दी। बाबा भैरव, सन्त शिरोमणी सेनजी, माँ दुर्गा, हनुमान जी, बाबा रामदेव और शिव परिवार की मूर्ति की प्राण प्रतिष्‍ठा की गई। प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम राजस्‍थान विधानसभा अध्यक्ष  वासुदेव देवनानी के सानिध्य में सम्पन्न हुआ।  देवनानी ने मंदिर के शिखर पर ध्वज एवं कलश चढ़ाया। 

Must Read: राजस्थान प्रीमियर लीग में जैकलीन फर्नांडीज की परफॉर्मेंस का तड़का

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :