मतगणना: राजस्थान की 25 सीटों पर रिजल्ट कल

राजस्थान की 25 सीटों पर रिजल्ट कल
मतगणना परिणाम
Ad

Highlights

 4 सीटों पर दो-दो काउंटिंग सेंटर

राज्य चुनाव आयोग की ओर से काउंटिंग को लेकर भी सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

जयपुर | राजस्थान की 25 सीटों का परिणाम (Result) मंगलवार को आ जाएगा। इसको लेकर तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। वोटों की गिनती 4 जून मंगलवार सुबह 8 बजे से शुरू होगी। राज्य चुनाव आयोग की ओर से गिनती (counting) को लेकर भी सुरक्षा के सख़्त इंतजाम किए गए हैं।

प्रदेश में 29 मतगणना केंद्र (counting center) बनाए गए हैं। 8 बजे बाद से रूझान आने शुरू हो जाएंगे। दोपहर 12 बजे तक सबसे पहले टोंक-सवाई माधोपुर सीट का परिणाम (Result) आने की संभावना है। सबसे बाद में राजसमंद सीट का परिणाम आ सकता है।

दो-दो मतगणना केंद्र 4 सीटों पर

निर्वाचन आयोग ने 25 लोकसभा क्षेत्रों के लिए गिनती (counting) की तैयारी कर ली है। इसमें जोधपुर, नागौर, करौली- धौलपुर और गंगानगर लोकसभा सीटों के लिए दो-दो काउंटिंग सेंटर बनाए गए हैं। इन सभी मतगणना केंद्रों पर पानी से लेकर कूलर आदि की व्यवस्था होगी। इसके अलावा यहां मेडिकल टीम, एम्बुलेंस के साथ एक्स्ट्रा टावर (Extra tower) भी लगाए गए हैं।

सबसे कम राउंड टोंक-सवाई माधोपुर में 

लोकसभावार स्थिति देखें तो सबसे पहले परिणाम (Result) टोंक-सवाई माधोपुर लोकसभा सीट पर आ सकता है। यहां अधिकतम 20 राउंड में काउंटिंग पूरी हो जाएगी। यहां मौजूद आठ विधानसभा क्षेत्र में मालपुरा और निवाई ऐसी सीटें है, जहां 20-20 राउंड में काउंटिंग पूरी होगी। शेष विधानसभा में 18 ओर 19 राउंड में काउंटिंग पूरी होगी। यहां हर विधानसभा में 14-14 टेबल लगाई गई है।

राजसमंद लोकसभा सीट पर सर्वाधिक 28 राउंड में काउंटिंग पूरी होगी। हर विधानसभा में टेबल की संख्या कम से कम 10 और अधिकतम 12 लगाई है। इसके कारण यहां काउंटिंग न्यूनतम 24 और अधिकतम 28 राउंड में पूरी होगी।

काउंटिंग के लिए प्रदेश में 1200 एआरओ (ARO) नियुक्त

मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि ईवीएम (EVM) की मतगणना टेबल पर काउंटिंग सुपरवाइजर, काउंटिंग असिस्टेंट, काउंटिंग स्टाफ और एक माइक्रो ऑब्जर्वर रहेंगे। इसी प्रकार डाक मतपत्र (postal ballot) की गणना टेबल पर एक सहायक रिटर्निंग अधिकारी, एक काउंटिंग सुपरवाइजर, दो काउंटिंग असिस्टेंट तथा एक माइक्रो ऑब्जर्वर मौजूद रहेंगे।

मतगणना टेबल (counting table) पर अभ्यर्थी के काउंटिंग एजेंट भी रहेंगे। मतगणना टेबल के लिए करीब 3,550 माइक्रो ऑब्जर्वर और 1,200 से अधिक सहायक रिटर्निंग अधिकारी (ARO) नियुक्त किए गए हैं। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा कुल 56 मतगणना पर्यवेक्षक (counting supervisor) नियुक्त किए गए हैं।

थ्री लेयर में होगी सिक्योरिटी

काउंटिंग को लेकर प्रदेश के सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों और एसपी (SP) को सिक्योरिटी और सुरक्षा इंतजाम की भी तैयारी पूरी हो चुकी है। हर मतगणना स्थल पर त्रिस्तरीय सुरक्षा (three layer security) होगी।

पहली लेयर काउंटिंग एरिया के 100 मीटर ​एरिया में होगी। दूसरी लेयर काउंटिंग वाली जगह के गेट के पास होगी और तीसरी लेयर काउंटिंग हॉल के दरवाजे पर रहेगा। यहां पर आर्म फोर्स (arm force) और सीआरपीएफ (CRPF) के जवान तैनात रहेंगे।

360 डिग्री वीडियोग्राफी होगी 

सभी राउंड की सीसीटीवी (CCTV) और वीडियोग्राफी से निगरानी रखी जाएगी। स्ट्रॉन्ग रूम से लेकर काउंटिंग हॉल तक आने वाली वीवीपैट मशीन और दूसरे सभी दस्तावेज़ (document) की वीडियोग्राफी करवाई जाएगी। इसके अलावा काउंटिंग के दौरन भी 360 डिग्री सीसीटीवी (CCTV) और कैमरा से रिकॉर्डिंग होगी।

Must Read: 'मुख्यमंत्री का दुष्कर्म आरोपी को बचाने का क्या है राज, क्या उससे रिश्ता है खास'

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :