Rajasthan Vidhansabha election 2023: बांदीकुई विधानसभा का इतिहास, कब कौन रहा विधायक, किसका पलड़ा रहा भारी और इस सीट का राजनीतिक महत्व

बांदीकुई विधानसभा का इतिहास, कब कौन रहा विधायक, किसका पलड़ा रहा भारी और इस सीट का राजनीतिक महत्व
Bandikui legislative assembly
Ad

Highlights

बांदीकुई विधानसभा क्षेत्र राजस्थान में दौसा जिले में स्थित विधान सभा क्षेत्र है। यह क्षेत्र दौसा लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र के अन्तर्गत आता है।

चुनाव आयोग के 2023 के डेटा के मुताबिक बांदीकुई में कुल मतदाता 216196 हैं। 114327 पुरुष मतदाता और 101869 महिला मतदाता। 

Rajasthan Vidhansabha election 2023 / Bandikui legislative assembly

बांदीकुई विधानसभा क्षेत्र राजस्थान में दौसा जिले में स्थित विधान सभा क्षेत्र है। यह क्षेत्र दौसा लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र के अन्तर्गत आता है। चुनाव आयोग के 2023 के डेटा के मुताबिक बांदीकुई में कुल मतदाता 216196 हैं। 114327 पुरुष मतदाता और 101869 महिला मतदाता। 

District And Assembly Constituency Wise NO. of Electors as on 05.01.2023

विशम्भर नाथ जोशी पहली, दूसरी, चौथी और पांचवी विधानसभा के सदस्य रहे। यूं कहें तीसरी विधानसभा को छोड़कर लगातार 1 से लेकर 5 वीं विधानसभा में कांग्रेस पार्टी की ओर से विधायक चुने गए।

5 सितंबर 1967 से 9 जुलाई 1971 तक राजस्थान सरकार में स्वतंत्र प्रभार के राज्य मंत्री रहे। इस दौरान सांख्यिकी विभाग के राज्य मंत्री के पद पर रहे। 

5 सितंबर 1967 से 22 जून 1968 तक राजस्थान सरकार में वित्त विभाग के राज्य मंत्री रहे। 

विशम्भर नाथ जोशी ने पहली विधानसभा के आम चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा इस चुनाव में इनके प्रतिद्वंदी थे बालाबक्स।

बावाबक्स इस चुनाव में 4608 वोटों से हारे थे। इस चुनाव में बालाबक्स को 3771 वोट मिले वहीं विशम्भर नाथ जोशी को मिले थे 8379 वोट।

दूसरी विधानसभा में विशम्भर नाथ जोशी के प्रतिद्वंदी बालिया थे। इस दौरान जोशी ने 3172 वोटों के अंतर से जीत दर्ज की। इस दौरान बालिया को 4515 वोट मिले तो विशम्भर नाथ जोशी को 7687 मत मिले थे।

चौथी विधानसभा में जोशी के प्रतिद्वंदी थे एम.बी.माथुर। इस चुनाव में माथुर को 16183 मत मिले तो जोशी को 21172 वोट मिले और जीत दर्ज हुई 4989 मतों से। 

पांचवी विधानसभा में विशम्भर नाथ जोशी का मुकाबला जगदीश से था। जगदीश को 11292 मत मिले और जोशी को 13408 मत मिले, इस चुनाव में विशम्भर नाथ जोशी ने 2116 वोटों से जीत दर्ज की।  

.............

मथुरेश बिहारी माथुर तीसरी विधानसभा के सदस्य थे मथुरेश स्वतंत्र पार्टी से जीते थे इनके प्रतिद्वंदी विशम्भर नाथ जोशी रहे। जोशी को इस चुनाव में 11734 मत मिले वहीं माथुर को 18185 मत मिले। इस चुनाव में विशम्भर नाथ जोशी की 6451 मतों से हार हुई थी। 

विजय सिंह नंदेरा बांदीकुई से छठी विधानसभा सदस्य 

विजयसिंह नदेरा छठी विधानसभा के सदस्य और बांदीकुई से जनता पार्टी से विधायक चुने गए। इस चुनाव में विशम्भर नाथ जोशी को 9302 मतों से हार हुई थी। जोशी को 11743 वोट मिले वहीं विजय सिंह नदेरा को 21045 वोट मिले। 

नाथू सिंह गुर्जर 7वीं विधानसभा सदस्य बांदीकुई से

नाथू सिंह गुर्जर दौसा (सामान्य) से इण्डियन नेशनल लोकदल से आम चुनाव में लोकसभा के लिए चुने गए। इस चुनाव में इनके प्रतिद्वंदी नवलकिशोर शर्मा थे। शर्मा को 72942 वोट मिले वहीं नाथू सिंह गुर्जर को 236345 मत मिले।

इस चुनाव में नाथू सिंह ने 163403 मतों से जीत दर्ज की।  (सदस्य, छठी लोक सभा) 

नौवीं लोक सभा के सदस्य- 

नौवीं लोकसभा में नाथू सिंह गुर्जर भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर दौसा सामान्य से लोकसभा का चुनाव जीते थे। इस बार भी नवल किशोर शर्मा इनके प्रतिद्वंदी थे। 

लोकसभा चुनाव में नवल किशोर को 213819 मत मिले तो नाथू सिंह को 330749 मत मिले । नाथू सिंह गुर्जर ने 116930 मतों से यह चुनाव जीता था। 

विधानसभा-

7वी विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर बांदीकुई से विधानसभा चुनाव लड़े। इस चुनाव में इनके प्रतिद्वंदी थे बेनी प्रसाद। बेनी प्रसाद को 13425 वोट मिले और नाथु सिंह गुर्जर को 17155। 

नाथु सिंह गुर्जर को इस चुनाव में 3730 मत से जीते थे।

आठवीं विधानसभा में नाथू सिंह भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर टोंक के टोडारायसिंह से विधायक चुने गए। इस चुनाव में नाथू सिंह के प्रतिद्वंदी थे चतुर्भुज। चतुर्भुज को 22577 वोट मिले, वहीं नाथू सिंह को 33201 मत मिले।

नाथू सिंह गुर्जर ने इस विधानसभा चुनाव में 10624 मतों से जीत दर्ज की थी। 

10वीं विधानसभा  में भी नाथु सिंह ने इसी विधानसभा से चुनाव लड़ा और 6662 मतों से जीत दर्ज की । इस चुनाव में नाथु सिंह के प्रतिद्वंदी थे घासीलाल । घासीलाल को 33552 वोट मिले थे वहीं नाथू सिंह को 40214 वोट मिले।

12वीं विधानसभा में भी नाथु सिंह गुर्जर टोंक जिले की टोडारायसिंह विधानसभा से चुनाव लड़े और जीते।

इस चुनाव में नाथु सिंह के प्रतिद्ंवदी थे डॉ.चन्द्रभान। चंद्रभान को इस चुनाव में 47397 मत मिले जबकि नाथु सिंह को 53661 मत मिले थे। इस विधानसभा चुनाव में नाथु सिंह ने 6264 मतों से जीत दर्ज की।

चन्द्रशेखर शर्मा बांदीकुई से आठवीं विधानसभा के सदस्य चुने गए। 

चन्द्रशेखर शर्मा बांदीकुई से कांग्रेस के टिकट पर विधायिकी का चुनाव लड़े इस चुनाव में सुशीर कुमार उनके प्रतिद्वंदी थे। शर्मा ने सुशीर कुमार को 1397 मतों से शिकस्त दी।

चंद्रशेखर शर्मा को इस चुनाव में 21088 मत मिले वहीं सुशीर कुमार को 19691 मत मिले। 

12/06/1989 - 04/12/1989 राज्य मंत्री, आवासन विभाग, राजस्थान सरकार
12/06/1989 - 04/12/1989 राज्य मंत्री, नगर आयोजना विभाग, राजस्थान सरकार
12/06/1989 - 04/12/1989 राज्य मंत्री, नगरीय विकास विभाग, राजस्थान सरकार
12/06/1989 - 04/12/1989  राज्य मंत्री, स्वायत्त शासन विभाग, राजस्थान सरकार

नौवीं राजस्थान  विधानसभा सदस्य रामकिशोर सैनी (1990-1992) और 13वीं राजस्थान विधानसभा सदस्य (2008-13)

9वीं विधानसभा में जयपुर जिला के बांदीकुई विधानसभा से भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर बांदीकुई से चुनाव लड़ा। इस चुनाव में रामकिशोर सैनी के निकटतम प्रतिद्वंदी थे भैरूं सिंह गुर्जर। इस चुनाव में भैरूं सिंह गुर्जर को 22490 मत मिले वहीं रामकिशोर सैनी को 27119 मत मिले। इस दौरान रामकिशोर सैनी ने 4629 मतों से जीत दर्ज की। 

रामकिशोर सैनी 2011 से 2013 तक राजस्थान सरकार में देवस्थान विभाग के राज्य मंत्री रहे। 

(10वीं एवं 11वीं विधानसभा सदस्य) 

शैलेन्द्र जोशी (1993 से 2003 तक) दसवीं व ग्यारहवीं राजस्थान विधानसभा के सदस्य 

15 मई 2002 से 4 दिसंबर 2003 तक राजस्थान सरकार में निर्वाचन विभाग के राज्य मंत्री रहे। इसी दौरान राजस्थान सरकार में विधि एवं न्याय विभाग के राज्य मंत्री और संसदीय कार्य मामलात विभाग के राज्य मंत्री भी रहे।

शैलेन्द्र जोशी ने 10वीं विधानसभा में दौसा जिले की बांदीकुई विधानसभा से इण्डियन नेशनल कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा, इस चुनाव में इनके निकटतम प्रतिद्वंदि थे रामकिशोर सैनी। राम किशोर सैनी को 25025 मत मिले

वहीं जोशी को 27523 मत मिले और जीत दर्ज हुई 2498 मतों से।

वहीं ग्यारहवी विधानसभा में शैलेन्द्र जोशी ने 6210 मतों से जीत दर्ज की। इस आम चुनाव में रामकिशोर सैनी को 26912 मत मिलें जबकि शैलेन्द्र जोशी को 33122 मत मिले।

दौसा जिले से  बारहवीं, तेरहवीं व पंद्रहवीं राजस्थान विधानसभा के सदस्य 2003 से 2023

2003 से 2008 तक दौसा जिले की बांदीकुई विधानसभा से विधायक रहे और 2008 से 2023 (वर्तमान) में दौसा से विधायक हैं।

वर्तमान में राजस्थान सरकार में नागरिक उडड्यन विभाग और पर्यटन विभाग के राज्य मंत्री हैं। 2009 से 2011 तक राजस्थान सरकार में सैनिक कल्याण विभाग और राजस्व विभाग के राज्य मंत्री भी रहे।

मुरारी लाल मीणा ने 12वीं विधानसभा के आम चुनावों में बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर दौसा जिले की बांदीकुई विधानसभा से चुनाव लड़ा और अपने निकटतम प्रतिद्वंदी मोहनलाल को 29951 वोटों 

के भारी मतों से शिकस्त दी। इस चुनाव में मुरारी लाल मीणा को 67464 वोट मिले जबकि मोहन लाल को 37513 ही मत मिले। 

13वीं (तेरहवीं) विधानसभा में मुरारी लाल मीणा ने जनरल सीट पर दौसा जिले से बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा और इस चुनाव में उनके निकटतम प्रतिद्वंदी

रामावतार चौधरी को 1102 मतों से शिकस्त दी। रामावतार चौधरी को इस चुनाव में 42285 मत मिले वहीं मुरारी लाल मीणा को 43387 मत मिले । इसके बाद 4 अप्रैल 2009 को मुरारी लाल मीणा बहुजन समाज पार्टी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए।

इसके बाद मीणा ने 15वीं विधानसभा में दौसा जिले से ही कांग्रेस के टिकट पर विधायिकी का चुनाव लड़ा और 50948 मतों से निकटतम प्रतिद्वंदी शंकरलाल शर्मा को हराकर जीत दर्ज की।

अलका सिंह गुर्जर दौसा जिले की बांदीकुई विधानसभा से विधायक और चौदहवीं राजस्थान विधानसभा की सदस्य

अलका सिंह गुर्जर ने 14वीं विधानसभा के लिए आम चुनावों में बीजेपी के टिकट पर दौसा जिले की बांदीकुई विधानसभा से चुनाव लड़ा बांदीकुई से 2 बार के कांग्रेस विधायक (10वीं व 11वीं विधानसभा) शैलेन्द्र जोशी को 

5777 मतों से शिकस्त दी। इस चुनाव में अलका सिंह को 41136 मत मिले जबकि शैलेन्द्र जोशी को 35359 मत मिले। 

15वीं (पंद्रहवी राजस्थान विधानसभा के सदस्य) (2018 से 2023) वर्तमान

गजराज खटाणा ने 15वीं विधानसभा के आम चुनावों में दौसा जिले की बांदीकुई विधानसभा से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा और अपने निकटतम प्रतिद्वंदी रामकिशोर सैनी को 4764 मतों से शिकस्त दी।

इस चुनाव में रामकिशोर सैनी को 51669 मत मिले जबकि गजराज खटाणा को 56433 मत मिले। 

ये भी पढ़ें-  Rajasthan Vidhansabha election 2023: आदिवासी बाहुल्य राजगढ़ लक्ष्मणगढ़ विधानसभा सीट पर किसका पलड़ा रहा भारी, किसने किया लंबे समय तक राज 

Must Read: हिंडोली विधानसभा के चुनाव में सचिन पायलट ने दिया था पहला भाषण

पढें विधान सभा चुनाव 2023 खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :