BIKANER: 10वीं के परीक्षा परिणाम में सेकंड डिवीज़न आने से 15 वर्षीय वाहिद ने नहर में कूद कर जान दे दी

10वीं के परीक्षा परिणाम में सेकंड डिवीज़न आने से 15 वर्षीय वाहिद ने नहर में कूद कर जान दे दी
15 साल के वाहिद खान ने इंदिरा गांधी (indira Gandhi) नहर में कूदकर अपनी जान दे दी।
Ad

Highlights

  • माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने बुधवार को 10वीं कक्षा का रिजल्ट घोषित किया था। रिजल्ट आने के बाद से ही वाहिद खान पुत्र हनीफ खान शेख मायूस था। उसके 57 फीसदी अंक आए थे। वाहिद को ये मार्क्स कम लग रहे थे। इस कारण वो बुधवार को ही गायब हो गया था।
  • जब वह घर नहीं आया तो परिजनों से उसे ढूंढना शुरू किया। इसी दौरान गुरुवार को शाम को इंदिरा गांधी नहर के मलकीसर पंपिंग स्टेशन पर वाहिद की चप्पल मिली।
बीकानेर |  बड़ी खबर सामने आ रही है बीकानेर के महाजन थाना इलाके से जहा 10वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम में सेकेंड डिवीजन आने पर एक छात्र निराश होकर सुसाइड कर लिया। 15 साल के वाहिद खान ने इंदिरा गांधी (indira Gandhi) नहर में कूदकर अपनी जान दे दी। 
 
रिजल्ट आने के बाद हो गया था गायब
 
दरअसल, माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने बुधवार को 10वीं कक्षा का रिजल्ट घोषित किया था। रिजल्ट आने के बाद से ही वाहिद खान (vahid khan) पुत्र हनीफ खान शेख (hanif khan shaikh) मायूस था। उसके 57 फीसदी अंक आए थे। वाहिद को ये मार्क्स कम लग रहे थे। इस कारण वो बुधवार को ही गायब हो गया था।
 
मलकीसर पम्पिंग स्टेशन पर मिली चप्पल
 
बुधवार को जब वह घर नहीं आया तो परिजनों से उसे ढूंढना शुरू किया। इसी दौरान गुरुवार को शाम को इंदिरा गांधी नहर के मलकीसर पंपिंग स्टेशन (malakeesar pamping station) पर वाहिद की चप्पल मिली। परिजनों ने पुलिस को इस घटना के बारे में जानकारी दी।
 
शव बहता हुआ 5KM दूर चला गया

15 साल के वाहिद खान ने इंदिरा गांधी (indira Gandhi) नहर में कूदकर अपनी जान दे दी।

पुलिस ने वाहिद को ढूंढना शुरू किया तो काफी देर की मशक्कत के बाद गुरुवार रात 8 बजे नहर से वाहिद का शव मिला। शव बहता हुआ करीब 5 km दूर चला गया था। मोखमपुरा (mokhampura) गांव के पास नहर से वाहिद की बॉडी मिली।
 
घर पर किसी से बोलकर नहीं गया
 
घटना के बाद से वाहिद के घर में शौक छाया हुआ है। वाहिद जब घर से निकता तो किसी को भी बताकर नहीं गया था। उसकी तलाश करने पर ही आशंका हुई कि नंबर कम होने के कारण वो कहीं निकल गया। अंत में उसकी चप्पल मिलते ही शक हो गया कि वो नहर में कूद गया।
 
आज आएंगे पिता
 
वाहिद खान के पिता हनीफ खान शेख सऊदी अरब (Saudi Arab)  में रहते हैं और वहां खेती करते हैं। उन्हें बेटे की मौत की सूचना दी गई। वे शुक्रवार शाम अपने गांव पहुंचेंगे। वाहिद का एक छोटा भाई और एक बड़ा भाई है। बड़ा भाई करीब 17 साल का है जो मा​नसिक रूप से कमजोर है। छोटा भाई 12 साल का है और कक्षा 6 में पढ़ता है।

Must Read: 25 अगस्त तक उम्मीदवारों की करने जा रही घोषणा, पहले देखी जाएगी परफोर्मेंस, नहीं उतरे खरे तो...

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :