हनुमान बेनीवाल ने कर दी घोषणा: चुनावी सीजन में गहलोत सरकार के लिए मुसीबत खड़ी कर रहे बेनीवाल

चुनावी सीजन में गहलोत सरकार के लिए मुसीबत खड़ी कर रहे बेनीवाल
Hanuman Beniwal
Ad

Highlights

बेनीवाल ने आगामी 14 सितम्बर को जयपुर के विद्याधर नगर स्टेडियम में होने वाले रैली में अधिक से अधिक संख्या में छात्र-छात्राओं को शामिल होने का आह्वान किया है। 

नागौर | राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के प्रमुख और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल विधानसभा चुनावों की तैयारी व्यस्त प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार के सामने बड़ी मुसीबत खड़ी करते नजर आ रहे हैं। 

राजस्थान में छात्रसंघ चुनाव 2023 को करवाने की मांग पर अड़े नागौर सांसद ने ऐलान करते हुए कहा कि वे प्रदेश सरकार को झुकाएंगे। 

सरकार नहीं मानती है तो वे राजधानी जयपुर में एक लाख युवाओं के साथ प्रदर्शन भी करेंगे।

गौरतलब है कि नागौर सांसद बेनीवाल गहलोत सरकार द्वारा इस बार छात्रसंघ चुनाव पर लगाई गई रोक के खिलाफ छात्रों के साथ खड़े हैं। 

जिसके चलते उन्होंने छात्रों के हितों के लिए बीकानेर के डूंगर कॉलेज के खेल मैदान तथा सीकर की कृषि उपज मंडी में छात्र अधिकार युवा हुंकार रैलियों को संबोधित किया। 

इस दौरान सांसद बेनीवाल ने प्रदेश में छात्रसंघ चुनाव करवाने की पुरजोर वकालत करते हुए कांग्रेस के साथ भाजपा पर भी जमकर निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि भाजपा भी इस निर्णय में गहलोत सरकार के साथ मिली हुई है। बेनीवाल ने अपने संबोधन में पेपर लीक, बजरी माफिया, भ्रष्टचार और अपराध से जुड़े कई मामलों का जिक्र किया और सरकार की कानून व्यवस्था पर भी सवालिया निशान दागे।

14 सितम्बर को जयपुर शामिल होने का आह्वान

सभा में बेनीवाल ने आगामी 14 सितम्बर को जयपुर के विद्याधर नगर स्टेडियम में होने वाले रैली में अधिक से अधिक संख्या में छात्र-छात्राओं को शामिल होने का आह्वान किया है। 

सांसद का दावा है कि आजादी के बाद पहली बार 14 सितंबर को एक लाख से अधिक छात्र और छात्राएं अपने हक और अधिकार के लिए जयपुर में एकत्रित होंगे। 

छात्रसंघ चुनाव में थर्ड फ्रंट की दस्तक से घबराई गहलोत सरकार

बता दें कि सांसद बेनीवाल इससे पहले भी कह चुके हैं कि राजस्थान की गहलोत सरकार प्रदेश में बढ़ते तीसरे मोर्चे के प्रभाव, छात्रसंघ चुनावों में भी थर्ड फ्रंट की दस्तक से घबरा गई है। 

जिसके चलते इस प्रकार के गैर जिम्मेदाराना कदम उठाए जा रहे हैैं। अब अगर मुख्यमंत्री ने जल्द ही छात्रसंघ चुनाव को नहीं करवाने का अपना निर्णय नहीं बदला तो प्रदेशभर में बड़ा आंदोलन होगा।

Must Read: कई दिग्गज नेताओं के नाम शामिल, देखें पूरी लिस्ट

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :