तमिलनाडु:  पटाखा फैक्ट्री में भीषण विस्फोट में उड़ गए 10 लोगों के चिथड़े

 पटाखा फैक्ट्री में भीषण विस्फोट में उड़ गए 10 लोगों के चिथड़े
शिवकाशी के सेंगामालापट्टी गांव में पटाखा इकाई विस्फोट
Ad

Highlights

तमिलनाडु के दक्षिणी विरुधुनगर जिले के शिवकाशी के सेंगामालापट्टी गांव में पटाखा इकाई विस्फोट

 बचाव अभियान के बाद एक कर्मचारी के लापता होने की सूचना मिली

विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने पटाखा विस्फोट में हुई मौतों पर शोक व्यक्त किया

कोयंबटूर | तमिलनाडु के दक्षिणी(South) विरुधुनगर जिले के शिवकाशी के सेंगामालापट्टी गांव में पटाखा इकाई विस्फोट में मरने वालों की संख्या बढ़कर 10 हो गई। मृतकों में 6 महिलाएं शामिल हैं।पुलिस सूत्रों ने बताया कि विस्फोट में घायल हुए और झुलसे हुए 13 लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि घायलों में एक व्यक्ति की हालत बहुत गंभीर है। अधिकारी ने आगे कहा कि आग लगने के कारण का पता लगाया जा रहा है।
 
विस्फोट गुरुवार दोपहर को हुआ जब लगभग 100 कर्मचारी निजी पटाखा इकाई में फैंसी(fancy) पटाखे बनाने में लगे हुए थे। इस दुर्घटना में 6 श्रमिकों की मौके पर ही मौत हो गई, 3 अन्य की शिवकाशी सरकारी अस्पताल में मौत हो गई। विस्फोट के बाद बचाव अभियान के बाद एक कर्मचारी के लापता होने की सूचना मिली थी। देर रात उसके जले हुए अवशेष मलबे से बरामद किए गए, जिससे मरने वालों की संख्या 10 हो गई। इस बीच पुलिस ने पटाखा इकाई के मालिक और दो अन्य के खिलाफ 5 मामले दर्ज किए हैं।

विस्फोट के समय मौजूद थे 10 लोग

विरुधुनगर जिले के शिवकाशी के पास सेंगामालापट्टी में निजी पटाखा फैक्ट्री में जब यह विस्फोट हुआ तब करीबन 10 कर्मचारी काम कर रहे थे। शिवकाशी व आसपास के इलाकों के पटाखा इकाइयों से देश की खपत का 90 फीसदी पटाखा बनता है। इधर विरुधुनगर कलेक्टर जयसेलन ने मामले की पुष्टि करते हुए कहा कि जिले में शिवकाशी के पास एक पटाखा मैन्युफैक्चरिंग युनिट में विस्फोट होने से 8 लोगों की मौत हो गई।

CM ने जताया दुख

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, तमिलनाडु के राज्यपाल आर.एन.रवि, मुख्यमंत्री एम.के.स्टालिन और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के.अन्नामलाई, TNCC प्रमुख K.सेल्वापेरुन्थागई, TNCC नेता जी.के.वासन, PMK नेताओं सहित विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने पटाखा विस्फोट में हुई मौतों पर शोक व्यक्त किया। स्टालिन ने कहा, “मैंने अधिकारियों को घायलों के लिए उचित जीवनरक्षक उपचार सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।”

मुख्यमंत्री स्टालिन ने विस्फोट में 5 महिलाओं और 3 पुरुषों की मौत पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि घटना की जानकारी मिलते ही जिला कलेक्टर को तुरंत बचाव अभियान शुरू करने का निर्देश दिया गया है।

साथ ही राज्य सरकार (4 जून तक आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण) निर्वाचन आयोग से उचित सहमति प्राप्त करने के बाद प्रभावित परिवारों को राहत देगी। उन्होंने शोक संतप्त परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना और सहानुभूति व्यक्त की। 

Must Read: पिछले 24 घंटे में देशभर में 10 हजार पार नए मामले, 23 की मौत, राजस्थान में 400 पार मिले नए मरीज

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :