Hanumangarh Cricket Association: भादरा विधायक संजीव बेनीवाल के बेटे अर्जुन बेनीवाल बने हनुमानगढ़ जिला क्रिकेट एसोसिएशन के सेक्रेटरी,पूर्व सेक्रेटरी मनीष बोले यह असंवैधानिक है

भादरा विधायक संजीव बेनीवाल के बेटे अर्जुन बेनीवाल बने हनुमानगढ़ जिला क्रिकेट एसोसिएशन के सेक्रेटरी,पूर्व सेक्रेटरी मनीष बोले यह असंवैधानिक है
अर्जुन बेनीवाल बने हनुमानगढ़ जिला क्रिकेट एसोसिएशन के सेक्रेटरी
Ad

Highlights

  • बेनीवाल के निर्वाचन को हनुमानगढ़ के पूर्व सेक्रेटरी मनीष धारणिया (manish dharaniya) ने असंवैधानिक करार दिया है।
  • 28 मई के दिन ही हनुमानगढ़ क्रिकेट एसोसिएशन के चुनाव हो चुके हैं, जिसमें मैं सेक्रेटरी निर्वाचित हुआ हूं। फिलहाल यह मामला कोर्ट में विचाराधीन है। ऐसे में जल्दबाजी में अधिकारियों पर दबाव बनाकर चुनाव करना इन लोगों की इच्छा को दर्शाता है। इसके खिलाफ हम कोर्ट में लड़ाई लड़ेंगे।
हनुमानगढ़ | राजस्थान में भाजपा की सरकार बनने के बाद बीजेपी मंत्रियों और विधायकों के बेटों का क्रिकेट से लगाव हो गया है। मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर, मदन दिलावर और राजेंद्र राठौड़ के बाद अब बीजेपी विधायक संजीव बेनीवाल (sanjiv Beniwal) के बेटे अर्जुन बेनीवाल (Arjun Beniwal) की राजस्थान क्रिकेट की राजनीति में एंट्री हो गई है।
 
संजीव बेनीवाल के बेटे अर्जुन बेनीवाल को शनिवार को हनुमानगढ़ जिला क्रिकेट एसोसिएशन का निर्विरोध सेक्रेटरी चुना गया है। अर्जुन बेनीवाल के निर्वाचन को हनुमानगढ़ के पूर्व सेक्रेटरी मनीष धारणिया (manish dharaniya) ने असंवैधानिक करार दिया है।
 
मनीष धारणिया ने कहा कि अर्जुन बेनीवाल समेत उनकी पूरी कार्यकारिणी की नियुक्ति असंवैधानिक है। 28 मई के दिन ही हनुमानगढ़ क्रिकेट एसोसिएशन (Hanumangarh Cricket Association) के चुनाव हो चुके हैं, जिसमें मैं सेक्रेटरी निर्वाचित हुआ हूं। फिलहाल यह मामला कोर्ट में विचाराधीन है। ऐसे में जल्दबाजी में अधिकारियों पर दबाव बनाकर चुनाव करना इन लोगों की इच्छा को दर्शाता है। इसके खिलाफ हम कोर्ट में लड़ाई लड़ेंगे।
 
हनुमानगढ़ क्रिकेट एसोसिएशन के सेक्रेटरी बने अर्जुन बेनीवाल (Arjun Beniwal) ने कहा कि पूर्व सेक्रेटरी ने पिछले लंबे वक्त से हनुमानगढ़ क्रिकेट एसोसिएशन में घोटाले कर रखे थे। 2008 से वह कागजों में चुनाव करवाकर निर्वाचित हो जाते थे। 
 
साफ एवं सही तरीके से हनुमानगढ़ में क्रिकेट संघ के चुनाव हो गए, यह बात उनको हजम नहीं हो रही है, इसीलिए वह हमारे चुनाव को गलत करार दे रहे हैं। जबकि हकीकत में उन्होंने जिस तरह से कोर्ट के आदेश से पहले ही आनन-फानन में बिना देखने वाला चुनाव करवाए हैं, वह असंवैधानिक है। हम तो संवैधानिक तरीके से चुनाव करवाकर निर्वाचित हुए हैं।
 
अर्जुन ने कहा कि मेरा लक्ष्य हनुमानगढ़ क्रिकेट एसोसिएशन को हर सुविधा उपलब्ध कराना है, ताकि क्रिकेट और यहां के गांव-ढाणी में रहने वाले खिलाड़ियों को बेहतर से बेहतर सुविधा मिल सके। 
 
वहीं राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के चुनाव लड़ने के सवाल पर अर्जुन ने कहा- अगर मुझे मौका मिला तो सबसे चर्चा करने के बाद जरूर चुनाव लड़ूंगा।
 
राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन की एडहॉक कमेटी द्वारा हनुमानगढ़ इलेक्शन के लिए ऑब्जर्वर बनाए गए राजेंद्र सिंह (rajendra singh) ने कहा कि अर्जुन बेनीवाल का चुनाव पूरी तरह से संवैधानिक है। 
 
पूर्व सेक्रेटरी बेवजह विवाद पैदा करने के लिए गलत बयानबाजी कर रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारियों की देखरेख और तदर्थ समिति (Adhoc Committee) की निगरानी में ही हनुमानगढ़ क्रिकेट एसोसिएशन के चुनाव संपन्न हुए हैं। जिसमें अध्यक्ष, सचिव, उपाध्यक्ष समेत समेत 8 पदों पर निर्विरोध निर्वाचन हुआ है।
 
बता दें कि आरसीए में फिलहाल चूरू जिला क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष पद पर पूर्व नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ के बेटे पराक्रम सिंह (parakram singh) हैं। वहीं, नागौर जिला क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष पद पर चिकित्सा मंत्री गजेंद्र सिंह के बेटे धनंजय सिंह (dhannjay singh) लंबे समय से हैं। 
 
शिक्षा मंत्री मदन दिलावर के बेटे पवन दिलावर (pawan dilawar) बारां जिला क्रिकेट एसोसिएशन कोषाध्यक्ष बने हैं। इसी तरह मोती डूंगरी मंदिर महंत कैलाश शर्मा के बेटे अभिषेक शर्मा (abhishek sharma) भी डूंगरपुर जिला क्रिकेट एसोसिएशन से कोषाध्यक्ष बन राजस्थान क्रिकेट की सियासत में एंट्री कर चुके हैं। 
 
जबकि डूंगरपुर क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष गौरव वल्लभ और सचिव सुशील जैन भी बीजेपी का दामन थाम क्रिकेट की सियासत को रोचक बना चुके हैं।

Must Read: राजस्थान रोडवेज बस नहर में गिरी, कई लोग घायल

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :