लोकसभा चुनाव-2024: कांग्रेस का पलटवार अब डिबेट में प्रवक्ता और पैनलिस्ट भेजेंगे, एग्जिट पोल की डेबिट मे नहीं जाने का फैसला लिया था

कांग्रेस का पलटवार अब डिबेट में प्रवक्ता और पैनलिस्ट भेजेंगे, एग्जिट पोल की डेबिट मे नहीं जाने का फैसला लिया था
लोकसभा चुनाव-2024
Ad

Highlights

एग्जिट पोल से संबंधित भाजपा और उसके तंत्र को बेनकाब करना आवश्यक है। एग्जिट पोल की डिबेट में भाग लेने के पक्ष और विरोध के तमाम पहलुओं पर चर्चा के बाद सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया है कि इंडिया गठबंधन के तमाम सदस्य दल एग्जिट पोल की डिबेट में हिस्सा लेंगे।

जयपुर | कांग्रेस ने एग्जिट पोल पर होने वाली डिबेट‌ और चर्चाओं के बहिष्कार का फैसला पलट दिया। कांग्रेस ने इंडिया गठबंधन के सहयोगियों की बैठक में हुए फैसले के बाद बहिष्कार वापस लेने का फैसला किया गया। बैठक में हुए फैसले के बाद अब कांग्रेस एग्जिट पोल की टीवी डिबेट में प्रवक्ता और पैनलिस्ट भेजेगी।
 
दरअसल, कांग्रेस ने पहले आज से 3 जून तक किसी भी टीवी डिबेट में अपने प्रवक्ता और पैनलिस्ट नहीं भेजने का फैसला किया था। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा (govind singh dotasara) ने सभी नेताओं को आज परिपत्र जारी कर एग्जिट पोल की डिबेट‌ में नहीं जाने के निर्देश दिए थे।
 
कांग्रेस कम्युनिकेशन सेल के इंचार्ज और राष्ट्रीय महासचिव जयराम रमेश (jayram ramesh) ने 31मई को राष्ट्रीय स्तर पर एग्जिट पोल की डिबेट के बहिष्कार करने की घोषणा की थी। कांग्रेस हाईकमान के आदेशों के बाद सभी राज्यों को निर्देश जारी किए गए थे। 
 
केंद्रीय स्तर पर हुए फैसले के बाद अब कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने राजस्थान में भी इसे लागू करने का फैसला लिया था।
 
कांग्रेस के एग्जिट पोल आने से पहले ही इनकी डिबेट में प्रवक्ता, पैनलिस्ट नहीं भेजने के फैसले को लेकर सियासी हलकों में कई तरह की चर्चा हो रही थी। इस मुद्दे पर बीजेपी को कांग्रेस पर निशाना साधने का मौका मिल गया था। 
 
एग्जिट पोल के नतीजों पर हर पार्टी सवाल उठाती रही है, अब तक जिस भी पार्टी के पक्ष में एग्जिट पोल आते हैं। वो इसका स्वागत करती रही है। एग्जिट पोल जिसके पक्ष में नहीं रहते, वे दल सवाल उठाते रहे हैं।
 
2019 के लोकसभा रिजल्ट के बाद लंबे समय तक किया था बहिष्कार
 
कांग्रेस ने 2019 के लोकसभा चुनावों के बाद छः महीने से ज्यादा समय तक टीवी डिबेट‌ का बहिष्कार किया था। कांग्रेस का आरोप था कि पार्टी के पक्ष को सही तरीके से नहीं दिखाया जाता।
 
कांग्रेस ने डिबेट‌ में लेवल प्लेइंग फील्ड उपलब्ध नहीं करवाने और पक्षपात के आरोप लगाए थे। लंबे समय तक प्रवक्ताओं और पैनलिस्ट को टीवी डिबेट‌ में नहीं भेजा था।
 
पवन खेड़ा ने ट्वीट (X) किया
 
पवन खेड़ा (pawan kheda) ने एक्स पर लिखा- इंडिया गठबंधन की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि एग्जिट पोल से संबंधित भाजपा और उसके तंत्र को बेनकाब करना आवश्यक है। एग्जिट पोल की डिबेट में भाग लेने के पक्ष और विरोध के तमाम पहलुओं पर चर्चा के बाद सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया है कि इंडिया गठबंधन के तमाम सदस्य दल एग्जिट पोल की डिबेट में हिस्सा लेंगे।

Must Read:  राजस्थान सीएम भजनलाल शर्मा 'मिशन दिल्ली' पर झोंक रहे ताकत

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :