Rajasthan: जलदाय विभाग में नवाचारों पर जोर- कॉन्ट्रेक्टर्स का रजिस्ट्रेशन होगा ऑनलाइन- रिजर्वायर्स सफाई एप से होगी मॉनिटर

जलदाय विभाग में नवाचारों पर जोर- कॉन्ट्रेक्टर्स का रजिस्ट्रेशन होगा ऑनलाइन- रिजर्वायर्स सफाई एप से होगी मॉनिटर
Ad

Highlights

विभाग में कॉन्ट्रेक्टर्स का रजिस्ट्रेशन, फर्म का नवीनीकरण आदि प्रक्रिया अब सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा विकसित पोर्टल के माध्यम से होगा। फिलहाल पीडब्लूडी में कॉन्ट्रेक्टर्स के रजिस्ट्रेशन, एम्पेनलमेंट सहित समस्त कार्य इसी ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से किए जा रहे हैं।

जयपुर | जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग में शासन सचिव डॉ. समित शर्मा के आने के बाद ऑनलाइन सिस्टम के अधिक प्रभावी उपयोग पर जोर दिया जा रहा है।

विभाग में कॉन्ट्रेक्टर्स का रजिस्ट्रेशन, फर्म का नवीनीकरण आदि प्रक्रिया अब सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा विकसित पोर्टल के माध्यम से होगा। फिलहाल पीडब्लूडी में कॉन्ट्रेक्टर्स के रजिस्ट्रेशन, एम्पेनलमेंट सहित समस्त कार्य इसी ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से किए जा रहे हैं।

पीएचईडी सचिव ने ऑनलाइन प्रक्रिया को बढ़ावा देने के लिए विभागीय अधिकारियों की एक बैठक ली जिसमें उन्होंने डिजिटल प्लेटफॉर्म के अधिक से अधिक उपयोग के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

डॉ. शर्मा ने जलधारा कमांड सेंटर की कार्य प्रणाली एवं स्काडा सिस्टम के बारे में विस्तृत जानकारी ली। उन्होंने बल्क वाटर ट्रांसमिशन सिस्टम की स्काडा द्वारा प्रभावी मॉनिटरिंग करने, वॉटर ऑडिटिंग कर छीजत कम करने के निर्देश दिए।

इसके लिए अधिकारियों की कमेटी भी गठित की गई है। मुख्य अभियंता (विशेष परियोजना) दिनेश गोयल इसके नॉडल ऑफिसर होंगे। यह कमेटी स्काडा सिस्टम को प्रभावी बनाने एवं डेटा शेयरिंग पर रिपोर्ट तैयार करेगी।

डॉ. शर्मा ने रिजर्वायर्स की सफाई मोबाइल एप के माध्यम से मॉनिटर करने एवं फरवरी माह से ही पायलट बेसिस पर इसकी शुरूआत जयपुर से करने के निर्देश दिए। मुख्य अभियंता (शहरी) के.डी. गुप्ता को इसका नोडल ऑफिसर बनाया गया है।

उन्होंने विभाग में डिजिटल लाइब्रेरी एवं डॉक्यूमेंटेशन स्थापित करने, मेटेरियल मेनेजमेंट मॉड्यूल को जेईएन स्टोर तक लागू करने तथा विधानसभा प्रश्नों के लिए एनआईसी द्वारा तैयार एप डीआरईएएमएस (ड्रीम्स) लागू करने एवं विभागीय अधिकारियों को इस संबंध में प्रशिक्षण देने के निर्देश दिए।

शासन सचिव, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी ने नए नल कनेक्शन आवेदन के सात दिन में जारी करने के लिए राजनीर पोर्टल को और अधिक प्रभावी बनाने एवं अन्य कार्यों को पोर्टल के माध्यम से करने के संबंध में अतिरिक्त निदेशक, सूचना प्रोद्योगिकी राजेश गुप्ता को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

Must Read: बीजेपी राजस्थान में सोशल इंजीनियरिंग की तैयारी में, कैलाश चौधरी और आचार्य देवव्रत के नाम पर चर्चा

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :