सिरोही में बगावती बिगुल: भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व जिलाध्यक्ष हेमंत पुरोहित ने निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया

भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व जिलाध्यक्ष हेमंत पुरोहित ने निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया
Hemant Purohit
Ad

Highlights

सिरोही से बड़ी खबर ये है यहां से भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व जिलाध्यक्ष हेमंत पुरोहित (Hemant Purohit) ने भी बगावत तेवर दिखाते हुए सिरोही विधानसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ने का फैसला कर लिया है।

सिरोही | राजस्थान में जैसे-जैसे भाजपा और कांग्रेस विधानसभा चुनाव के लिए अपने-अपने प्रत्याशियों के नाम घोषित कर रही हैं वैसे-वैसे बगावत का सिलसिला भी बढ़ता जा रहा है। 

टिकट नहीं मिलने की नाराजगी को लेकर दोनों ही पार्टियों के नेताओं का दल बदलू अभियान जारी है तो कई नेताओं ने निर्दलीय ही ताल ठोकना मुनासिफ समझा है।

अब सिरोही से बड़ी खबर ये है यहां से भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व जिलाध्यक्ष हेमंत पुरोहित (Hemant Purohit) ने भी बगावत तेवर दिखाते हुए सिरोही विधानसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ने का फैसला कर लिया है।

बता दें कि पाली-जालौर-सांचौर में पहले से ही कई सीटों पर टिकटों की लड़ाई और नेताओं के बगावती तेवर दिख रहे हैं।

ऐसे में अब भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व जिलाध्यक्ष हेमंत पुरोहित के भी निर्दलीय चुनाव लड़ने के ऐलान के साथ ही सिरोही सीट भी हॉट सीट बन गई है।

हेमंत पुरोहित ने गुरूवार को एक प्रेस कांफ्रेंस कर अपने सियासी इरादों को खुलकर मीड़िया के सामने रखा। 

इस दौरान उनके साथ भाजपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष अशोक पुरोहित और भाजपा के पार्षद सुरेश सगरवंशी प्रेस कान्फ्रेस में मौजूद रहे। 

पुरोहित ने भाजपा नेतृत्व पर गंभीर आरोप लगाते हुए यहां से निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया। 

उन्होंने कहा कि भाजपा ने सिरोही को नाथी का बाड़ा बना दिया। 

पुरोहित ने आरोप लगाया कि यहां का जिलाध्यक्ष उदयपुर जिले के निवासी को बना दिया तो किसान मोर्चा की कमान जालोर जिले के निवासी को सौंप दी। 

इसके अलावा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष हरियाणा से आईं और  अब विधायक के लिए प्रत्याशी भी पाली जिले से आयातित किया गया है। हम इसे स्वीकार नहीं करेंगे। 

अब हम स्थानीय के मुद्दे पर विधायक का चुनाव निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में लड़ेंगे। 

राजगढ़-लक्ष्मणगढ़ सीट पर भी बगावत

ऐसा ही हाल अलवर जिले की राजगढ़-लक्ष्मणगढ़ सीट का भी हो रहा है। 

यहां से कांग्रेस विधायक जौहरी लाल मीणा बागी हो गए हैं। उन्होंने कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने के कारण पार्टी के खिलाफ बगावत का बिगुल बजा दिया है और निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल करने जा रहे हैं। 

जौहरी लाल मीणा ने कहा है कि, मैं कांग्रेस पार्टी का सच्चा सिपाही रहा हूं और बार-बार कांग्रेस पार्टी ने मुझे धोखा देकर मेरा टिकट काटा है। 

Must Read: क्या अब असेट नहीं रहे पायलट, स्टार प्रचारकों की सूची से निकालकर सचिन साइडलाइन कर दिए गए हैं!

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :