परियोजना का लोकार्पण: अब लग्जरी फ्लैट्स में रहेंगे राजस्थान के विधायक, मुख्यमंत्री Ashok Gehlot ने कहा यह ऐतिहासिक, प्रतिपक्ष नेता राठौड़ ने भी तारीफ की

अब लग्जरी फ्लैट्स में रहेंगे राजस्थान के विधायक, मुख्यमंत्री Ashok Gehlot ने कहा यह ऐतिहासिक, प्रतिपक्ष नेता राठौड़ ने भी तारीफ की
ashok gehlot and another leader inaugurated MLA Flats in Jaipur
Ad

Highlights

विधायक आवास परियोजना का लोकार्पण पक्ष-विपक्ष का परस्पर सहयोग से कार्य करना एक स्वस्थ लोकतांत्रिक परम्पराः मुख्यमंत्री 

444 करोड़ रुपए की लागत से रिकॉर्ड समय में पूर्ण हुआ निर्माण

जयपुर | मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (cm ashok gehlot) ने कहा कि विजन 2030 के तहत राज्य को विकसित श्रेणी के राज्यों में लाना हमारा लक्ष्य है। राज्य में पक्ष-विपक्ष के जनप्रतिनिधियों के बीच बेहतरीन समन्वय की स्वस्थ परम्परा रही है।

मुख्यमंत्री Ashok gehlot ने कहा कि यह परियोजना राज्य सरकार की सुशासन पर केंद्रित सोच एवं प्रभावी क्रियान्वयन का परिणाम है। विधायक आवासों का रिकॉर्ड समय में गुणवत्तापूर्वक निर्माण इसी को रेखांकित करता है। 

अशोक गहलोत शनिवार को राजस्थान आवासन मण्डल द्वारा विधायक नगर (west) में निर्मित विधायक आवास परियोजना के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान मुख्यमंत्री ashok gehlot ने विधिवत रूप से परियोजना का उद्घाटन किया तथा लोकार्पण पट्टिका का अनावरण किया।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि वर्षों से लंबित विधायकों की आवास समस्या का समाधान करते हुए विधायक आवास परियोजना को मंजूरी दी गई। सभी दलों के सहयोग से यह परियोजना आज साकार हुई है। परियोजना में सम्पूर्ण फ्लैट्स पूर्ण सुविधाओं के साथ तैयार करवाये गये हैं। 444 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित इतने बड़े प्रोजेक्ट का रिकॉर्ड 23 माह में पूर्ण होना सराहनीय है। 

प्रदेश का हो रहा चहुंमुखी विकास-

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज राजस्थान में हर क्षेत्र में विकास हो रहा है। देश की प्रतिष्ठित संस्थाएं राजस्थान में खुल चुकी हैं। 

राजीव गांधी फिनटेक यूनिवर्सिटी, महात्मा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ गवर्नेन्स एंड सोशल साइंसेज mahatma gandhi institute of governance and social sciences जैसे उत्कृष्ट तकनीकी एवं अन्य संस्थान खोले जाने का निर्णय राज्य सरकार द्वारा लिया गया है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में राज्य मॉडल स्टेट बनकर उभरा है।

चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना, right to health जैसे फैसले राज्य सरकार द्वारा किए गए हैं।  गहलोत ने कहा कि 1.40 लाख किलोमीटर की सड़कों का निर्माण किया जा रहा है। मेट्रो प्रोजेक्ट (Metro Project) का लगातार विस्तार किया जा रहा है।

मेट्रो से जुड़े विभिन्न प्रोजेक्ट्स का शिलान्यास सितंबर में किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 11.04 प्रतिशत की आर्थिक विकास दर के साथ राजस्थान देश में दूसरे स्थान पर है। राज्य सरकार के शानदार वित्तीय प्रबंधन के कारण ही यह संभव हो पाया है। विगत साढे चार वर्षों में राज्य में शानदार आधारभूत ढांचा तैयार हुआ है। 

 विधायकों की सुरक्षा का रखा गया विशेष ध्यान-

छह बहुमंजिला टॉवर (जी$8) में 3200 स्क्वायर फीट वाले कुल 160 फ्लैट्स में विधायकगणों की सुरक्षा का विशेष रूप से ध्यान रखा गया है। पूरे परिसर के कॉमन एरिया (पार्किंग, ड्राइव-वे, बेसमेंट, लिफ्ट) में 80 से ज्यादा अत्याधुनिक और हाई रेंज के सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।

परिसर में डबल बेसमेंट में स्मार्ट पार्किंग की भी सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है, जिसमें दोनों मंजिलों को मिलाकर 921 चौपाहिया वाहन-ईसीयू ECU एक साथ पार्क किए जा सकेंगे।

परिसर के प्रत्येक ब्लॉक में विधायकगण से मिलने के लिए क्षेत्र से आने वाले आगंतुकों के लिए ग्राउंड फ्लोर पर रिसेप्शन, वेटिंग लॉन्ज, एडमिनिस्ट्रेटिव मीटिंग हॉल, मल्टीपर्पज हॉल, कॉन्फ्रेंस हॉल, ड्राइवर डोरमेट्री कक्ष, लिफ्ट, सर्विस लिफ्ट और हर ब्लॉक पर 26 गेस्ट रूम भी बनाए गए हैं। एलौपेथी, आयुर्वेदिक और होम्योपैथी चिकित्सा सुविधा भी उपलब्ध रहेगी।

 इस दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान हाउसिंग बोर्ड की चार वर्षों की उपलब्धियों की पुस्तिका का विमोचन किया। इससे पूर्व  गहलोत ने परियोजना परिसर का अवलोकन किया।

राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष सीपी जोशी (Vidhansabha Speaker CP Joshi) ने कहा कि इस परियोजना के माध्यम से विधायकों एवं उनके परिवारों को बेहतर आवासीय सुविधाएं मिल सकेंगी। इससे प्रदेश के विधायक अपने कर्तव्यों को निर्वहन बेहतर ढंग से कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की ओर से इस परियोजना के लिए आवश्यक वित्तीय संसाधन उपलब्ध करवाए गए जिससे यह परियोजना समयबद्ध रूप से मूर्त रूप ले सकी। 

नगरीय विकास एवं आवासन मंत्री और हाउसिंग बोर्ड के चेयरमैन शांति धारीवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा विभिन्न समस्याओं का निराकरण करके विधायक आवास परियोजना के निर्माण का मार्ग प्रशस्त किया गया। धारीवाल बोले कि हाउसिंग बोर्ड करीब-करीब बंद होने की स्थिति में पहुंच चुका था। आज इसका टर्नओवर लगभग 10 हजार करोड़ रुपए है। 

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ (deputy leader of opposition) ने कहा कि प्रदेश सरकार ने विधायक आवास परियोजना की पहल की तथा इसे रिकॉर्ड समय में तैयार किया गया। इस परियोजना का शिलान्यास एवं लोकार्पण एक ही कार्यकाल में किया गया है यह सराहनीय बात है।

राजस्थान आवासन मण्डल आयुक्त  पवन अरोडा (IAS Pawan Arora) ने कहा कि मुख्यमंत्री की सहज कल्पना के परिणामस्वरूप यह परियोजना समयबद्ध रूप से पूर्ण हुई है। साथ ही, उन्होंने परियोजना के बारे में ऑडियो विजुअल प्रस्तुतीकरण दिया। 

इस दौरान राज्य मंत्रिपरिषद के सदस्य, विधायक, प्रमुख शासन सचिव टी रविकांत (IAS T ravikant), जयपुर विकास प्राधिकरण जेडीए के आयुक्त डॉ. जोगाराम (IAS Jogaram), विधानसभा के प्रमुख सचिव महावीर प्रसाद शर्मा आदि मौजूद रहे।

Must Read: चार महाविद्यालयों का नामकरण महापुरूषों के नाम पर, इनके नाम पर लगी मुहर

पढें राज्य खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :