Jalore Sirohi Loksabha: जालोर—सिरोही खत्म करेगा अशोक गहलोत का पुत्रमोह, पूर्व सीएम की राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं पर बोले बीजेपी के कद्दावर नेता जोगेश्वर गर्ग

Ad

Highlights

आज जालोर से पूर्व विधायक रामलाल मेघवाल, कांग्रेस एससी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष गोकुल परिहार और जिला कांग्रेस कमेटी जालोर के पूर्व महामंत्री रमेश मेघवाल ने बीजेपी जॉइन कर ली।

जयपुर | जालोर विधायक और राजस्थान विधानसभा मुख्य सचेतक, जोगेश्वर गर्ग ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अपने बेटे को राजनीति में स्थापित करने की आकांक्षाओं के बारे में कहा कि यह जालोर—सिरोही ही है जो इन प्रयासों पर विराम लगाएगा।

जालोर से विधायक और मुख्य सचेतक जोगेश्वर गर्ग ने कहा कि अशोक गहलोत अपने बेटे को राजनीति में स्थापित करना चाहते हैं। पहला प्रयास उन्होंने अपने गृह जिले जोधपुर से किया था, लेकिन उसमें वह असफल रहे। अब दूसरा प्रयास जालोर-सिरोही से कर रहे हैं। यहां भी वह असफल ही रहेंगे। इसमें कोई शक नहीं है।

आज जालोर से पूर्व विधायक रामलाल मेघवाल, कांग्रेस एससी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष गोकुल परिहार और जिला कांग्रेस कमेटी जालोर के पूर्व महामंत्री रमेश मेघवाल ने बीजेपी जॉइन कर ली।

जालोर-सिरोही के कांग्रेस नेताओं को भाजपा में शामिल करने के दौरान भाजपा कार्यालय में मौजूद गर्ग ने कहा कि जालोर में बाहर से प्रत्याशी भेजे जाते रहे हैं। उन्होंने जालोर-सिरोही से बूटा सिंह के चुनाव लड़ने और अब वैभव गहलोत की उम्मीदवारी का उदाहरण दिया।

उन्होंने कांग्रेस के भीतर असंतोष की ओर इशारा किया, जो लंबे समय से कांग्रेस के नेताओं के भाजपा में शामिल होने से स्पष्ट है। गर्ग ने एससी-एसटी समुदायों के बीच कांग्रेस के घटते प्रभाव पर प्रकाश डाला, जिसे कभी अपना गढ़ माना जाता था, जो अब भाजपा की ओर बढ़ रहा है।

जालोर—सिरोही से आठ बार विधायक का चुनाव लड़ चुके पूर्व विधायक रामलाल मेघवाल और अन्य प्रमुख हस्तियों सहित हाल ही में भाजपा में नेताओं की आमद, राजस्थान में बदलती राजनीतिक निष्ठा को रेखांकित करती है। भाजपा के प्रमुख नेताओं के साथ गर्ग ने इनका स्वागत किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा के परिवर्तनकारी नेतृत्व को समर्थन में वृद्धि का श्रेय दिया।

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी ने मोदी सरकार और शर्मा के प्रशासन के तहत उपलब्धियों की सराहना की, इसकी तुलना उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व के भीतर दिशा की कमी के रूप में की। उन्होंने अन्य राजनीतिक दलों के निराश सदस्यों के बीच भाजपा में बढ़ते विश्वास पर जोर दिया, जिसके कारण उन्होंने भाजपा में शामिल होने का निर्णय लिया।

जैसे-जैसे जालोर-सिरोही में राजनीतिक परिदृश्य विकसित हो रहा है, ये घटनाक्रम निष्ठाओं के एक महत्वपूर्ण पुनर्गठन का संकेत देते हैं, जिससे भाजपा इस क्षेत्र में अपना गढ़ बनाए रखने के लिए तैयार है। आगामी चुनाव निस्संदेह इन बदलती गतिशीलता के लिए एक अग्निपरीक्षा होंगे।

आज प्रदेश बीजेपी मुख्यालय में करीब 29 राजनेताओं और सामाजिक नेताओं ने बीजेपी जॉइन की। इनमें जालोर से पूर्व विधायक रामलाल मेघवाल, जालोर कांग्रेस एससी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष गोकुल परिहार और जिला कांग्रेस कमेटी जालोर के पूर्व महामंत्री रमेश मेघवाल, दौसा से पूर्व पंचायत समिति सदस्य भावना सैनी, देवली-उनियारा से आरएलपी प्रत्याशी रहे डॉ. विक्रम सिंह गुर्जर, आर्च अकेडमी की डायरेक्टर अर्चना सुराणा सहित अन्य नेताओं ने बीजेपी जॉइन की।

इन सभी को पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरूण चतुर्वेदी, सरकारी मुख्य सचेतक जोगेश्वर गर्ग, बीजेपी के प्रदेश महामंत्री दामोदर अग्रवाल औऱ प्रदेश उपाध्यक्ष नारायण पंचारिया ने दुपट्टा पहनाकर बीजेपी जॉइन कराई। इस मौके पर बीजेपी जालोर के नेता दीप सिंह धनानी भी मौजूद रहे। 

Must Read: राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी का चेहरा कौन होगा, वसुन्धरा राजे को बड़ी जिम्मेदारी

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :