सियासी जंग में प्याज की एंट्री: भाजपा बोली- गरीब की थाली का प्याज होता जा रहा दूर, गहलोत सरकार का कुप्रबन्धन महंगाई का जिम्मेदार

भाजपा बोली- गरीब की थाली का प्याज होता जा रहा दूर, गहलोत सरकार का कुप्रबन्धन महंगाई का जिम्मेदार
Ad

Highlights

राजस्थान में भी प्याज की कीमते तेजी उछाल मार रही है। ऐसे में विपक्षी पार्टी भाजपा और अन्य दलों ने अशोक गहलोत की कांग्रेस सरकार को प्याज के नाम पर भी घेरना शुरू कर दिया है। 

जयपुर |  देश के पांच राज्यों में कुछ दिन बाद ही विधानसभा चुनाव हैं और एक बार फिर से प्याज की बढ़ती कीमतों ने सरकार की नींद उड़ा दी है। 

राजस्थान में भी प्याज की कीमते तेजी उछाल मार रही है। ऐसे में विपक्षी पार्टी भाजपा और अन्य दलों ने अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) की कांग्रेस सरकार को प्याज के नाम पर भी घेरना शुरू कर दिया है। 

गरीब की थाली का प्याज अब होता जा रहा दूर

सोमवार को भाजपा की राष्ट्रीय सचिव अलका गुर्जर (Alka Gurjar) ने कहा कि राज्य में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कुप्रबन्धन तथा गलत नीतियों के कारण महंगाई बढती जा रही है। 

हालात यह है कि गरीब की थाली में सजने वाला प्याज भी अब आम आदमी से दूर हो रहा है। 

गहलोत सरकार का कुप्रबन्धन महंगाई का जिम्मेदार

सरकार की ओर से समय पर प्याज की खरीद नहीं किए जाने और इसके भण्डारण की व्यवस्था नहीं होने के कारण इन दिनों प्याज के दाम 80 रूपए प्रति किलो तक पहुंच गए हैं जो राज्य की कांग्रेस सरकार के कुप्रबन्धन के कारण हुआ है। 

भाजपा की राष्ट्रीय सचिव अलका गुर्जर ने कहा कि राज्य में अमूमन हर वर्ष मानसून के बाद एक से दो माह के लिए राज्य में प्याज की किल्लत हो जाती है। 

इसके बाद भी राज्य सरकार ने इस किल्लत को दूर करने के लिए पहले से ही कोई ठोस योजना तैयार नहीं की। इसके कारण इस वर्ष भी प्याज की किल्लत को लेकर हालात विकट होते जा रहे है। 

राज्य में सरकार का कुप्रबन्धन इतना हावी रहा है कि सरकारी स्तर पर प्याज की खरीद नहीं किए जाने के कारण राज्य में किसानों का 3 रूपए प्रति किलो के भाव में अपने प्याज बेचने पर मजबूर होना पडा है। 

राज्य सरकार की जमाखोरी और अवैध भंडारण को बढावा देने की नीति के चलते आम आदमी की थाली में सजने वाला प्याज गरीब से ही दूर हो गया है। 

भाजपा की राष्ट्रीय सचिव अलका गुर्जर ने कहा कि प्रदेश की जनता को महंगाई की आग में झुलसाने वाली कांग्रेस सरकार के आर्थिक कुप्रबन्धन के कारण ही महंगाई के क्षेत्र में राजस्थान पूरे देश में नंबर वन पोजिशन पर पहुंच गया है। 

हाल ही जारी एक रिपोर्ट के अनुसार राज्य में अगस्त माह की महंगाई दर 8.6 फीसदी दर्ज की गई है जो पूरे देश में सबसे अधिक रही है। इतना ही नहीं राजस्थान के भाजपा शासित पडौसी राज्यों मध्य प्रदेश में महंगाई दर 6.07 प्रतिशत और गुजरात में 6.22 फीसदी ही रही है। 

केन्द्र सरकार ने सस्ती दरों पर प्याज की सप्लाई शुरू की 

उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों की हालत को देखते हुए केन्द्र सरकार ने विशेष प्रयास करते हुए राजस्थान के विभिन्न शहरों में सस्ती दरों पर प्याज की सप्लाई भी शुरू कर दी है, इसके चलते आम आदमी को 25 रूपए प्रति किलो प्याज उपलब्ध होने लगा है लेकिन बाजार में अब भी प्याज की कीमतें 80 रूपए प्रति किलो से अधिक है।

Must Read: ओम माथुर ने क्यों दिया सियासी संदेश, 'कहा मैं जहां खूंटा गाड़ दूंगा, वहां मोदी भी कुछ नहीं हिला सकते क्या वाकई ऐसा है

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :