अनदेखा सियासी युद्ध: सचिन पायलट का सीएम अशोक गहलोत को रोचक जवाब, अनुशासनहीनता करने वालों के भी मैंने नहीं रोके टिकट

सचिन पायलट का सीएम अशोक गहलोत को रोचक जवाब, अनुशासनहीनता करने वालों के भी मैंने नहीं रोके टिकट
Sachin Pilot - Ashok Gehlot
Ad

Highlights

पायलट ने कहा कि पिछले साल 25 सितंबर को जो घटनाक्रम हुआ, उस दौरान कुछ लोगों पर अनुशासन तोड़ने के भी आरोप लगे थे, लेकिन आज उनका भी खुले दिल से स्वागत किया गया है।

जयपुर | भले ही राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) के बीच सब कुछ ठीक दिख रहा हो, लेकिन लगता है अभी भी दोनों के बीच अनदेखा सियासी युद्ध जारी है। 

दोनों नेता भले ही एक साथ बैठकों में दिख रहे हो, लेकिन कहने का मौका आता है तो दोनों ही अपनी भड़ास निकाल ही देते हैं। 

ऐसे में अब एक बार फिर से दोनों के बीच गजब की बयानबाजी देखने को मिली है। 

बीते दिन दिल्ली में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने जिस तरह से 2020 में पायलट और उनके समर्थक विधायकों की बगावत की बात को मीडिया के सामने बड़े ही व्यंग्यात्मक तरीके से परोसा था।

जिस पर सचिन पायलट ने भी बड़े रोचक तरीके से तीखा पलटवार कर दिया है। 

अनुशासन तोड़ने वालों के टिकट पर भी मैंने नहीं की आनाकानी

मीडिया को जवाब देते हुए पायलट ने कहा कि पिछले साल 25 सितंबर को जो घटनाक्रम हुआ, उस दौरान कुछ लोगों पर अनुशासन तोड़ने के भी आरोप लगे थे, लेकिन आज उनका भी खुले दिल से स्वागत किया गया है।

उस समय चाहे सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) की अवमानना भी किसी ने क्यों न कि हो, लेकिन फिर भी पार्टी के हित में मैंने उसका विरोध नहीं किया। 

अब उन पर कार्रवाई हुई या नहीं, ये अलग बात है, लेकिन जिन-जिन लोगों को टिकट देने की बात कही गई और अगर वो जीतने वाले उम्मीदवार थे तो मैंने भी उनके टिकट फाइनल करने में कोई आनाकानी नहीं की है।

इससे बड़ा प्रमाण आपसी मोहब्बत का भला और क्या हो सकता है। 

पायलट ने कहा कि, मुख्यमंत्री जी ने भी कहा है कि हमारे अंदर जो प्यार मोहब्बत है, वो एक मिसाल बन चुकी है। 

क्या कहा था सीएम अशोक गहलोत ने ?

राजधानी दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में गुरुवार को मीडियाकर्मियों से मुखातिब होते हुए मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि सचिन पायलट के साथ गए लोगों के टिकिट करीब-करीब फाइनल हो गए हैं। 

मैनें उनके एक भी समर्थक के टिकिट पर ऑब्जेक्शन नहीं किया है।

गहलोत ने कहा कि सचिन पायलट के करीबी नेताओं के टिकट का उन्होंने विरोध नहीं किया है। पायलट के समर्थक विधायकों के टिकट लगभग फाइनल हो चुके हैं। 

Must Read: कांग्रेस विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा के बगावती तेवर, बिना टिकट मिले ही भर दिया नामांकन

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :