डॉटर्स डे स्पेशल : सिरोही की पूर्व जिला प्रमुख पायल परसरामपुरिया से बातचीत

Ad

Highlights

उन्होंने बताया कि  सिरोही जिले में महिलाओं के साक्षरता और स्वास्थ्य के मुद्दे बड़े महत्वपूर्ण हैं, और उनका संगठन विनोद परसरामपुरिया ट्रस्ट आसपास के सौ किलोमीटर के वृत्त क्षेत्र में एम्बुलेंस अस्पताल का संचालन कर रहे हैं, जिससे वहाँ के लोगों को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ मिल सके।

सिरोही । सिरोही की पूर्व जिला प्रमुख पायल परसरामपुरिया का कहना है हाल ही में आया नारी शक्ति वंदन कानून बेटियों को आत्मविश्वास और अवसर दोनों ही प्रदान करेगा। डॉटर्स डे पर थिंक से बातचीत करते हुए पायल ने कहा कि एक महिला शक्ति का प्रतीक हैं और महिला सशक्तीकरण और नारी शक्ति के प्रति प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रयास इस कानून का आधार है।

महिलाओं को लेकर कांग्रेस के काम पर पूछने पर उन्होंने कहा कि कहने और करने में फर्क है। कांग्रेस ने कहा है, जबकि बीजेपी ने कर के दिखाया है।

सिरोही की जिला प्रमुख रहते वक्त कार्यकाल का जिक्र करते श्रीमती पायल का कहना है कि इन्होंने अपने राजनीतिक कॅरियर में कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं और वर्तमान में भी विभिन्न सामाजिक मुद्दों पर आवाज उठाई है।

उनका कहना है कि महिला साक्षरता और बेटियों में आत्मविश्वास को बढ़ावा देने के लिए 'पायल सखी' अभियान की शुरुआत की थी। वे आवश्यकता जताती हैं कि "महिलाओं को शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में जागरूक बनाना हमारी समाज में सुधार लाने का पहला कदम है।"

उन्होंने बताया कि  सिरोही जिले में महिलाओं के साक्षरता और स्वास्थ्य के मुद्दे बड़े महत्वपूर्ण हैं, और उनका संगठन विनोद परसरामपुरिया ट्रस्ट आसपास के सौ किलोमीटर के वृत्त क्षेत्र में एम्बुलेंस अस्पताल का संचालन कर रहे हैं, जिससे वहाँ के लोगों को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ मिल सके।

पायल परसरामपुरिया बीजेपी की दावेदार भी हैं और वर्तमान में सिरोही विधानसभा क्षेत्र से चुनाव की तैयारियों में जुटी हैं। वे अपने प्रयासों से महिला सशक्तीकरण और सामाजिक सुधार के क्षेत्र में योगदान को महत्वपूर्ण बनाने की बात कहती हैं।

Must Read: गुरुदेव के आदेश पर गौ भक्त दलपत पुरोहित ने तोड़ा अन्न त्याग का व्रत

पढें शख्सियत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :