Student Union Elections: हनुमान बेनीवाल ने खोला मोर्चा, कहा- थर्ड फ्रंट से घबरा रही गहलोत सरकार, छात्रों को तुरंत करे रिहा, नहीं तो...

हनुमान बेनीवाल ने खोला मोर्चा, कहा- थर्ड फ्रंट से घबरा रही गहलोत सरकार, छात्रों को तुरंत करे रिहा, नहीं तो...
Hanuman Beniwal
Ad

Highlights

छात्रसंघ चुनाव को विधानसभा चुनाव का क्वार्टर फाइनल माना जा रहा है। ऐसे में सरकार को डर है कि, कहीं इसके नतीजे विपरीत आ गए तो आगामी विधानसभा चुनाव का परिणाम भी बिगड़ सकता है। अब छात्र नेताओं को सांसद हनुमान बेनीवाल का साथ भी मिल गया है। 

जयपुर | Student Union Elections : राजस्थान की गहलोत सरकार द्वारा छात्रसंघ चुनाव नहीं कराने के आदेश को लेकर प्रदेश में घमासान की स्थिति बनती दिख रही है।

जहां छात्र नेता और उनके समर्थक सड़क पर उतर कर विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं वहीं अब विपक्षी पार्टियां भी उनके समर्थन में उतर कर चुनाव कराने की मांग कर रही है। 

दरअसल, छात्रसंघ चुनाव को विधानसभा चुनाव का क्वार्टर फाइनल माना जा रहा है। 

ऐसे में सरकार को डर है कि, कहीं इसके नतीजे विपरीत आ गए तो आगामी विधानसभा चुनाव का परिणाम भी बिगड़ सकता है। 

लेकिन छात्रनेता किसी भी हालत में चुनाव कराना चाहते हैं, ऐसे में अब छात्र नेताओं को सांसद हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) का साथ भी मिल गया है। 

गहलोत सरकार के छात्रसंघ चुनाव नहीं कराने के फैसले के खिलाफ नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने भी छात्रों के साथ मोर्चा संभाल लिया है। 

हनुमान बेनीवाल ने गहलोत सरकार पर जबरदस्त हमला बोलते हुए कहा है कि, लोकतांत्रिक व्यवस्था में सभी को अपनी बात रखने का हक है। 

सरकार लाठी के दम पर युवाओं की आवाज को दबाने का प्रयास कर रही है जिसे बर्दास्त नहीं किया जाएगा। 

बेनीवाल ने कहा कि गिरफ्तार किए गए छात्रों को सरकार तत्काल रिहा करे।

उन्होंने कहा कि, छात्रसंघ चुनाव करवाने की मांग को लेकर आंदोलित छात्र नेताओं को पुलिस के हिरासत में लेने का प्रकरण संज्ञान में आने के बाद मैंने जयपुर पुलिस कमिश्नर से फोन पर बात कर तत्काल छात्र नेताओं को रिहा करने की बात कही है।

हनुमान बेनीवाल का कहना है कि छात्रसंघ चुनाव से युवाओं को राजनीति में आगे बढ़ने का मार्ग प्रशस्त होता है, लेकिन राजस्थान की हठधर्मी सरकार किसी को आगे बढ़ते हुए देखना पसंद नही कर रही है।

थर्ड फ्रंट से घबरा रही गहलोत सरकार

बेनीवाल ने आगे कहा कि, राजस्थान की गहलोत सरकार प्रदेश में बढ़ते तीसरे मोर्चे के प्रभाव, छात्र संघचुनावों में भी थर्ड फ्रंट की दस्तक से घबरा गई है। 

जिसके चलते इस प्रकार के गैर जिम्मेदाराना कदम उठाए जा रहे हैैं। अब अगर मुख्यमंत्री ने जल्द ही छात्रसंघ चुनाव को नहीं करवाने का अपना निर्णय नहीं बदला तो प्रदेशभर में बड़ा आंदोलन होगा।

Must Read: हनुमान जयंती को माधव यूनिवर्सिटी में होगा बड़ा कार्यक्रम, आसपास के गांवों की भीड़ रहेगी मौजूद

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :