शिक्षा राज्य सरकार की प्राथमिकता: अल्पसंख्यक मामलात विभाग, मदरसों का औचक निरीक्षण

अल्पसंख्यक मामलात विभाग, मदरसों का औचक निरीक्षण
मदरसों का औचक निरीक्षण
Ad

Highlights

विशाल ने कहा कि मदरसों व अल्पसंख्यक आवासीय विद्यालयों में चाइल्ड सेन्ट्रिक एप्रोच के साथ काम किया जाए। सभी कार्मिक समय पर आएं। उनका व्यवहार अच्छा हो और अनुशासन के साथ अपने दायित्वों को पूरा करें। शौचालय की नियमित सफाई हो। कक्षायें साफ-सुथरे हों । तकनीकी नवाचारों पर बल देते हुए उन्होंने ऑनलाइन शिक्षण सामग्री, ई- कंटेंट,रिमेडियल क्लासेज़ को अपलोड करने के निर्देश दिये । 

जयपुर । अल्पसंख्यक मामलात विभाग के सचिव  राजन विशाल ने कहा कि राज्य सरकार शिक्षा के क्षेत्र को प्राथमिकता दे रही है। सरकार की अपेक्षा है कि कॉलेज से लेकर गांव-ढाणी तक आमजन को बेहतरीन शैक्षणिक संस्थान मिले। इसमें किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।  विशाल ने बुधवार को जयपुर के विभिन्न मदरसों व अंग्रेज़ी माध्यम विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया व सुधार के निर्देश दिये । वे निर्माणाधीन आवासीय विद्यालय चाकसू भी गये जहाँ उन्होंने निर्माण कार्य की प्रगति व गुणवत्ता की जाँच की।

तकनीकी नवाचारों से मदरसा संस्थानों को बनाएं चाइल्ड सेंट्रिक
 विशाल ने कहा कि मदरसों व अल्पसंख्यक आवासीय विद्यालयों में चाइल्ड सेन्ट्रिक एप्रोच के साथ काम किया जाए। सभी कार्मिक समय पर आएं। उनका व्यवहार अच्छा हो और अनुशासन के साथ अपने दायित्वों को पूरा करें। शौचालय की नियमित सफाई हो। कक्षायें साफ-सुथरे हों । तकनीकी नवाचारों पर बल देते हुए उन्होंने ऑनलाइन शिक्षण सामग्री, ई- कंटेंट,रिमेडियल क्लासेज़ को अपलोड करने के निर्देश दिये । 


उन्होंने विद्यार्थियों से संवाद कर उन्हें सहज और सरल महसूस करवाने की कोशिश की साथ ही उनसे शिक्षा, भोजन,अन्य व्यवस्थाओं ,एवं गैर शैक्षिक गतिविधियों की गुणवत्ता को लेकर फीडबैक लिया। इस दौरान निदेशक श्रीमति नलिनी कठौतिया,अति निदेशक  अबू सूफियान राज मदरसा बोर्ड सचिव,  सैयद मुक्कर्म शाह,सहायक निदेशक  सुशील सुशील कुमार समेत अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

Must Read: बाड़मेर में महिलाओं के बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का गुस्सा फूटा, झल्लाकर माइक फेंक दिया

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :