तहसीलदार की आशिकी, होना पड़ा सस्पेंड: महिला पटवारी का आरोप- अश्लील मैसेज कर कहता, आपकी आंखें बहुत नशीली है...

महिला पटवारी का आरोप- अश्लील मैसेज कर कहता, आपकी आंखें बहुत नशीली है...
Ad

Highlights

मामले का पर्दा उठा तो हर कोई हैरान था। महिला पटवारियों का आरोप है कि आशिक मिजाज तहसीलदार अन्य महिला पटवारियों को भी अलग-अलग बुलाकर उनके साथ बेशर्मी करता था। 

पाली | राजस्थान में पाली जिले के रोहट तहसील में एक आशिक मिजाज तहसीलदार की ऐसी करतूतें सामने आईं की उसे अपने पद से निलंबित होना पड़ा है। 

रोहट तहसीलदार बाबू सिंह राजपुरोहित पर महिला पटवारियों के साथ अश्लील चैटिंग करने का आरोप है। 

तहसीलदार की इस आशिकी के खिलाफ हाल ही में 3 महिला पटवारियों ने सामूहिक रूप से रोहट उपखंड अधिकारी (SDM) को मौखिक और लिखित में शिकायत दी थी। जिसके बाद उसकी करतूतें लोगों के सामने उजागर हुई और उसे निलंबित कर दिया गया।

महिलाओं से कहता आपकी आंखें नशीली है...

तहसीलदार की हिमाकत तो देखिए अपने साथ काम करने वाली महिलाओं से कहता आपकी आंखें नशीली है, आप नशा करती हो क्या?

जब इस मामले का पर्दा उठा तो हर कोई हैरान था। महिला पटवारियों का आरोप है कि आशिक मिजाज तहसीलदार अन्य महिला पटवारियों को भी अलग-अलग बुलाकर उनके साथ बेशर्मी करता था। 

वह महिलाओं से कहता आपको होटल बुक करवानी हो, गाड़ी में घुमाना या फिर अच्छा खाना हो तो मुझे कह देना।

आपका पति खयाल तो रखता है ना, आपको तंग तो नहीं करता। 

दो साल बाद होने वाला है रिटायर

जानकारी के मुताबिक, हाल ही में आरोपी तहसीलदार बाबू सिंह का रोहट तहसीलदार पद पर तबादला हुआ था और वह 2 साल बाद ही रिटायर होने वाला है। 

रोहट एसडीएम भंवरलाल जनागल को दी गई लिखित शिकायत में महिला पटवारी ने आरोप लगया है कि तहसीलदार बाबू सिंह राजपुरोहित ने उनके साथ बदसलूकी की है। 

व्हाट्सऐप पर अश्लील मैसेज भेजता है

महिला पटवारी का आरोप है कि बाबू सिंह व्हाट्सऐप पर अश्लील मैसेज भेजता है। जिसकी डिटेल भी उन्होंने शिकायत के साथ दी है।

महिला पटवारी ने एसडीएम को लिखे शिकायती पत्र में कहा कि अब तो ऑफिस जाने में भी डर लगने लगा है। 

वह अपना काम भी ठीक ढंग से नहीं कर पा रही है। यहां तक कि तहसीलदार बार-बार जोधपुर में मिलने और अपने घर चलने के लिए कहता है। 

पटवारी की मांग है कि तहसीलदार ने अपनी सभी सीमाएं पार की हैं और उसे मानसिक टॉर्चर किया है। ऐसे में पटवारी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

इस मामले को गंभीरता से लेते हुए एसडीएम ने महिला पटवारी की लिखित शिकायत को जिला कलेक्टर के पास भेजा। जहां से जिला कलेक्टर ने उसे रेवन्यू बोर्ड के भेज दिया था। 

जिस पर रेवन्यू बोर्ड द्वारा कार्रवाई करते हुए तहसीलदार बाबू सिंह को निलंबित कर दिया गया।

तहसीलदार बाबू सिंह ने कहा- ये सभी आरोप झूठे

महिला पटवारियों द्वारा लगाए गए इन सभी आरोपों को तहसीलदार बाबू सिंह ने झूठा बताया है।

बाबू सिंह का कहना है कि उसने किसी के साथ भी ऐसा कुछ नहीं किया है। 

Must Read: बीकानेर में बदमाशों ने युवक के गुप्तांग में डाली प्लास्टिक की केन, ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर्स हैरान

पढें क्राइम खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :