राजस्थान : बीजेपी राजस्थान में सोशल इंजीनियरिंग की तैयारी में, कैलाश चौधरी और आचार्य देवव्रत के नाम पर चर्चा

Ad

Highlights

सूत्रों के मुताबिक, भाजपा राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष के पद के लिए कैलाश चौधरी के नाम पर विचार कर रही है। चौधरी एक जाट नेता हैं और वर्तमान में केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री हैं। वे राजस्थान में भाजपा की सामाजिक आधार को मजबूत करने में मदद कर सकते हैं।

जयपुर, 14 दिसंबर 2023 - भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) राजस्थान में लोकसभा चुनावों से पहले ही सोशल इंजीनियरिंग की तैयारी में जुट गई है। इस कड़ी में प्रदेश अध्यक्ष और राज्यपाल को बदलने की चर्चा शुरू हो गई है।

सूत्रों के मुताबिक, भाजपा राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष के पद के लिए कैलाश चौधरी के नाम पर विचार कर रही है। चौधरी एक जाट नेता हैं और वर्तमान में केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री हैं। वे राजस्थान में भाजपा की सामाजिक आधार को मजबूत करने में मदद कर सकते हैं।

राज्यपाल के पद के लिए गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत के नाम पर भी चर्चा है। 

भाजपा ने राजस्थान में 2023 के विधानसभा चुनावों में जीत हासिल की थी। लेकिन, चुनाव में पार्टी को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा था। इनमें से एक चुनौती यह थी कि पार्टी को अपने बूथ पर भी नहीं जिता पाए।

ऐसे में, माना जा रहा है कि भाजपा राजस्थान में लोकसभा चुनावों में जीत हासिल करने के लिए सोशल इंजीनियरिंग का सहारा लेना चाहती है। इसके लिए, पार्टी प्रदेश अध्यक्ष और राज्यपाल को बदलने पर विचार कर रही है।

क्या बदलेंगे बीजेपी राजस्थान में राज्यपाल और प्रदेश अध्यक्ष?

बीजेपी राजस्थान में राज्यपाल और प्रदेश अध्यक्ष को बदलेगी या नहीं, यह सवाल अभी भी खुला है। हालांकि, पार्टी इन पदों पर बदलाव करने पर विचार कर रही है।

यदि भाजपा इन पदों पर बदलाव करती है, तो यह पार्टी की राजस्थान में सोशल इंजीनियरिंग की तैयारी का संकेत होगा।

Must Read: CM गहलोत के मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास से होगा BJP के गोपाल शर्मा का सियासी मुकाबला

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :