रविन्द्र रंगमंच का करेंगे आधुनिकीकरण: कला—सांस्कृतिक आयोजनों से इसकी शानदार विरासत को करेंगे पुनर्जीवित

कला—सांस्कृतिक आयोजनों से इसकी शानदार विरासत को करेंगे पुनर्जीवित
उप मुख्यमंत्री दिया कुमारी
Ad

Highlights

उप मुख्यमंत्री दिया कुमारी जयपुर के रामनिवास बाग स्थित रविंद्र मंच पर चल रहे रंग-उत्सव में उक्त विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि रविन्द्र मंच की एक शानदार विरासत रही है। किन्तु अब यहां वो रौनक नज़र नहीं आती जो पहले कभी हुआ करती थी। ऐसे में यहां  ढांचागत व्यवस्थाओं का नवीनीकरण किया जाना आवश्यक है

जयपुर । उप मुख्यमंत्री दिया कुमारी ने कहा है कि रविंद्र रंगमंच हमारी विरासत का अभिन्न हिस्सा है। आधुनिकीकरण करने के साथ ही कला और संस्कृति के बड़े आयोजन कर रविन्द्र रंगमंच की शानदार विरासत को पुनर्जीवित किया जाएगा।

उप मुख्यमंत्री दिया कुमारी जयपुर के रामनिवास बाग स्थित रविंद्र मंच पर चल रहे रंग-उत्सव में उक्त विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि रविन्द्र मंच की एक शानदार विरासत रही है। किन्तु अब यहां वो रौनक नज़र नहीं आती जो पहले कभी हुआ करती थी। ऐसे में यहां  ढांचागत व्यवस्थाओं का नवीनीकरण किया जाना आवश्यक है।

जिससे यहां भव्य रूप में कला संस्कृति केआयोजन हो तथा रंगमंच की शानदार विरासत पुनर्जीवित हो सके। यहां पर लोकल कलाकारों को बढ़ावा दिया जाएगा। जिससे विभिन्न् कलाओं के लिए नियमित रूप से मंच प्राप्त हो सकेगा। इसके लिए रंगमंच का आधुनिकीकरण किया जाएगा। अगली बार यहां रंग-उत्सव जैसे बड़े स्तर पर आयोजन किए जाने का ​क्रम निरन्तर जारी रखने के प्रयास किए जाएंगे।

 उप मुख्यमंत्री दिया कुमारी द्वारा रविन्द्र रंगमंच पर 13 मार्च से 16 मार्च तक चल रहे इस रंग-उत्सव में गुरूवार को सहभागिता करने की पहल ने कलाकारों एवं कला प्रेमियों में प्रसन्नता और उत्साह का संचार किया।

दिया कुमारी ने रंग-उत्सव में दीप प्रज्वलित कर, सांस्कृतिक कार्यक्रम का शुभारम्भ् किया।  कलाकारों ने इस अवसर पर कलात्मक प्रस्तुति दी। जिसमें गणेश वंदना के साथ नवोदित कलाकारों द्वारा किए गए कत्थक नृत्य की मोहक प्रस्तुति की गई। 

रंग—उत्सव में जयपुर के कई सिद्धहस्त कलाकारों ने मधुर स्वर लहरियों से वातावरण को गुंजायमन कर दिया। रंग बिरंगी राजस्थान की पारंपरिक पोशाक पहने नृत्यांगनाओं ने राजस्थानी संस्कृति के रंग बिखरे। गफरुद्दीन मेवाती जोगी भपंग वादक कलाकार समूह ने भपंग वादन के साथ लोकगीतों की प्रस्तुति दी। 


कलात्मक उत्पादों की स्टॉल्स का किया अवलोकन 

दिया कुमारी ने इस रंग-उत्सव में लगी स्टॉल्स का अवलोकन किया। रंग-उत्सव में पारंपरिक कलाओं के विभिन्न उत्पादों की कलात्मक प्रदर्शनी को सराहा। उन्होंने प्रदर्शनी की विभिन्न स्टॉल्स में कठपुतलियां, हाथी घोड़े के खिलौने, ब्लू पॉटरी का सामान, अन्य कई कलात्मक आकर्षक उत्पाद देखें। चित्रकारी करते हुए चित्रकार, कच्ची मिट्टी से चाक पर मिट्टी के बर्तन कुम्हार, कैलीग्राफी की स्टॉल देखी और कलाकार की प्रशंसा कर उत्साहवर्धन किया।

दिया कुमारी ने देखा बाइस्कोप

उप मुख्यमंत्री दिया कुमारी ने रविन्द्र मंत्र भवन का अवलनोकन कर प्रमुख शासन सचिव श्रीमती गायत्री राठौड़ और रविन्द्र मंच की प्रबंधक श्रीमती सोविला माथुर का आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस दौरान उप मुख्यमंत्री ने बाइस्कोप देखा तथा अन्य कलाकृतियों को देखकर उनकी प्रशंसा करते हुए कलाकारों का उत्साहवर्धन किया। 

रंग-उत्सव रविंद्र मंच को विजुअल आर्ट से जोड़ने का प्रयास

रंग उत्सव में पर्यटन विभाग की प्रमुख शासन सचिव गायत्री राठौड़ ने रंग उत्सव को जयपुर के इस सांस्कृतिक विरासत केन्द्र रविन्द्र मंच की ओर जयपुर वासियों को फिर से जोड़ने का प्रयास बताया। उन्होंने कहा कि रंग उत्सव रविंद्र मंच को विजुअल आर्ट से जोड़ने का प्रयास है।आने वाले समय में यहां पर बड़े सांस्कृतिक आयोजन करने के प्रयास किए जाएंगे। स्थानीय कला और कलाकारों को मंच उपलब्ध करवाने के प्रयास भी किए जाएंगे। इस अवसर पर आरटीडीसी की प्रबंध निदेशक श्रीमती अनुपमा जोरवाल भी उपस्थित रही।  

कठपुतलियों ने किया मोहित 

विश्व प्रसिद्ध राजस्थानी कठपुतली कलाकार रंग-उत्सव में अपनी जादुई कला के रंग बिखेरते हुए दिखाई दिए। राजस्थानी लोकगीतों पर कठपुतली नृत्य दर्शकों को अपनी और आकर्षित किया। यहां पर छोथमल भाट कठपुतली कलाकार ने युवक,युवतियों को कठपुतली कला ​​सिखाई।

Must Read: चीन में फैली रहस्यमयी बीमारी को लेकर राजस्थान में अलर्ट

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :