AAP का कटाक्ष : पहली बार किसी विधानसभा चुनाव की PM को कमान, BJP की हताशा का प्रमाण है...

पहली बार किसी विधानसभा चुनाव की PM को कमान, BJP की हताशा का प्रमाण है...
Ad

Highlights

BJP आलाकमान ने राजस्थान की जिम्मेदारी सीधे तौर पर पीएम मोदी को देने का फैसला किया है। पालीवाल ने कहा कि बीजेपी चाहें जितनी भी कोशिशें कर ले लेकिन इस बार राजस्थान से बीजेपी का ‘सियासी द एंड’ निश्चित है।

जयपुर | आम आदमी पार्टी (AAP) के प्रदेश अध्यक्ष नवीन पालीवाल ने बीजेपी द्वारा पीएम नरेंद्र मोदी को राजस्थान की जिम्मेदारी दिए जाने के फैसले पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि पहली बार विधानसभा चुनाव की जिम्मेदारी प्रधानमंत्री को देने के  फैसले से ये साफ हो गया है कि बीजेपी को राजस्थान में अपनी हार साफ नजर आ रही है।

BJP आलाकमान ने राजस्थान की जिम्मेदारी सीधे तौर पर पीएम मोदी को देने का फैसला किया है। पालीवाल ने कहा कि बीजेपी चाहें जितनी भी कोशिशें कर ले लेकिन इस बार राजस्थान से बीजेपी का ‘सियासी द एंड’ निश्चित है।

नवीन पालीवाल ने कहा कि पिछले 9 महीने में पीएम मोदी ने राजस्थान के 8 दौरे करे, तो वहीं अमित शाह, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, पीयूष गोयल समेत तमाम नेता राजस्थान की जनता की नब्ज टटोल चुके हैं। इतने दौरों के बाद जब बीजेपी को अपनी सियासी उम्मीदें टूटतीं नजर आईं तो अब उसने सीधे तौर पर पीएम मोदी को ही राजस्थान की जिम्मेदारी देने का फैसला किया जो उनकी हताशा का प्रतीक है।

आप राजस्थान के अध्यक्ष ने कहा कि बीजेपी के खोखले वादे और लोगों को बांटने वाली रणनीति में अब जनता नहीं फंसने वाली । राजस्थान की जनता एक ऐसी पार्टी को राजस्थान में सत्ता की कुर्सी नहीं सौंप सकती जो जनता की सुरक्षा करने में विफल हो।

आप के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पहले बीजेपी शासित मणिपुर में हिंसा हुई और सरकार लोगों की सुरक्षा नहीं कर पाई और अब हरियाणा के नूंह में हिंसा के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल कह रहे हैं कि सरकार सबकी सुरक्षा नहीं कर सकती।

पालीवाल ने कहा कि जनता ने जिस पार्टी को बहुमत देकर सत्ता की कुर्सी सौंपी और उस कुर्सी पर बैठने वाले व्यक्ति के मुंह से ऐसा बयान शर्मनाक है। नवीन पालीवाल ने कहा कि हरियाणा के सीएम के बयान से ये नजर आता है कि बीजेपी की सरकार मुश्किल वक्त में जनता के साथ खड़ी नहीं हो सकती औऱ न ही उनके नेताओं में जनता के हित में कड़े और बड़े फैसले लेने की क्षमता है।

पालीवाल ने कहा कि अगर राजस्थान में बीजेपी के विधायकों ने जनता के बीच रहकर काम किया होता और उनके 24 सांसदों ने अपनी-अपनी जिम्मेदारी सही से निभाई होती तो पीएम मोदी को खुद चुनावी कमान नहीं संभालनी पड़ती। ये इस बात का प्रमाण है कि बीजेपी आलाकमान को राजस्थान में बीजेपी की हार नजर आ रही है ।

पालीवाल ने तंज कसते हुए कहा कि पीएम मोदी ने कर्नाटक में भी काफी प्रचार- प्रसार किया था लेकिन जब हार गए तो विदेश की एक पीआर कंपनी को महज इसलिए हायर किया था जिससे उनकी पॉजिटिव इमेज बनाई जा सके ।

पालीवाल ने कहा कि मेरी सलाह है कि पीएम मोदी इस बार पहले से ही पीआर एजेंसी को हायर कर लें क्योंकि इस बार राजस्थान में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद उनको पीआर एजेंसी की जरूरत निश्चित पड़ेगी।

नवीन पालीवाल ने कहा कि राजस्थान की जनता आज देश की स्थिति देख रही है। बीजेपी शासित राज्यों का हाल भी देख रही है इसलिए जनता का भरोसा आम आदमी पार्टी पर है। पालीवाल ने कहा कि एक बार जनता आम आदमी पार्टी को प्रदेश की कमान सौंप दे उसके बाद प्रदेश की जनता के अच्छे दिन शुरू हो जाएंगे।

आम आदमी पार्टी सिर्फ और सिर्फ जनहित के काम करती है। बच्चों के भविष्य को उज्जवल बनाने की दिशा में काम करती है, लोगों को अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं देने का काम करती है। पालीवाल ने कहा कि ये जो भी जनहित के काम आम आदमी पार्टी गिना रही है ये बीजेपी की तरह चुनावी भाषण नहीं है बल्कि ये वो काम हैं जो आम आदमी पार्टी वर्तमान में दिल्ली और पंजाब में कर रही है।

आम आदमी पार्टी बात करने में नहीं काम करने पर भरोसा करती है इसलिए राजस्थान में आने वाला समय आम आदमी पार्टी का है।

Must Read: देर रात बाड़मेर के रास्ते हुई एंट्री, कई जगह पलटा मौसम, आनासागर से नावें हटाई, NDRF टीमें तैनात

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :