बगावत का बिगुल: पूर्व विधायक अनीता सिंह के बागी तेवर, कहा- मुझे वसुंधरा कैंप का मानकर काटा टिकट, उसे टिकट दिया जिसकी जमानत जब्त होगी

पूर्व विधायक अनीता सिंह के बागी तेवर, कहा- मुझे वसुंधरा कैंप का मानकर काटा टिकट, उसे टिकट दिया जिसकी जमानत जब्त होगी
Anita Singh Gurjar
Ad

Highlights

भरतपुर की नगर विधानसभा सीट से दो बार की पूर्व विधायक अनीता सिंह गुर्जर (Anita Singh Gurjar) को टिकट नहीं मिलने से उन्होंने अपनी नाराजगी दिखा दी है। 

भरतपुर | विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान होते ही भारतीय जनता पार्टी ने भी सोमवार को अपने प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी कर दी।

जिसमें 7 सांसदों समेत 41 प्रत्याशियों को चुनावी अखाड़े में उतार दिया गया है। लेकिन ये चुनावी अखाड़ा अब बागियों का अखाड़ा भी बनता दिख रहा है। 

लिस्ट जारी होने से पहले टिकट मिलने की आस लगाए बैठे जिन नेताओं को जब सूची जारी होने के बाद भी अपना नाम लिस्ट में नहीं मिला तो उनकी नाराजगी भी सामने आने लगी है।

पूर्व विधायक के बगावती तेवर

भरतपुर की नगर विधानसभा सीट से दो बार की पूर्व विधायक अनीता सिंह गुर्जर (Anita Singh Gurjar) को टिकट नहीं मिलने से उन्होंने अपनी नाराजगी दिखा दी है। 

अनीता सिंह गुर्जर के बजाय भाजपा ने इस बार जवाहर सिंह बेढम को टिकट दिया है। 

टिकट कटने से नाराज पूर्व विधायक अनीता सिंह ने बागी तेवर दिखाते हुए सोशल मीडिया पर अपने इरादे जताते हुए लिखा है कि भाजपा ने एक ऐसे व्यक्ति को टिकट दिया है, जो साल 2018 में कामां विधानसभा सीट पर 50 हजार वोटों से हारा था। 

उन्होंने ये भी लिखा है कि वसुंधरा राजे कैंप का मानकर मुझे भाजपा ने अपने से दूर किया है। 

ऐसे में अब चर्चा है कि अनीता सिंह बागी बनकर चुनाव मैदान में भी उतर सकती हैं। 

उसे टिकट दिया है जिसकी जमानत जब्त होगी

दरअसल, अनीता सिंह गुर्जर को वसुंधरा राजे का पक्का समर्थक माना जाता है। उन्होंने खुद लिखा है कि वसुंधरा जी के कैंप का मानकर मुझे भाजपा ने अपने से दूर किया है और उसे टिकट दिया है जिसकी जमानत जब्त होगी।

लोग बोल रहे- मुझे चुनाव लडना चाहिए 

अनीता सिंह ने लिखा है कि मुझे टिकट नहीं मिलने के बाद क्षेत्र से लोगों के हजारों फोन आ रहे हैं वे बोल रहे हैं कि मुझे चुनाव लड़ना चाहिए।

उन्होंने लिखा है कि मैं जनता की भावनाओं का सम्मान करती हूं और मंगलवार शाम को जनता के बीच उपस्थित रहूंगी, बात करुंगी। जनता का जो भी आदेश होगा सर आंखों पर होगा।

अनिता सिंह के इस रूख को देखते हुए ये स्पष्ट है कि उन्होंने बागी होकर चुनाव लड़ने की संभावनाओं का ऐलान कर दिया है। 

Must Read: असम में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी भाजपा पर दमदार बोली

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :