राजस्थान में ईडी का एक्शन: भाजपा ने जताई खुशी, कहा- जल जीवन मिशन घोटाले में मंत्री और विधायकों का सीधा कनेक्शन

भाजपा ने जताई खुशी, कहा- जल जीवन मिशन घोटाले में मंत्री और विधायकों का सीधा कनेक्शन
Ad

Highlights

भाजपा का कहना है कि जब देश के सबसे बड़े पेयजल मिशन योजना में भ्रष्टाचार हुआ है तो ये कार्रवाई तो होनी ही चाहिए। बता दें कि शुक्रवार को ईडी की टीम ने एक्शन लेते हुए राजधानी जयपुर समेत कई जगहों पर छापेमारी की कार्रवाई को अंजाम दिया है। 

जयपुर | Jal Jeevan Mission Scam: राजस्थान में विधानसभा चुनाव 2023 से पहले जल जीवन मिशन में भ्रष्टाचार के आरोपों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की कार्रवाई को लेकर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के चेहरे खिल गए हैं, तो वहीं कई नेताओं के पसीने भी छूटने लगे हैं। 

इस कार्रवाई के बाद भाजपा ने गहलोत सरकार को जमकर निशाने पर लिया। 

भाजपा का कहना है कि जब देश के सबसे बड़े पेयजल मिशन योजना में भ्रष्टाचार हुआ है तो ये कार्रवाई तो होनी ही चाहिए।

बता दें कि शुक्रवार को ईडी की टीम ने एक्शन लेते हुए राजधानी जयपुर समेत कई जगहों पर छापेमारी की कार्रवाई को अंजाम दिया है। 

सुबह से ही प्रदेश भर में कई जगह पर ईडी के छापे चल रहे हैं। ये कार्रवाई अधिकारियों, ठेकेदारों और उनसे जुड़े लोगों पर हो रही है। 

ईडी की कार्रवाई को लेकर भाजपा प्रदेश चुनाव प्रभारी प्रल्हाद जोशी  (Pralhad Joshi)और भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राज्यवर्धन सिंह राठौड़ (rajyavardhan singh rathore) ने इस कार्रवाई का स्वागत किया।

प्रल्हाद जोशी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया है कि इस भ्रष्टाचार में मंत्री और विधायकों का सीधा कनेक्शन है।

जब भ्रष्टाचार हुआ है तो कार्रवाई भी होनी है। भ्रष्टाचार को लेकर अगर ईडी एक्शन लेती है तो एतराज क्यों? 

वहीं, भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने भी कांग्रेस की गहलोत सरकार को आड़े हाथों लेते हुए ईडी इस कार्रवाई पर खुशी जताई है। 

उन्होंने कहा कि राजस्थान की जनता तालियां बजाकर ईडी की कार्रवाई का स्वागत कर रही है। 

उन्होंने आरोप लगाया कि 5 साल पहले राजस्थान सरकार को केंद्र सरकार ने 29000 करोड़ रुपए दिए थे, लेकिन उसमें से सिर्फ 7000 करोड़ खर्च किए गए।

इसी के साथ इस योजना में राज्य सरकार को भी राशि देनी थी, लेकिन वो भी नहीं दी गई, बल्कि टेंडर में घोटाला और कर दिया।

ऐसे में जब भ्रष्टाचार हुआ है तो कार्रवाई भी होनी है। राठौड़ ने तो ये भी दावा किया कि कई जगह 100 फीट की खुदाई कर 800 फीट का पेमेंट उठा लिया गया है।

इसी भ्रष्टाचार के चलते प्रदेश की जनता को उनके हक का पानी नहीं मिला है। 

Must Read: गहलोत सरकार का अगला विधेयक कोचिंग संस्थानों पर लगाम

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :