सीएम गहलोत की पाठशाल: कई नेताओं की क्लास, कहा-ये तो वेणुगोपाल जी हैं, जो आपको बर्दाश्त कर रहे हैं, अगर मैं होता तो...

कई नेताओं की क्लास, कहा-ये तो वेणुगोपाल जी हैं, जो आपको बर्दाश्त कर रहे हैं, अगर मैं होता तो...
Rajasthan Congress
Ad

Highlights

सीएम साब ने सभी नेताओं को कड़े शब्दों में नसीहत भी दे डाली।  दरअसल, शुक्रवार को कांग्रेस की पॉलिटिकल अफेयर्स कमेटी की बैठक आयोजित हुई। जिसमें सीएम गहलोत कई नेताओं पर नाराज भी दिखे।

जयपुर | राजस्थान में विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पाठशाला में कई नेताओं की क्लास लग गई। 

सीएम साब ने सभी नेताओं को कड़े शब्दों में नसीहत भी दे डाली।  दरअसल, शुक्रवार को कांग्रेस की पॉलिटिकल अफेयर्स कमेटी की बैठक आयोजित हुई। जिसमें सीएम गहलोत कई नेताओं पर नाराज भी दिखे।

प्रदेश में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों के बीच में कांग्रेस वॉर रूम के बंद कमरे में कई नेताओं की क्लास लगी। 

सीएम गहलोत ने इस बैठक में नेताओं को सुनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी और ये सब हुआ भी पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री केसी वेणुगोपाल की मौजूदगी में।

इस बैठक खासतौर से केबिनेट मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास, पूर्व मंत्री रघु शर्मा, पूर्व सांसद रघुवीर मीणा, राज्यसभा सांसद नीरज डांगी सीएम के निशाने पर रहे।

रघु शर्मा को मिला जवाब- सीधे दिल्ली जाकर राहुल गांधी को कह दो

कांग्रेस वॉर रूम में जब पूर्व मंत्री और गुजरात के प्रभारी रघु शर्मा ने जातिगत जनगणना का मामला उठाते हुए कहा कि इससे पार्टी को नुकसान होगा?

तो सीएम गहलोत नाराज से हो गए और सख्त होकर कहा कि जातिगत जनगणना का मुद्दा उनका नहीं, पार्टी का नेशनल स्टैंड है।

राहुल गांधी का स्टैंड है, आप भी तो बड़े नेता हैं। सीधे दिल्ली जाकर राहुल गांधी से क्यों नहीं कह देते। 

ये तो वेणुगोपाल जी हैं, जो आपको बर्दाश्त कर रहे हैं। अगर मैं होता तो...

बैठक के दौरान जब गहलोत मंत्री मंडल के मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने अपनी बात सीएम के सामने रखते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव में अग्रेसिव एप्रोच की जरूरत है। 

ऐसे में हमें भाजपा से आक्रामक होकर लड़ना होगा, आक्रामक के बिना काम नहीं चलेगा।

बस फिर क्या था खाचरियावास की ये बात सुनते ही तो सीएम गहलोत और भी गरम हो गए और सुना दी जमकर।

सीएम गहलोत ने कहा कि पता है आप कितने एग्रेसिव हो, बोलते-बोलते ट्रैक से उतर जाते हो, क्या बोलना है क्या नहीं बोलना है। 

ये तो वेणुगोपाल जी हैं, जो आपको बर्दाश्त कर रहे हैं। अगर मैं होता तो एक ही दिन में बता देता कि अनुशासनहीनता क्या होती है। 

नीरज डांगी से बोले सीएम साब- अब कम से कम एक सीट तो जिताकर पार्टी की झोली में डाल दो

इसी के साथ सीएम गहलोत ने नीरज डांगी को भी नहीं बख्शा। डांगी ने बैठक में चुनाव में अलग-अलग स्ट्रेटजी की बात कही थी।

मुख्यमंत्री गहलोत ने उन्हें टोकते हुए कहा कि आप लगातार 3 विधानसभा चुनाव हारे हैं, फिर भी पार्टी हाईकमान ने आपको राज्यसभा का मेंबर बनाया है। 

अब कम से कम एक सीट तो जिताकर पार्टी की झोली में डाल दो। राज्यसभा सांसद हो तो पूरे प्रदेश में पार्टी का प्रचार करो, बयान देने से कुछ नहीं होगा।

सीएम ने मीणा को लताड़ते हुए कहा- तुम मुझसे ज्यादा जानते हो क्या ? 

रघुवीर मीणा को सीएम साब के सामने अपनी नाराजगी जाहिर करना इतना महंगा पड़ गया कि उन्हें ऐसा जवाब मिला की बैठक में सन्नाटा छा गया।

मीणा ने कहा कि सीएम ने मानगढ़ धाम में ओबीसी आरक्षण की जो घोषणा की है, उससे आदिवासियों में गुस्सा नजर आ रहा है। ऐसे में पार्टी को नुकसान उठाना पड़ सकता है।

इस बात पर सीएम साब ने मीणा को लताड़ते हुए कह दिया कि तुम मुझसे ज्यादा जानते हो क्या ? बिना सोचे समझे बोलने लग जाते हो। 

Must Read: 200 किलो सोने-चांदी की पालकी पर विराजी माता गणगौर, 100 से ज्यादा कलाकारों ने बिखेरी छटा

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :