7 सितंबर को हर जिले में : भाजपा की परिवर्तन यात्रा के बीच कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा

भाजपा की परिवर्तन यात्रा के बीच कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा
Congress
Ad

Highlights

देश की गहलोत सरकार ने भी भाजपा को करारा जवाब देने के मकसद से यात्रा निकालने की रणनीति तैयार की है। ऐसे में कांग्रेस भी प्रदेशभर में 7 सितंबर को यात्रा निकालने जा रही है। हालांकि कांग्रेस की ये यात्रा सिर्फ एक दिन की होगी। 

जयपुर | Bharat Jodo Yatra First Anniversary: देशों के पांच राज्यों में साल के अंत में होने जा रहे विधानसभा चुनाव को देखते हुए जहां भारतीय जनता पार्टी राजस्थान में परिवर्तन यात्रा के जरिए वोट बैंक बढ़ाने में लगी हुई है।

वहीं, प्रदेश की गहलोत सरकार ने भी भाजपा को करारा जवाब देने के मकसद से यात्रा निकालने की रणनीति तैयार की है। 

ऐसे में कांग्रेस भी प्रदेशभर में 7 सितंबर को यात्रा निकालने जा रही है। हालांकि कांग्रेस की ये यात्रा सिर्फ एक दिन की होगी। 

दरअसल, कांग्रेस पार्टी ने राहुल गांधी की ’भारत जोड़ो यात्रा’ की पहली वर्षगांठ मनाने का फैसला किया है जिसके चलते पार्टी प्रदेशभर में यात्रा निकालेगी।

सभी जिला मुख्यालयों पर निकलेगी यात्रा

जानकारी के अनुसार, कांग्रेस की ये यात्रा राजधानी जयपुर समेत सभी जिला मुख्यालयों पर शाम 5 से 6 बजे तक निकाली जाएगी।

इन यात्राओं में कांग्रेस के सभी बड़े से लेकर छोटे नेता पैदल मार्च करते दिखाई देंगे। 

पैदल यात्रा के समापन होने पर जनसभाएं होंगी। 

जयपुर की यात्रा में शामिल होंगे सीएम गहलोत

बताया जा रहा है कि राजधानी जयपुर में होने वाली पैदल यात्रा और जनसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी शामिल होंगे। 

सीएम गहलोत के साथ सभी वरिष्ठ नेता और मंत्री भी मौजूद रहेंगे।

डोटासरा ने जारी किया सर्कुलर 

भारत जोड़ो यात्रा की पहली वर्षगांठ पर पैदल यात्रा निकालने के लिए कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने सभी जिलाध्यक्षों को सर्कुलर भेजा हैं। 

जिसमें हर जिले में एआईसीसी के आदेशों के हिसाब से रैली और सभाएं करवाने के निर्देश है।

इसी के साथ सर्कुलर में सभी जिलाध्यक्षों को कार्यक्रमों के जानकारी उसी दिन शाम को प्रदेश कांग्रेस को भेजने के लिए कहा गया है। 

प्रदेश कांग्रेस एआईसीसी को इसके बारे में रिपोर्ट भेजेगी।

कार्यक्रमों के लिए बांटी गई जिम्मेदारी

सात सिंबर को होने वाली भारत जोड़ो यात्रा के हर जिले में कार्यक्रमों के लिए प्रदेश पदाधिकारियों को जिम्मेदारी दी गई है। 

हर जिले में एक वरिष्ठ नेता की ड्यूटी लगाई गई है। कार्यक्रमों में कांग्रेस के सभी अग्रिम संगठनों, विभागों, प्रकोष्ठों के वरिष्ठ नेताओं, पूर्व और मौजूदा जनप्रतिनिधियों और कार्यकर्ताओं को शामिल होने  के आदेश दिए हैं। 

Must Read: रुकने का नाम नहीं ले रही दिव्या मदेरणा और बद्रीराम जाखड़ की लड़ाई, अब जाखड़ ने खोला मोर्चा

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :