सीएम गहलोत बोले: मैं मोदीजी की तरह अहम और घमंड में नहीं हूं, मैं राजस्थान का प्रथम सेवक हूं और काम पर चुनाव लड़ूंगा

मैं मोदीजी की तरह अहम और घमंड में नहीं हूं, मैं राजस्थान का प्रथम सेवक हूं और काम पर चुनाव लड़ूंगा
Ashok Gehlot
Ad

Highlights

गहलोत ने कहा कि सुनने में आ रहा है कि पीएम मोदी राजस्थान में चुनावी चेहरा होंगे, क्या मोदी सड़क बनवाने के लिए राजस्थान आएंगे। क्या मोदी सीएचसी-पीएचसी खोलेंगे, क्या तहसील एसडीएम दफ्तर मोदी खोलेंगे ? मोदी जी तो विश्व गुरु हैं।

जयपुर |  राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने सोमवार को प्रदेश में 50 नए जिलों के उद्घाटन समारोह में भाजपा की केन्द्र सरकार (Modi Govt) पर जमकर निशाना साधा।

सीएम गहलोत ने प्रदेशवासियों को 19 नए जिलों और 3  संभागों की सौगात देने के बाद मोदी सरकार को हाशिये पर लिया और शब्दों के तीखें छोड़े। 

जयपुर के बिरला ऑडिटोरियम में आयोजित जिलों के उद्घाटन  समारोह में सीएम गहलोत ने कहा कि 2030 तक राजस्थान को अग्रणी राज्यों की श्रेणी में लाना है।

उन्होंने पीएम मोदी (Narendra Modi) को निशाना बनाते हुए कहा कि पीएम देश के होते हैं किसी पार्टी या धर्म के नहीं, वे खुद को बीजेपी व हिंदुओं का पीएम दिखाते हैं।

प्रदेशवासियों को मुझ पर विश्वास करना चाहिए। मैं जो कुछ कहता हूं। दिल से कहता हूं। मैं मोदी जी आपसे बड़ा फकीर हूं। मोदी जी जो ड्रेस एक बार पहन लेते हैं वो रिपीट नहीं करते हैं।

दिन में एक, दो, तीन बार ड्रेस बदलते होंगे। मैं मेरी ड्रेस वही रखता हूं, क्या मैं फकीर नहीं हूं ? 

सीएम ने कहा कि मणिपुर में गृहयुद्ध चल रहा है जहां मोदीजी को राष्ट्रपति शासन लगाना चाहिए था। उन्होंने यह भी कहा कि मैं मोदीजी की तरह अहम और घमंड में नहीं हूं, मैं आलोचना को सुनने वाला आदमी हूं। 

राजस्थान चुनाव में भाजपा फेस को लेकर साधा निशाना

इसी के साथ अशोक गहलोत ने राजस्थान विधान चुनाव में भाजपा फेस को लेकर एक बार फिर से पीएम मोदी को निशाना बनाया।

गहलोत ने कहा कि सुनने में आ रहा है कि पीएम मोदी राजस्थान में चुनावी चेहरा होंगे, क्या मोदी सड़क बनवाने के लिए राजस्थान आएंगे।

क्या मोदी सीएचसी-पीएचसी खोलेंगे, क्या तहसील एसडीएम दफ्तर मोदी खोलेंगे ? मोदी जी तो विश्व गुरु हैं।

बता दें कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को राजधानी जयपुर से 19 नए जिलों और 3 संभागों का वैदिक विधि-विधान और सर्व धर्म के अनुष्ठानों के साथ उद्घाटन किया । 

जिसके बाद राजस्थान में अब 33 से बढ़कर 50 जिले हो गए हैं। इसी तरह से 7 से बढ़कर 10 संभाग हो गए हैं। 

राजस्थान में इस साल के अंत में होने जा रहे विधानसभा चुनावों को देखते हुए ये सीएम गहलोत का बड़ा सियासी दांव माना जा रहा है। 

Must Read: कर्नाटक में भी पायलट-गहलोत जैसे हालात सिद्धारमैया और डीके शिवकुमार के बीच है, खड़गे के नाम की एंट्री कर दलित सीएम की संभावनाओं पर बल

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :