लोकार्पण एवं शिलान्यास: 85 हजार करोड़ की रेलवे परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास

85 हजार करोड़ की रेलवे परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास
मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा
Ad

Highlights

प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्ष 2014 से पहले रेलवे के हालात इतने बदतर थे कि उत्तर-पूर्व के 6 राज्यों की राजधानी भी रेल सेवा से नहीं जुड़ पाई थी। देशभर में करीब 10 हजार से ज्यादा रेलवे फाटक मानवरहित थे

जयपुर । प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को गुजरात के अहमदाबाद में रेलवे की 85 हजार करोड़ रुपए से अधिक की परियोजनाओं का शिलान्यास-लोकार्पण तथा वन्दे भारत ट्रेनों सहित अन्य रेल सेवाओं का हरी झण्डी दिखाकर शुभारम्भ किया जिनमें राजस्थान को भी कई सौगातें मिली।

इस अवसर पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीय रेल विकसित भारत के संकल्प को साकार करने में अहम भूमिका निभा रही है। देश के विकास की गाड़ी रेलवे ट्रैक पर तीव्र गति से दौड़ रही है। उन्होंने कहा कि गत 10 वर्षों में रेलवे का जो कायाकल्प हुआ है, वो विकसित भारत की गारंटी है।

 मोदी ने कहा कि रेलवे का विकास केन्द्र सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। हमारी सरकार ने रेल बजट को केन्द्रीय बजट में शामिल किया, जिससे रेलवे का औसत बजट 6 गुना बढ़ गया है तथा आने वाले 5 साल में रेलवे का पूरी तरह कायाकल्प हो जाएगा।

दृढ़ इच्छा शक्ति से रेलवे को मुश्किल हालात से निकाला बाहर

प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्ष 2014 से पहले रेलवे के हालात इतने बदतर थे कि उत्तर-पूर्व के 6 राज्यों की राजधानी भी रेल सेवा से नहीं जुड़ पाई थी। देशभर में करीब 10 हजार से ज्यादा रेलवे फाटक मानवरहित थे।

मात्र 35 प्रतिशत रेल लाइनों का विद्युतीकरण हो पाया था और ट्रेन टिकट के आरक्षण में भी लम्बी लाइनें लगती थी। उन्होंने कहा कि रेलवे लाइनों का दोहरीकरण भी पूर्ववर्ती सरकारों की प्राथमिकता में नहीं था। इन सब कारणों से आम आदमी को बहुत पीड़ा झेलनी पड़ती थी। प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसे हालात से रेलवे को बाहर निकालने के लिए जो दृढ़ इच्छाशक्ति चाहिए थी, वो हमारी सरकार ने दिखाई है। 

10 सालों में बदली विकास की तस्वीर

 मोदी ने कहा कि पिछले 10 सालों में 1300 से ज्यादा रेलवे स्टेशनों का आधुनिकीकरण किया गया है। उन्होंने कहा कि वन्दे भारत, नमो भारत और अमृत भारत जैसी नेक्स्ट जनरेशन ट्रेनें चल रही हैं। वन्दे भारत ट्रेनों का नेटवर्क देश के 250 से अधिक जिलों तक पहुंच चुका है। रेलवे का शत- प्रतिशत विद्युतीकरण होने जा रहा है। 

विकसित हो रहा मेड इन इंडिया का ईको सिस्टम

 मोदी ने कहा कि ट्रेनों, रेलवे ट्रेकों तथा स्टेशनों के निर्माण से मेड इन इंडिया का ईको सिस्टम विकसित हो रहा है। भारत में बनने वाले लोकोमोटिव और ट्रेन के डिब्बों का श्रीलंका, सूडान और म्यांमार जैसे देशों में निर्यात हो रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी सेमी हाई स्पीड ट्रेनों की मांग विश्व में बढ़ने से देश में नए कारखानों की स्थापना होगी। विश्वकर्मा कारीगरों और महिला स्वयं सहायता समूहों के उत्पादों की रेलवे स्टेशनों पर बिक्री कर वोकल फॉर लोकल को बढ़ावा दिया जा रहा है।

प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में रेलवे ने हासिल की शानदार उपलब्धियां

मुख्यमंत्री  भजनलाल शर्मा ने इस अवसर पर जैसलमेर रेलवे स्टेशन परिसर में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि माननीय प्रधानमंत्री जी ने भारत के विकास रथ को जो तेज गति दी है, उससे पूरी दुनिया अचंभित है।  शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार रेलवे, सड़कों, हाईवे एवं एयरपोर्ट के विकास के नित नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है तथा अपने कार्यकाल में विकास कार्यों का शिलान्यास-लोकार्पण कर उन्हें समय पर जनता को समर्पित कर रही है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में आज देश प्रत्येक क्षेत्र में विकास के नये रिकॉर्ड बना रहा है और रेलवे भी इससे अछूता नहीं है। डिजाइन, गति, सुख-सुविधा, सुरक्षा, प्रौद्योगिकी और आधुनिकीकरण में हमने शानदार उपलब्धियां हासिल की हैं।

वर्ष 2014 से यशस्वी प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारतीय रेलवे ने माल ढुलाई, मालभाड़ा राजस्व, नई वंदे भारत ट्रेन शुरू करने, पूंजीगत व्यय, स्टेशन पुनर्विकास, कवच सुरक्षा प्रणाली, पटरियां बिछाने और विद्युतीकरण में अभूतपूर्व प्रगति प्राप्त की है।  शर्मा ने कहा कि इस वर्ष के बजट में राजस्थान के लिए 9 हजार 7 सौ करोड़ रुपए से अधिक का रिकॉर्ड प्रावधान किया गया है।

समयबद्ध रूप से पूरी की जाएगी संकल्प पत्र की हर घोषणा

मुख्यमंत्री ने कहा कि तीन माह के अल्प कार्यकाल में ही राज्य सरकार ने संकल्प पत्र के करीब 40 फीसदी वादों पर काम शुरू कर दिया है तथा समयबद्ध रूप से हर वादे को पूरा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने युवाओं के साथ विश्वासघात करने वाले पेपर लीक के दोषियों को उनके अंजाम तक पहुंचाया है।  

शर्मा ने कहा कि जनता ने जिस विश्वास और भरोसे से सरकार को चुना है, उस पर हम खरा उतर रहे हैं और प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में प्रदेश की डबल इंजन सरकार राज्य में विकास की नई इबारत लिख रहे हैं।


इस मौके पर केंद्रीय कृषि एवं कृषक कल्याण राज्य मंत्री  कैलाश चौधरी ने कहा कि बाड़मेर जैसलमेर में रेलवे के विकास से यातायात के साधनो में सुगमता होगी जिससे यहां माल ढुलाई के साथ-साथ पर्यटन का भी विकास होगा। 

राजस्थान को मिली ये सौगातें
1. अजमेर-दिल्ली-केंट वन्दे भारत एक्स्प्रेस ट्रेन का चण्डीगढ़ तक विस्तार को हरी झंडी
2. कुचामन सिटी-नावां सिटी व फुलेरा गोविंदी मारवाड़ रेल खण्डों का दोहरीकरण का लोकार्पण
3. जोधपुर कारखाने के आधुनिकीकरण कार्य का लोकार्पण
4. जैसलमेर में ट्रेन अनुरक्षण डिपो निर्माण कार्य का शिलान्यास
5. वन स्टेशन वन प्रोडक्ट स्टॉल्स का लोकार्पण
6. गति शक्ति कार्गो टर्मिनल व गुड्स शेड का लोकार्पण
7. भगत की कोठी स्टेशन पर प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केन्द्र का शुभारंभ
इस अवसर पर संसदीय कार्य मंत्री  जोगाराम पटेल, विधायक महंत प्रताप पुरी,  छोटू सिंह, मुख्य सचिव  सुधांश पंत एवं संभागीय आयुक्त  बी. एल. मेहरा सहित विभिन्न जनप्रतिनिधि, रेलवे के अधिकारी-कर्मचारी तथा बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित थे।

Must Read: बाढ़ प्रभावित सांचौर पहुंचे CM Gehlot, लोगों की समस्याएं सुन मुआवजे की कही बात

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :