पिता के लिए मांगी थी मन्नत: वैष्णो माता के दर्शन कर लौट रहे परिवार की कार ट्रक से टकराई, माता-पिता की मौत, बेटियां-बेटा अस्पताल में

वैष्णो माता के दर्शन कर लौट रहे परिवार की कार ट्रक से टकराई, माता-पिता की मौत, बेटियां-बेटा अस्पताल में
Ad

Highlights

दुख भरा हादसा जयपुर में रहने वाले एक परिवार के साथ हुआ। इस हादसे में दंपति की मौत हो गई, जबकि बेटा और 2 बेटियां गंभीर रूप से घायल हो गईं। घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

जयपुर | बेटियों को क्या पता था कि जिस पिता के अच्छे स्वास्थ्य के लिए मन्नत मांग जब वे घर को लौटेंगे तो उन पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ेगा। 

5 दिन पहले पूरा परिवार माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए निकला था और रविवार को घर लौट रहा था, लेकिन घर लौटने से पहले ही उनकी कार का एक्सीडेंट हो गया और पूरा परिवार उजड़ गया।

ये दुख भरा हादसा जयपुर में रहने वाले एक परिवार के साथ हुआ। इस हादसे में दंपति की मौत हो गई, जबकि बेटा और 2 बेटियां गंभीर रूप से घायल हो गईं। घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

मृतक दंपति के परिजनों के अनुसार, मृतक गोविंद अग्रवाल मूलतः जयपुर के त्रिपोलिया हाल श्री रतना अपार्टमेंट पीतल फैक्ट्री, बनीपार्क में रहते थे।

पांच दिन पहले 25 अक्टूबर को गोविंद अग्रवाल अपनी पत्नी रेणू अग्रवाल, 25 वर्षीय बेटी शिप्रा अग्रवाल, 23 वर्षीय बेटी हर्षा और 19 वर्षीय बेटे दिव्यम के साथ माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए गए थे। 

माता के दरबार में ढोक लगाने के लिए परिवार ने इनोवा कार किराए पर ली थी। माता के ढोक लगाकर जब परिवार वापस जयपुर लौट रहा था तो हरियाणा के रोहतक में रविवार को उनकी कार आगे चल रहे ट्रक से टकरा गई। 

इस हादसे में गोविंद और उनकी पत्नी रेणू अग्रवाल की मौत हो गई, जबकि दोनों बेटियां और बेटा घायल हो गए।

उनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। लेकिन हादसे में गाड़ी का ड्राइवर बाल-बाल बच गया।

परिवारजनों को मिली सूचना तो रोहतक पहुंचे

छोटे भाई और उनके परिवार के साथ हुए हादसे की सूचना मिलते ही परिवारजनों में हड़कंप मच गया। परिवार के लोग रोहतक पहुंचे और देर रात एंबुलेंस से दंपति के शव जयपुर लाए गए।

पिता के जल्द ठीक होने के लिए बेटियों ने मांगी थी मन्नत

जानकारी में सामने आया है कि गोविंद अग्रवाल गोपाल जी का रास्ता में जवाहरात का काम करता था। 

गोविंद को कैंसर था और सालभर पहले ही उनका ऑपरेशन हुआ था। 

ऐसे में उनके अच्छे स्वास्थ्य के लिए उनकी दोनों बेटियों ने मन्नत मांगी थी। जिसके लिए पूरा परिवार माता रानी के दरबार में दर्शन करने गया था। 

मृतक दंपति की दोनों बेटियां बेंगलुरु में प्राइवेट कंपनी में जॉब करती हैं। वे अभी वर्क फ्रॉम होम कर रही हैं, जबकि बेटा दिव्यम कॉलेज में पढ़ रहा है। 

Must Read: सीएम गहलोत बोले- मां-बाप रखे बड़ा दिल, ’लव अफेयर’ हो तो दे शादी की अनुमति

पढें क्राइम खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :