जयपुर: पूर्व राजपरिवार की सदस्य पद्मिनी देवी की तबीयत बिगड़ी, ईएसएचएस अस्पताल में भर्ती

पूर्व राजपरिवार की सदस्य पद्मिनी देवी की तबीयत बिगड़ी, ईएसएचएस अस्पताल में भर्ती
maharani padmini devi with padmnabh singh
Ad

Highlights

सांसद दिया कुमारी वर्तमान में परिवर्तन यात्रा कार्यक्रम में शामिल हैं। वह मंगलवार को देवगढ़ में कार्यक्रम में शामिल हुईं थीं। कार्यक्रम के बीच में उन्हें तबीयत बिगड़ने की सूचना मिली। इसके बाद वह कार्यक्रम छोड़कर जयपुर के लिए रवाना हुईं।

जयपुर, 12 सितंबर 2023: पूर्व राजपरिवार की सदस्य 76 वर्षीया श्रीमती पद्मिनी देवी की तबीयत मंगलवार को अचानक बिगड़ गई। श्रीमती पद्मिनी देवी, सांसद दिया कुमारी की माता हैं। श्रीमती पद्मिनी देवी बाथरूम में गिरने से घायल हो गईं। उन्हें परिजन ईएसएचएस अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने उन्हें भर्ती कर लिया।

सांसद दिया कुमारी वर्तमान में परिवर्तन यात्रा कार्यक्रम में शामिल हैं। वह मंगलवार को देवगढ़ में कार्यक्रम में शामिल हुईं थीं। कार्यक्रम के बीच में उन्हें तबीयत बिगड़ने की सूचना मिली। इसके बाद वह कार्यक्रम छोड़कर जयपुर के लिए रवाना हुईं।

ईएसएचएस अस्पताल के चिकित्सकों ने बताया कि श्रीमती पद्मिनी देवी को चोटें आई हैं। उन्हें प्राथमिक उपचार दिया जा रहा है। उनकी स्थिति स्थिर है।

पद्मिनी देवी सिरमौर (हिमाचल प्रदेश) की राजकुमारी थीं और 1966 में महाराजा सवाई भवानी सिंह से शादी कर जयपुर आई थीं।

पद्मिनी देवी का जन्म 15 दिसंबर 1946 को सिरमौर में हुआ था। उनके पिता का नाम राजा यशवंत सिंह था और माता का नाम रानी राधिका कुमारी था। पद्मिनी देवी की दो बहनें और एक भाई हैं।

पद्मिनी देवी ने प्रारंभिक शिक्षा सिरमौर में प्राप्त की। उसके बाद उन्होंने दिल्ली के सेंट स्टीफंस कॉलेज से इतिहास में स्नातक की उपाधि प्राप्त की।

पद्मिनी देवी ने 1966 में महाराजा सवाई भवानी सिंह से शादी की। उनकी शादी जयपुर के सिटी पैलेस में हुई थी। उनकी एक बेटी है जिनका नाम दिया कुमारी है। वह फिलहाल राजसमंद की सांसद हैं।

पद्मिनी देवी जयपुर के सामाजिक और सांस्कृतिक जीवन में सक्रिय रूप से शामिल रही हैं। वह महाराजा सवाई मान सिंह म्यूजियम ट्रस्ट की अध्यक्ष हैं। इसके अलावा वह जयपुर और राजस्थान के कई अन्य सामाजिक संगठनों से जुड़ी हुई हैं।

पद्मिनी देवी को कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है। उन्हें 2007 में भारत सरकार ने पद्म श्री से सम्मानित किया था।

2011 में महाराजा सवाई भवानी सिंह के निधन के बाद, पद्मिनी देवी जयपुर की राजमाता बन गईं।

Must Read: खाटूश्यामजी के दर्शन कर लौट रहे 6 दोस्तों की गाड़ी का एक्सीडेंट, 2 की मौत, गंभीर घायल जयपुर रेफर

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :