मेघवाल समाज का स्नेह मिलन समारोह: विधायक लोढ़ा बोले- सिरोही का परिवार की तरह ध्यान रखूंगा

विधायक लोढ़ा बोले- सिरोही का परिवार की तरह ध्यान रखूंगा
Ad

Highlights

सिरोही को राजस्थान में नहीं बल्कि हिंदुस्तान में ऊंचाईयों तक ले जाने का वादा करते हुए विधायक संयम लोढ़ा ने मेघवाल समाज, स्नेह मिलन व प्रतिभा सम्मान समारोह में विद्यार्थियों को सम्मानित किया।

शिवगंज | सिरोही को राजस्थान में नहीं बल्कि हिंदुस्तान में ऊंचाईयों तक ले जाने का वादा करते हुए विधायक संयम लोढ़ा ने मेघवाल समाज, स्नेह मिलन व प्रतिभा सम्मान समारोह में विद्यार्थियों को सम्मानित किया।

गुरूवार को विधायक संयम लोढ़ा ने कार्यक्रम में प्रतिभावान छात्र छात्राओं को अतिथियों ने प्रमाण पत्र व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम का संचालन केसाराम मेघवाल ने किया।

इस दौरान समाज के माननीय लोगों ने विधायक लोढ़ा का 21 किलो की माला से स्वागत किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार दिल्ली की हो या जयपुर की। राजस्थान विधानसभा में सरकार को दो टूक सुनाने में कोई कमी नहीं रखी, आपने मुझे राजनीतिक में नया जीवन दिया है, बाबा साहब के मिशन की तरफ आगे बढ़ने को लेकर मैंने हर कार्य को पूरा करने की कोशिश की है। 

विधायक लोढ़ा ने कहा कि 70 साल में 4 कॉलेज खुले थे, लेकिन 4 साल में 7 नए कॉलेज खुलवाए गए हैं। 

3 कॉलेजों को क्रमोन्नत कर दिया गया है। सामाजिक परिवर्तन की जमीन तैयार करने के लिए सिरोही को शिक्षा के क्षेत्र में उच्च स्तर तक ले गया हूं। 3 हजार करोड़ रूपये के सिरोही में विकास कार्य करवाए गए हैं। 

विधायक लोढ़ा ने ये सब बातें आईनाथ मंदिर आश्रम में मेघवाल समाज विकास संस्थान खुणी परगना द्वारा आयोजित मेघवाल समाज, स्नेह मिलन व प्रतिभा सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए कही।

इस दौरान विधायक संयम लोढ़ा ने कहा कि आपकी ही बदौलत सिरोही को नई ऊंचाईयां मिली है।

लोढ़ा ने कहा कि शिक्षा सारथी गणेश नाथ महाराज, बालकनाथ जी महाराज आज हमारे बीच में हैं। ये मेघवाल समाज के सूरज हैं, इन्होंने जो रोशनी फैलाई है उससे आज सिरोही-जालोर में हमारे बच्चे शिक्षा से जुड़े हैं। 

हम लोगों का जीवन कैसे सुखी हो, कैसा कल्यामणमय हो, ये इनके जीवन का मिशन है। हमारे बच्चो का जीवन संवारा है। बाबा साहब के हम अनुयायी हैं।

उन्होने कहा था कि शिक्षा शेरनी का दूध है, इसे जो पियेगा वो दहाड़ेगे। संत गणेश नाथ महाराज हमारे बच्चों को शिक्षा का दूध पिलाने का काम कर रहे हैं।

विधायक संयम लोढा ने कहा कि इन 5 सालों में मेघवाल समाज की कोई भी बात मैंने नीचे नहीं पड़ने दी, किसी भी आदमी के साथ कुछ गलत हुआ, सामने वाला कितना भी बड़ा हो मैं हमेशा समाज के लोगों के साथ खडा रहा हूं। 

बाबा साहब ने अपने जीवनकाल में बहुत तकलीफ देखी, बाबा साहब बेजोड़ व्यक्ति थे, किसी के आगे नहीं झुंके, लड़कर हमारे लिए सब कुछ प्राप्त किया। 

जय भीम का अर्थ है नर-नर में कोई भेद नहीं, कोई फर्क नहीं है, इस संसार में जो प्राणी पैदा हुए हैं वो सभी एक समान हैं। 

हमारे बच्चांे के जीवन को संवारने के लिए बाबा साहब पूरी जिंदगी पढ़ते रहे हैं। 

इसी के साथ विधायक लोढ़ा ने ये भी कहा कि आज जन्माष्टमी है, भगवान श्रीकृष्ण का उत्सव है। श्रीकृ़ष्ण के जीवन से हमें बहुत कुछ सीखने की जरूरत है। श्रीकृष्ण ने प्रेम का संदेश दिया है। कष्ट देखे हैं, उसके बाद भी हमारे जीवन में प्रेम स्नेह का भाव पैदा किया है।

विधायक संयम लोढा ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारे बाप दादाओं की कमाई से बने बैंक, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन बेच रहे हैं, मां-बाप रात दिन मेहनत करके, पेट काटकर अपने बच्चों को पढ़ाते हैं ताकि सरकारी नौकरी मिले। 

प्राइवेटेशन करके नौकरियां कौन खत्म कर रहा है, ये हमंे समझने की जरूरत है।

कार्यक्रम में संत गणेश नाथ, बालक नाथ, प्रदेश कांग्रेस कमेटी सदस्य हरीश राठौड़, विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियंता कन्हैयालाल मेघवाल, सीमएचओ डॉ राजेश कुमार, पालड़ी थाना अधिकारी प्रभुराम मेघवाल, पूर्व प्रधान हंजाराम मेघवाल आदि ने अपने विचार प्रकट किए। 

Must Read: सचिन से पहले 4 लड़कों से दोस्ती, राज खुले तो अब वापस पाकिस्तान भेजने की तैयारी

पढें क्राइम खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :