संसद का विशेष सत्र: पीएम नरेंद्र मोदी बोले- ये ऐतिहासिक निर्णयों वाला सत्र है, रोने-धोने का समय नहीं

Ad

Highlights

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चंद्रयान-3 और जी-20 की सफलता का जिक्र किया तो वहीं विपक्ष पर भी निशाना साधते हुए कहा कि ये रोने-धोने का समय नहीं, ऐतिहासिक निर्णयों वाला सत्र है। रोने-धोने के लिए तो बहुत समय मिलेगा। 

नई दिल्ली | संसद का 5 दिवसीय विशेष सत्र सोमवार से शुरू हुआ है। ये सत्र पांच दिन यानि आज से 22 सितंबर तक चलेगा, इसमें 5 बैठकें होनी है। लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया।

सत्र शुरू होने से पहले पीएम मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि ये सत्र छोटा जरूर है, लेकिन समय के हिसाब से बहुत बड़ा है। ये सत्र ऐतिहासिक निर्णयों का है। 

19 सितंबर से विशेष सत्र का शेष हिस्सा नए संसद भवन में चलेगा। केंद्र सरकार ने इस विशेष सत्र का एजेंडा जारी कर बताया है कि इस सत्र में चार बिल पेश होंगे। 

इस सत्र की एक विशेषता ये भी है कि 75 साल की यात्रा अब नए संसद भवन और नए मुकाम से आरंभ हो रही है।

अब नए स्थान पर उस यात्रा को आगे बढ़ाते हुए नये संकल्प, नया विश्वास और समय सीमा में 2047 तक देश को विकसित देश बनाना है।

विशेष सत्र से पहले मीडिया को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चंद्रयान-3 और जी-20 की सफलता का जिक्र किया तो वहीं विपक्ष पर भी निशाना साधते हुए कहा कि ये रोने-धोने का समय नहीं, ऐतिहासिक निर्णयों वाला सत्र है। रोने-धोने के लिए तो बहुत समय मिलेगा। 

Must Read: क्यों मनाया जाता है विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस, किसने की इसकी शुरुआत और क्या हैं उपभोक्ताओं के अधिकार? पढ़ें

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :