Rajasthan Vidhansabha Monsoon Session: राजस्थान विधानसभा में गूंजा ‘लाल डायरी’ और मणिपुर हिंसा का मुद्दा, हंगामें के बीच 3 बिल पारित

Ad

Highlights

राजस्थान विधानसभा के मानसून सत्र (Rajasthan Vidhansabha Monsoon Session 2023) का आज यानि 2 अगस्त को आखिरी दिन था जो काफी हंगामेदार रहा। मानसून सत्र के आखिरी दिन हंगामे के बीच विधानसभा में 3 बिल पारित हुए। सदन में लाल डायरी बड़ा मुद्दा रहा।

गहलोत सरकार (Ashok Gehlot) के बर्खास्त मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने आज सरकार के काले कारनामे को लेकर लाल डायरी से 3 पन्ने पब्लिक किए।

जयपुर, राजस्थान ||

राजस्थान विधानसभा के मानसून सत्र (Rajasthan Vidhansabha Monsoon Session 2023) का आज यानि 2 अगस्त को आखिरी दिन था जो काफी हंगामेदार रहा। मानसून सत्र के आखिरी दिन हंगामे के बीच विधानसभा में 3 बिल पारित हुए।

सदन में लाल डायरी बड़ा मुद्दा रहा।

गहलोत सरकार (Ashok Gehlot) के बर्खास्त मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने आज सरकार के काले कारनामे को लेकर लाल डायरी से 3 पन्ने पब्लिक किए।

जिसमें गुढ़ा (Rajendra Gudha) ने दावा किया कि लाल डायरी में RTDC के चेयरमैन धर्मेंद्र राठौड़ की हैंडराइटिंग है और आरसीए से लेन देन की बातें डायरी में कोडवर्ड में लिखी गई हैं। 

इस मुद्दे पर विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने आवाज उठाई जिसका गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Dotasara) और शांति धारीवाल (Shanti Dhariwal) ने काफी विरोध किया।

डोटासरा ने कहा कि ‘सदन में नेता प्रतिपक्ष अव्यवाहारिक मुद्दे उठा रहे है।  जिसके बाद विधानसभा की कार्यवाही फिर से शुरू हुई।

इस दौरान विपक्ष के विधायकों ने हंगामा किया। साथ ही विपक्ष ने वेल में आकर नारेबाजी की। एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाए जा रहे थे।

एक ओर विधानसभा में सत्तादल ने जहां मणिपुर हिंसा का मामला  (Manipur Violence) उठाया तो दूसरी ओर नेता प्रतिपक्ष ने 'लाल डायरी' का मुद्दा। सत्ता दल से गोविंद सिंह डोटासरा बोले मणिपुर की घटना पर चुप क्यों है विपक्ष।

कांग्रेस (Congress) ने तो एनसीआरबी (NCRB) के डेटा के साथ जवाब दे दिया। इसी समय राजेंद्र राठौड़ ने लाल डायरी की बात उठाते हुए कहा कि डायरी की बात आई तो उत्तेजना का वातावरण बना और उसी समय अचानक से मदन दिलावर को निलंबित कर दिया गया।

मेरा निवेदन है कि हमारे मदन दिलावर जी का फोटो में देख लीजिए। फोटो में देखकर आप फैसला कीजिए उनका ऐसा कोई कृत्य नहीं है।

5वीं विधानसभा का आखिरी सत्र हम गरिमा पूर्ण आधार पर समाप्त करना चाहते हैं। हम चाहते आपके साथ फोटोग्राफी में भी रहे, डायरी यहां पर आती है और उसे छीनकर ले जाए जाता है

और जैसे ही सदन में राठौड़ ने डायरी का जिक्र किया तो डोटासरा और महेश जोशी ने भारी विरोध जताया। 

हंगामे के बीच विधानसभा में पास हुए 3 बिल

आज सदन का आखिरी दिन था विपक्ष के जोरदार हंगामे के बीच सदन में कृषि ऋण राहत आयोग बिल, महात्मा गाँधी दिव्यांग विश्वविद्यालय जोधपुर बिल और राजस्थान राज्य विद्युत शुल्क विधेयक पारित किए गएइस दौरान भादरा विधायक बलवान पूनियां ने कहा कि सरकार ऐसा विश्वविद्यालय हनुमानगढ़ में भी खोल दो न, वहां भी काफी दिव्यांग हैं। 

Must Read: मुख्यमंत्री जी आप राजस्थान संभालें, सत्ता जाने के डर से न्यायपालिका पर ऐसे बयान न दें

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :