राजेंद्र गुढ़ा ने फिर गरमाई सियासत: कहा- लाल डायरी जीत का नहीं, जेल का दावा, मैं इसे सौंपने को तैयार

कहा- लाल डायरी जीत का नहीं, जेल का दावा, मैं इसे सौंपने को तैयार
Rajendra Gudha
Ad

Highlights

राजेंद्र गुढ़ा ने कहा कि यदि ईडी, सीबीआई और इनकम टैक्स कार्रवाई करें, तो उन्हें लाल डायरी के पन्ने सौंपने में कोई दिक्कत नहीं है। उन्होंने कहा कि लाल डायरी के तीन पन्ने मैं पहले ही सार्वजनिक कर चुका हूं लेकिन, अब तक कोई एक्शन नहीं लिया गया है। 

जयपुर | पिछले दिनों ’लाल डायरी’ को लेकर राजस्थान की सियासत को हिलाने वाले कांग्रेस से बर्खास्त मंत्री राजेंद्र गुढ़ा (Rajendra Gudha) ने एक बार फिर से सियास को गरमा दिया है। 

राजस्थान में अगले महीने 25 नवंबर को विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग होने जा रही है। 

जिसके चलते पहले ही राजसी माहौल गरमाया हुआ है। इसी बीच राजेंद्र गुढ़ा ने भी इसमें लाल डायरी की मिर्ची का तड़का लगाकर और गरमा दिया है। 

अभी तक कांग्रेस नेताओं को ललकारने वाले गुढ़ा ने इस बार पार्टी के आलाकमानों को भी लपेटे में ले लिया है। 

राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने एक बार फिर से कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि मल्लिकार्जुन खरगे साहब कांग्रेस की जीत का दावा कर रहे हैं लेकिन, उस लाल डायरी में जीत का दावा नहीं, जेल का दावा है। 

उन्होंने कहा कि लाल डायरी में कई ऐसे राज छिपे हुए हैं, जिनके सामने आते ही कई नेताओं पर गाज गिरेगी। 

तभी तो कांग्रेस अध्यक्ष खरगे और पीएम मोदी भी इसका बार-बार जिक्र कर रहे हैं।

आपको बता दें कि उदयपुरवाटी से विधायक राजेंद्र ने हाल ही में कांग्रेस से नाता तोड़कर शिवसेना का दामन थाम लिया है। 

एक्शन ले तो लाल डायरी के पन्ने सौंप देंगे

गुढ़ा ने मीडिया से ये भी कहा कि यदि ईडी, सीबीआई और इनकम टैक्स कार्रवाई करें, तो उन्हें लाल डायरी के पन्ने सौंपने में कोई दिक्कत नहीं है। 

उन्होंने कहा कि लाल डायरी के तीन पन्ने मैं पहले ही सार्वजनिक कर चुका हूं लेकिन, अब तक कोई एक्शन नहीं लिया गया है। 

यदि केंद्रीय जांच एजेंसियां मुझे विश्वास दिलाए कि दूध का दूध और पानी का पानी कर दिया जाएगा तो मैं एक मिनट में उन्हें लाल डायरी सौंपने को तैयार हूं।

अशोक गहलोत हासिल करना चाहते हैं लाल डायरी

विधानसभा में लाल डायरी लहराने वाले राजेंद्र गुढ़ा ने कहा कि लाल डायरी को हासिल करने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत  (Ashok Gehlot)भी तरह-तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। 

लाल डायरी को हासिल करने के लिए मेरे ऊपर क्या जुल्म और सितम नहीं किए जा रहे। वो जो भी कर सकते हैं वो सब किया जा रहा है। 

मेरे खिलाफ षड़यंत्र रचकर कई मामले भी दर्ज करवाए जा चुके हैं लेकिन, मैं इनसे डरने वाला नहीं हूं। 

Must Read: कोटा में 3 दिन के भीतर दूसरा सुसाइड, फंदे से लटकी मिली नीट की छात्रा

पढें क्राइम खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :