Sirohi Rajasthan : सिरोही में 17 वर्षीय नाबालिग का अपहरण और गैंगरेप: मामले को दबाने की कोशिश, मंत्री ओटाराम देवासी का इस्तीफा मांगा

Ad

Highlights

पीड़िता के घरवालों ने बताया कि आरोपी भी उसी गांव के निवासी हैं और उनके परिजन पीड़िता के घर पहुंचकर मामले को दबाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने 10 लाख रुपये देकर मामले को रफा-दफा करने की पेशकश की, जिसे पीड़िता के परिवार ने सख्ती से ठुकरा दिया। अब पूरा गांव पीड़ित परिवार के साथ खड़ा हो गया है।

सिरोही | जिले के पालड़ी एम थाना क्षेत्र में एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है, जहां रास्ता पूछने के बहाने दो युवकों ने 17 साल की एक लड़की का अपहरण कर लिया। इसके बाद चलती कार में नाबालिग के साथ गैंगरेप किया गया। आरोपी रात 1 बजे पीड़िता को गांव के बाहर छोड़कर फरार हो गए। पीड़िता के घरवालों ने बताया कि आरोपी भी उसी गांव के निवासी हैं और उनके परिजन मामले को दबाने के लिए 10 लाख रुपये देकर समझौता करने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि, पीड़िता के घरवालों ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया और पूरा गांव उनके साथ खड़ा हो गया है।

घटना का विवरण
शिवगंज डीएसपी भवानी सिंह के अनुसार, 3 जुलाई को एक व्यक्ति ने नाबालिग लड़की से गैंगरेप का मामला दर्ज कराया है। रिपोर्ट के अनुसार, 2 जुलाई की रात करीब 11 बजे दो युवक एक गाड़ी लेकर आए और घर का दरवाजा खटखटाया। 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली लड़की ने दरवाजा खोला, तो युवकों ने एक गांव का नाम लेकर रास्ता पूछा। जैसे ही लड़की ने घर के बाहर कदम रखा, युवकों ने उसका मुंह दबाया और उसे कार में डालकर वहां से ले गए।

कार में गैंगरेप
कार के शीशे बंद होने के कारण लड़की की चीखें बाहर नहीं सुनाई दीं। आरोपी गांव के बाहर ले जाकर चलती गाड़ी में उसके साथ गैंगरेप किया। इस दौरान उसके कपड़े भी फाड़ दिए। रात 1 बजे के बाद उसे गांव के बाहर छोड़कर आरोपी फरार हो गए। बदहवास हालत में रोते हुए लड़की घर पहुंची और सुबह 5:30 बजे उठकर अपने परिवार को पूरे घटनाक्रम के बारे में बताया।

कानूनी कार्रवाई और मेडिकल जांच
3 जुलाई को नाबालिग को लेकर उसके पिता सिरोही एसपी ऑफिस पहुंचे, जहां से उन्हें पालड़ी एम थाना भेजा गया और मामला दर्ज किया गया। पुलिस ने पालड़ी एम के अस्पताल में पीड़िता का मेडिकल परीक्षण भी कराया।

मामले को दबाने का प्रयास
पीड़िता के घरवालों ने बताया कि आरोपी भी उसी गांव के निवासी हैं और उनके परिजन पीड़िता के घर पहुंचकर मामले को दबाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने 10 लाख रुपये देकर मामले को रफा-दफा करने की पेशकश की, जिसे पीड़िता के परिवार ने सख्ती से ठुकरा दिया। अब पूरा गांव पीड़ित परिवार के साथ खड़ा हो गया है।

यह घटना समाज को झकझोर देने वाली है और पुलिस मामले की गंभीरता से जांच कर रही है। आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं।

Must Read: राजस्थान में महिला से फिर दरिंदगी, अपहरण के बाद गैंगरेप, आपत्तिजनक हालत में लोगों से मांगी मदद

पढें क्राइम खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :