कृषि: कृषि में नवाचार अपनाकर अपनी आय करे तिगुना — कृषि मंत्री डॉ. किरोड़ी लाल मीना

कृषि में नवाचार अपनाकर अपनी आय करे तिगुना — कृषि मंत्री डॉ. किरोड़ी लाल मीना
Triple your income by adopting innovation in agriculture – Agriculture Minister
Ad

Highlights

कृषि, उद्यानिकी एवं ग्रामीण विकास मंत्री डॉ. किरोड़ी लाल मीना की अध्यक्षता में सोमवार को सवाई माधोपुर जिले के मीणा हाईकोट अजनोटी एवं राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय चकेरी में 'मंत्री आपके द्वार' एवं जनसुनवाई कार्यक्रम आयोजित हुआ।

जयपुर। कृषि, उद्यानिकी एवं ग्रामीण विकास मंत्री डॉ. किरोड़ी लाल मीना की अध्यक्षता में सोमवार को सवाई माधोपुर जिले के मीणा हाईकोट अजनोटी एवं राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय चकेरी में 'मंत्री आपके द्वार' एवं जनसुनवाई कार्यक्रम आयोजित हुआ।
 
इस अवसर पर कृषि मंत्री डा. मीना ने कहा कि आमजन के द्वार पर जाकर उनकी सुनवाई कर राहत प्रदान करना सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे पूर्ण संवेदनशीलता के साथ सुनवाई कर उन्हें निर्धारित समयावधि में प्रकरणों का निस्तारण कर राहत प्रदान करें।

Triple your income by adopting innovation in agriculture – Agriculture Minister

इस दौरान उन्होंने चेकरी में 10 लाख रूपए की लागत से किसान सेवा केन्द्र बनाने तथा चकेरी के ग्रामीणों की मांग 132 जीएसएस राज्य सरकार से स्वीकृत कराने की घोषणा की।
 
उन्होंने जनसुनवाई में आए सभी समस्याओं के शीघ्र निस्तारण के निर्देश संबंधित अधिकारी को दिए है। उन्होंने चकेरी ग्राम वासियों की पेयजल की समस्या का निराकरण सात दिवस में करने के निर्देश दिए।
 
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत सोलर प्लान्ट लगाने पर 60 प्रतिशत एवं पॉली हाउस लगाने पर 95 प्रतिशत तक अनुदान कृषकों को देती है। लघु एवं सीतान्त किसानों को 95 प्रतिशत अनुदान पर कृषक हिस्सा राशि 10 लाख 17 हजार 200 रूपये जमा करानी होती है। जिसकी कुल लागत अनुमानित 42 लाख रूपये है।
उन्होंने कहा कि कृषक परम्परागत खेती के स्थान पर खेती में नवाचार कर अपनील आय को दुगुना-तिगुना कर सकते हैं। उन्होंने कृषि एवं उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों को ग्रामीणों को केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के लाभ एवं पात्रता की जानकारी किसान संगोष्ठी के माध्यम से प्रदान करने के निर्देश भी दिए।
 
उन्होंने कृषि, उद्यानिकी एवं आत्मा के अधिकारियों के माध्यम से उपस्थित ग्रामीणों को कृषि विभाग से संबंधित सभी योजनाओं एवं उनके लाभों के बारे में जानकारी प्रदान की। उन्होंने कृषकों के अनुरोध किया कि वे उनकी आय बढ़ाने के लिए पॉलिसी हाउस, शैडनेट, कृषि में नवाचार कर अपनी आय तिगुनी करें।
 
इस दौरान उन्होंने उद्यानिकी विभाग की योजनाओं मधुमक्खी पालन, जल स्रोतों का विकास, बाजार के बुनियादी ढांचे का सृजन, फूलों के नये बगीचों की स्थापना, ड्रिप सिंचाई उर्वकर्कीकरण, राष्ट्रीय बागवानी मिशन आदि कृषि एवं उद्यानिकी विभाग से संबंधित योजनाओं के लाभ एवं पात्रता की जानकारी उपस्थित ग्रामीणों को दी।

Must Read: जालोर में विशाल ’किसान सम्मेलन’ का आयोजन, मंत्री-विधायक बने श्रोता और किसान बने वक्ता 

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :