क्या पार्टी से करेंगे किनारा: यूनुस खान का टिकट कटने के बाद सामने आया पहला बयान, कहा- जनता फैसला करेगी

Ad

Highlights

भाजपा की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे  (Vasundhara Raje) के खास करीबी राजपाल सिंह शेखावत का टिकट कटने के बाद अब यूनुस खान और अशोक परनामी पर भी तलवार लटकी हुई है। 

जयपुर | राजस्थान में टिकट को लेकर भारतीय जनता पार्टी में राजनीति गरमाती जा रही है।

भाजपा की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे  (Vasundhara Raje) के खास करीबी राजपाल सिंह शेखावत का टिकट कटने के बाद अब यूनुस खान और अशोक परनामी पर भी तलवार लटकी हुई है। 

ऐसे में यूनुस खान (Yunus Khan)  ने भी अपनी नाराजगी जता दी है और उन्होंने भी बगावती संकेत दे दिए हैं। 

सियासी गलियारों में तो ये खबर भी फैली हुई है कि  यूनुस खान अन्य राजनीतिक दल के संपर्क में हैं और अगर उन्हें टिकट नहीं दिया जाता है तो वे पार्टी से किनारा भी कर सकते हैं। 

सियासी गलियारों में खबर ये भी है कि नागौर में अल्पसंख्यक वोटों को रिझाने के लिए आरएलपी सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) यूनुस खान का सहारा ले सकते हैं। 

हालांकि, यूनुस खान की ओर से इस बारे में अभी कोई बयानबाजी  नहीं की गई है।  

लेकिन टिकट कटने के बाद उन्होंने अपने समर्थकों के बीच पहले संबोधन में कहा है कि इसका फैसला जनता करेगी। 

गौरतलब है कि यूनुस खान डीडवाना से विधायक होने के साथ-साथ नागौर जिले में अल्पसंख्यक चेहरे के रूप में बेहद लोकप्रिय हैं। 

Must Read: राजस्थान को लेकर प्रदेश प्रभारी से मैराथन चर्चा, गहलोत—पायलट से होनी थी बैठक, गहलोत दिल्ली गए नहीं

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :