बारिश कहर: राजस्थान में नदी-नाले उफान पर, हिमाचल में 5 लोगों की मौत, हाईवे बंद, पुल-मकान बहे

राजस्थान में नदी-नाले उफान पर, हिमाचल में 5 लोगों की मौत, हाईवे बंद, पुल-मकान बहे
Ad

Highlights

राजस्थान में पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा हनुमानगढ़ के संगरिया में करीब 6 इंच बारिश हुई। यहां घरों के बाहर एक-एक फीट तक पानी भर गया। हिमाचल प्रदेश में बारिश कहर बरपा रही है। शिमला में एक मकान गिर गया। इस हादसे में 3 लोगों की मौत हो गई है...

Jaipur | मानसून ( Monsoon 2023) के बादलों ने अब देश के कई राज्यों में तांडव मचाना शुरू कर दिया है। 

भारी बारिश के चलते कई राज्यों में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। पहाड़ी राज्यों में लगातार भूस्खलन हो रहा है। 

बारिश से सबसे ज्यादा हिमाचल प्रदेश प्रभावित हो रहा है। राज्य में लगभग सभी क्षेत्रों में बारिश के पानी ने तबाही मचाई है। 

बारिश के चलते राज्य में रविवार को 5 लोगों की मौत होने की खबर सामने आई है। 

वहीं दूसरी ओर, राजस्थान में भी भारी बारिश का दौर लगातार जारी है। जिसके चलते कई बांध लबालब हो गए हैं। 

नदी-नाले उफान मार रहे हैं। कई बांधों पर चादर चलने से पानी ने निचले इलाकों में कहर बरपा दिया है।

प्रदेश के हनुमानगढ़, झुंझुनूं, सीकर में जोरदार बारिश के कारण शहरों व कस्बों में सड़कें नदियां बन गईं और बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं। 

राजस्थान में पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा हनुमानगढ़ के संगरिया में करीब 6 इंच बारिश हुई। यहां घरों के बाहर एक-एक फीट तक पानी भर गया।

इसके अलावा सीकर, सिरोही, सवाई माधोपुर, झुंझुनूं, पाली,  गंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू, डूंगरपुर और अजमेर के अलावा राजधानी जयपुर में भी बादल जमकर बरसे हैं। 

बीती रात सीकर के नवलगढ़ रोड पर एक इंच बारिश से सड़कें दरिया में तब्दील हो गईं।

वहीं, गंगापुर सिटी के बामनवास सरकारी अस्पताल में पानी भरने से मरीजों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी है। 

वहीं, मौसम विभाग ने ताजा अलर्ट जारी करते हुए प्रदेश के कई हिस्सों में  अगले 24 से 48 घंटों में भारी बारिश की आशंका जताई है।

हिमाचल में बरप रहा कहर

हिमाचल प्रदेश में बारिश कहर बरपा रही है। शिमला में एक मकान गिर गया। इस हादसे में 3 लोगों की मौत हो गई है तो  कुल्लू में एक महिला और रामपुर में एक व्यक्ति की जान चली गई  है। 

बाहंग में ब्यास नदी में तीन दुकानें बह गई। 

कुल्लू में ब्यास के साथ पार्वती और तीर्थन नदी उफान पर हैं। बारिश से पहाड़ खिसक रहे हैं। भूस्खलन की वजह से कई हाईवे बंद हो गए हैं। 

सड़कें तो दूर की बात है रेलवे ट्रेक तक बह गए हैं। 

बाहंग में खतरे को देखते हुए इलाके को खाली करवाया जा रहा है। पंडोह बांध के गेट खोलने से ब्यास में बाढ़ आ गई है। पंडोह में जलभराव हो गया है। बाढ़ जैसे हालात हैं। ब्यास नदी ओट में पुल के ऊपर से गुजर रही है। 

Must Read: सुबह-सुबह खेत में ट्रैक्टर चलाते नजर आए राहुल गांधी, पेंट को ऊपर चढ़ाकर खेतों में रोपा धान

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :