सुरक्षा दावों पर उठाए सवाल: चलती ट्रेन में शराबियों के बीच फंस गईं ’आप’ नेता गायत्री बिश्नोई, वीडियो जारी कर बताई आपबीती

Ad

Highlights

’आप’ नेत्री गायत्री बिश्नोई ने सफर पर निकली ट्रेन में चल रही शराब पार्टी का आंखों देखा हाल दुनिया के सामने रख दिया है।  उन्होंने ट्रेन के अंदर चल रही असामाजिक यात्रियों की कारगुज़ारी का पर्दाफ़ाश करते हुए एक वीडियो भी रिकॉर्ड कर इस बाबत लोगों और रेलवे प्रशासन को अवगत कराया है। 

जयपुर | आम आदमी पार्टी राजस्थान की महिला मोर्चे की प्रदेशाध्यक्ष गायत्री बिश्नोई ने भारतीय रेलवे की ट्रेनों में सुरक्षा इंतजामों के दावों की पोल खोलकर रख दी है।

’आप’ नेत्री गायत्री बिश्नोई ने सफर पर निकली ट्रेन में चल रही शराब पार्टी का आंखों देखा हाल दुनिया के सामने रख दिया है।  उन्होंने ट्रेन के अंदर चल रही असामाजिक यात्रियों की कारगुज़ारी का पर्दाफ़ाश करते हुए एक वीडियो भी रिकॉर्ड कर इस बाबत लोगों और रेलवे प्रशासन को अवगत कराया है। 

ये पूरा माजरा जयपुर से श्रीगंगानगर जा रही ट्रेन का है, जिसमें आप नेत्री गायत्री बिश्नोई भी सफर कर रही थीं। 

इस दौरान उन्होंने ट्रेन में चल रही असामाजिक गतिविधियों को उजागर कर दिया।

बिश्नोई ने बताया कि ट्रेन की एसी सेकंड क्लास तक की सुरक्षित माने जाने वाले कोच में असामाजिक तत्वों के हौंसले बुलंद हैं।

बिश्नोई ने रात करीब एक बजे इस पूरी घटना की लाइव रिकॉर्डिंग कर बताया कि उनकी सीट के नजदीक तीन-चार लोग बेखौफ होकर शराब पी रहे हैं और गाली-गलौच कर रहे है। 

ऐसे में उनसे परेशान होकर जब कुछ यात्रियों ने उन्हें टोका तो ये उन्हें ही धमकाने लगे। बिश्नोई ने रेलवे के सुरक्षा इंतजामों के दावों की पोल खोलते हुए कहा कि पूरी ट्रेन में सुरक्षा के नाम पर एक भी आरपीएफ का जवान या कोई अन्य सुरक्षा इंतज़ाम नहीं है। 

’आप’ नेत्री ने इस घटना की रिकॉर्डिंग को रेलवे से लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय तक टैग करते हुए सोशल मीडिया पर साझा किया है। 

उन्होंने वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि...

केवल महिला ही नहीं कोई भी यात्री @IRCTCofficial में सुरक्षित नहीं है। बड़ी हैरानी की बात है, रात को 1 बजे ट्रेन में कुछ बदमाश खुलेआम नशे का सेवन कर, गंदी गालियों से यात्रियों को परेशान कर रहे है, मैंने complain करने की कोशिश करी तो पाया की पूरी ट्रेन में एक भी आरपीएफ़ / जेआरपीएफ तैनात नहीं है। 

मेरे टीटी द्वारा complain करने पर 1 घंटे बाद पुलिस आती है। इसी बीच बदमाश मुझे धमकियाँ दे रहे होते है। वो तो सहायक passengers की मदद से में पूरे मामले में पुलिस के आने तक डटी रही । पर यदि इस 1 घंटे के दौरान कोई दुर्घटना घट जाती तो उसका ज़िम्मेदार कौन होता ? 

आपको बता दें कि इससे पहले भी कई बार ’आप’ नेत्री गायत्री बिश्नोई ने महिला सुरक्षा को लेकर झूठे दावों पर सरकार पर सवाल उठाए हैं। 

Must Read: 200 किलो सोने-चांदी की पालकी पर विराजी माता गणगौर, 100 से ज्यादा कलाकारों ने बिखेरी छटा

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :