3 बार विधायक, सरकार में रहे मंत्री: भाजपा के पूर्व मंत्री का नाम आया ’आजाद समाज पार्टी’ की लिस्ट में, सामने आई तो खुला राज

भाजपा के पूर्व मंत्री का नाम आया ’आजाद समाज पार्टी’ की लिस्ट में, सामने आई तो खुला राज
Ad

Highlights

आजाद समाज पार्टी ने आज अपने 6 प्रत्याशियों के नामों की लिस्ट जारी की है। जिसमें भाजपा के नेता रोहिताश शर्मा का नाम भी है। इनकों पार्टी ने बानसूर से अपना प्रत्याशी बनाया है।

जयपुर | राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर चल रही टिकटों की माथापची के बीच एक भाजपा नेता के आजाद समाज पार्टी की लिस्ट में नाम आने के बाद सियासी हड़कंप मच गया है। 

पिछले दिनों ही भाजपा ने अपने 41 प्रत्याशियों की पहली सूची जारी की थी। जिसके बाद से टिकट कटने के चलते कई नेताओं ने बगावती तेवर दिखाए हुए हैं। 

ऐसे में गुरूवार को राजस्थान में ’आजाद समाज पार्टी’ ने भी अपने प्रत्याशियों की दूसरी लिस्ट जारी करते हुए सियासी माहौल को गरमा दिया है। 

आजाद समाज पार्टी ने आज अपने 6 प्रत्याशियों के नामों की लिस्ट जारी की है। जिसमें भाजपा के नेता डॉ. रोहिताश शर्मा का नाम भी है। इनकों पार्टी ने बानसूर से अपना प्रत्याशी बनाया है।

बता दें कि बानसूर से भाजपा के टिकट की दावेदारी पूर्व मंत्री डॉ. रोहिताश शर्मा कर रहे थे, लेकिन भाजपा ने उनका टिकट काट दिया। रोहिताश शर्मा को वसुंधरा राजे  (Vasundhara Raje) का समर्थक माना जाता है । वे भैरो सिंह सरकार में परिवहन मंत्री भी रह चुके हैं । अनुशासनहीनता के आरोप में बीजेपी ने  डॉ. शर्मा को 2021 में 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया था।

रमा पायलट को दी थी चुनावों में मात 

रोहिताश शर्मा कोटपूतली-बहरोड जिले के बानसूर विधानसभा क्षेत्र से लगातार तीन बार विधायक रह चुके हैं। शर्मा 1985 में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा और चुनाव हार गये। 1993 में निर्दलीय चुनाव लड़ा और पूर्व केन्द्रीय मंत्री राजेश पायलट की पत्नी एवं सचिन पायलट की मां रमा पायलट को हराकर पहली बार विधानसभा पहुंचे।

डॉ. शर्मा 2002 के उपचुनाव और 2008 के आम चुनाव में भाजपा के टिकट पर बानसूर से विधायक बने। हालांकि, 2013 में डॉ. शर्मा ने बीजेपी से कांग्रेस की शकुंतला रावत के खिलाफ चुनाव लड़ा और हार गए

टिकट नहीं मिलने से नाराज थे पूर्व मंत्री

आपको बता दें कि, भाजपा ने अपने प्रत्याशियों की जो पहली लिस्ट जारी की है उसमें बानसूर से देवी सिंह शेखावत को अपना प्रत्याशी बनाया है। 

जबकि, इस सीट से पूर्व मंत्री रोहिताश शर्मा टिकट की मांग कर रहे थे, लेकिन देवी सिंह को टिकट देने से नाराज पूर्व मंत्री रोहिताश शर्मा ने ’आजाद समाज पार्टी’ का दामन थाम लिया है। 

2018 में  रोहिताश शर्मा बानसूर में लगातार सक्रिय थे। लेकिन, पार्टी ने 2018 के चुनाव में बानसूर की बजाय थानागाजी से मैदान में उतारा लेकिन वह भारी अंतर से चुनाव हार गये। 

पहले नहीं मिला था देवी सिंह को भाजपा से टिकट

आपको ये भी बता दें कि पिछले 2018 के चुनावों में देवी सिंह ने भाजपा से टिकट मांगा था, तब भाजपा ने उन्हें टिकट नहीं देकर उनकी जगह महेंद्र कुमार यादव भरोसा जताया था। 

तब देवी सिंह भी टिकट नहीं मिलने से खफा होकर निर्दलय मैदान में उतर गए थे, लेकिन अबकी बार उन्हें भाजपा में टिकट मिल गया है। 

आजाद समाज पार्टी ने दूसरी लिस्ट में इन नेताओं को सौंपी कमान

- अलवर के तिजारा से उम्मीदराम, 
- अलवर के बानसूर से रोहिताश शर्मा, 
- हनुमानगढ़ के भादरा से मुकेश चोपड़ा, 
- चुरु के सादुलपुर से सत्यवान सिंह, 
- भरतपूर की नगर से नेम सिंह, 
- सिरोही से मोतीलाल हीरागर ।

b1d3aff9 4bda 4286 9e0c 1cdc7ffb6c82 | Sach Bedhadak

Must Read: कांग्रेस के सुधरते माहौल के बीच मंत्री गोविंदराम मेघवाल का दावा- मुझे खरीदने के प्रयास, मौजूद है रिकॉर्डिंग

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :