5 करोड़ की धोखाधड़ी का आरोप: गहलोत सरकार के कैबिनेट मंत्री रामलाल जाट के खिलाफ केस दर्ज, पिछली सरकार में भी गंवाना पड़ा था मंत्री पद

गहलोत सरकार के कैबिनेट मंत्री रामलाल जाट के खिलाफ केस दर्ज, पिछली सरकार में भी गंवाना पड़ा था मंत्री पद
Ad

Highlights

काफी लंबे समय से पुलिस भी इस मामले पर कोई कार्रवाई करने से बच रही थी, लेकिन आखिरकार पुलिस ने मामला दर्ज की इसकी जांच सीआईडी सीबी को सौंप दी है। 

जयपुर | राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव 2023 से पहले अशोक गहलोत सरकार के एक मंत्री ने सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी है। 

सरकार के राजस्व मंत्री रामलाल जाट पर 5 करोड़ रुपए से अधिक की धोखाधड़ी, चोरी, आपराधिक षडयंत्र रचने, धमकी देने सहित विश्वासघात के आरोप लगे हैं। 

इस संबंध में परमेश्वर जोशी की शिकायत पर पुलिस ने गहलोत के मंत्री रामलाल जाट समेत 5 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। 

काफी लंबे समय से पुलिस भी इस मामले पर कोई कार्रवाई करने से बच रही थी, लेकिन आखिरकार पुलिस ने मामला दर्ज की इसकी जांच सीआईडी सीबी को सौंप दी है। 

पिछली सरकार में गंवाना पड़ा था मंत्री पद

अशोक गहलोत सरकार में कैबिनेट मंत्री रामलाल जाट का विवादों से भी पुराना नाता रहा है। 

इससे पहले भी पिछली सरकार में भी एक महिला के कारण विवाद में फंसे रामलाल जाट को मंत्री पद से हाथ धोना पड़ा था।

आसींद डीएसपी योगेश शर्मा के मुताबिक, परमेश्वर जोशी मूल रूप से राजसमंद के झीलवाड़ा हाल मुंबई निवासी ने करेड़ा पुलिस थाने में मंत्री रामलाल जाट समेत 5 अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है। 

इन पर भी दर्ज हुआ केस 

न्यायालय के आदेश पर मंत्री रामलाल जाट के अलावा पूरणमल गुर्जर, महिपाल सिंह, सूरज जाट और महावीर प्रसाद चौधरी के खिलाफ केस दर्ज किया है। 

जिसकी जांच अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस सीआईडी अपराध शाखा के आदेश के बाद सीआईडी सीबी जयपुर पुलिस मुख्यालय को सौंपी गई है।

ये है पूरा मामला

राजसमंद के झीलवाड़ा हाल मुंबई निवासी परमेश्वर जोशी ‘मैसर्स अरावली ग्रैनी’ के नाम से खनन व्यवसाय चलाते हैं। परिवादी जोशी ने रघुनाथपुरा तहसील करेड़ा गांव में माइनिंग लीज संख्या 67/12 ली।

रजिस्ट्रेशन के दौरान कंपनी के मालिक श्याम सुंदर गोयल व चंद्रकांत शुक्ला थे। 

कंपनी के रजिस्ट्रेशन से पूर्व परिवादी जोशी ने श्याम सुंदर गोयल व चंद्रकांत शुक्ला से 10 करोड़ रुपए की डिमांड की थी। इस पर गोयल व शुक्ला ने 5 करोड़ में कंपनी के 50 प्रतिशत शेयर जोशी की पत्नी भव्या को हस्तांतरित कर दिए थे। 

जबकि शेष शेयर राजस्व मंत्री रामलाल को 5 करोड़ रुपये में बेचना तय था लेकिन, मंत्री ने ये शेयर अपने रिश्तेदार मोना चौधरी और सुरेश जाट के नाम पर ट्रांसफर करवाने और 5 करोड़ रुपए देने की बात कही थी।

उस समय मंत्री जाट ने पांच करोड़ रुपए देने का भरोसा दिलाया, लेकिन बाद में पैसा देने में आनाकानी की।

परमेश्वर जोशी का आरोप है कि राजस्व मंत्री रामलाल जाट ने  उसकी माइंस को विस्फोट से उड़ा देने और उसे जान से मारने की धमकी देकर उसे लीज सरेंडर कर व सांझेदारी करने का दबाव बनाया। 

इस संबंध में साल 2022 में पुलिस महानिदेशक, अजमेर रेंज पुलिस महानिरीक्षक व भीलवाड़ा पुलिस अधीक्षक को रिपोर्ट दी गई थी। 

जिसमें बताया गया था कि उसने वर्ष 2014 से ग्रेनाइट की माइंस लीज पर ली थी। लेकिन महिपाल पुरोहित, सूरज जाट व महावीर चौधरी ने कब्जा करने की नीयत से उसकी माइंस पर साल 2021 मे अवैध रूप से माइनिंग शुरू कर दी। 

जिस पर परिवादी ने अवैध माइनिंग करने वालों से बात की तो  उन्होंने राजस्व मंत्री रामलाल जाट हवाला देकर उसे धमकाया।

परिवादी जोशी का आरोप है कि 16 जून 2022 को पूरण गुर्जर करीब 10 लोगों के उसकी माइंस पर आया और करीब 5 करोड़ की मशीनरी चुरा कर ले गया। 

इस चारी की पूरी रिकॉर्डिंग भी मौजूद है लेकिन पुलिस मंत्री और उनके साथियों पर कार्रवाई करने से बच रही है। 

पुलिस भी परिवादी को धमका रही है और कह रही है कि अगर मामला दर्ज हो भी गया तो एफआर लगा देंगे।

भीलवाड़ा जिले की अधीनस्थ कोर्ट के एफआईआर का आदेश नहीं देने के बाद परिवादी जोशी ने राजस्थान हाईकोर्ट में याचिका दायर कर मुकदमा दर्ज करने का आदेश देने का आग्रह किया था। 

जिस पर हाईकोर्ट ने एक अगस्त 2023 को अधीनस्थ अदालत को निर्देश दिया था कि सम्बंधित थाने को मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिए जाएं।

Must Read: कांग्रेस विधायक कृष्णा पूनिया की बढ़ी मुश्किलें, CBI ने थमा दिया वारंट

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :