जयपुर-मुंबई सुपरफास्ट एक्सप्रेस फायरिंग: राजस्थान के थे गोलीबारी में जान गंवाने वाले ASI टीका राम, जयपुर से रवाना हुए थे 2 मृतक भी

राजस्थान के थे गोलीबारी में जान गंवाने वाले ASI टीका राम, जयपुर से रवाना हुए थे 2 मृतक भी
Jaipur-Mumbai Superfast Express Firing
Ad

Highlights

गोलीबारी में मारे गए AIS टीका राम मीणा (Tika Ram Meena) राजस्थान के सवाई माधोपुर जिले के थे। वे जिले के श्यामपुरा गांव के रहने वाले थे। गोली लगने के बाद उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

जयपुर  |  जयपुर-मुंबई सुपरफास्ट एक्सप्रेस में सोमवार सुबह हुई फायरिंग की खौफनाक वारदात ने पूरे देश को हिला दिया है। 

इस सनसनीखेज वारदात में 4 लोगों की मौत हो गई है और कई घायल भी है। 

हालांकि पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए फायरिंग करने वाले आरोपी कॉन्स्टेबल चेतन कुमार चौधरी को गिरफ्तार कर लिया है। 

सवाई माधोपुर के थे गोलीबारी में मरने वाले ASI

जानकारी में सामने आया है कि गोलीबारी में मारे गए AIS टीका राम मीणा (Tika Ram Meena) राजस्थान के सवाई माधोपुर जिले के थे।

वे जिले के श्यामपुरा गांव के रहने वाले थे। वे घर में इकलौते थे और 6 महीने बाद ही रिटायर होने वाले थे। गोली लगने के बाद उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

जयपुर से मुंबई जा रही ट्रेन में एएसआई टीकाराम एस्कॉर्ट प्रभारी थे और चेतन एस्कॉर्ट ड्यूटी पर तैनात था।

किसी बात को लेकर कॉन्स्टेबल का ASI से झगड़ा हो गया। जिसके बाद गुस्साएं कॉन्स्टेबल ने सर्विस गन से फायरिंग कर दी।

5-6 महीने बाद ही रिटायर होने वाले थे

ट्रेन में हुई फायरिंग में मारे गए टीकाराम मीणा एक महीने पहले ड्यूटी पर गए थे। वे 5-6 महीने बाद ही रिटायर होने वाले थे। 

घर में अब उनके पिता रामकरण मीणा के अलावा मां भूरी देवी, पत्नी बर्फी देवी और एक बेटा व बेटी हैं। 

बेटे दिलकुश मीणा की शादी हो चुकी है। वह प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी में जुटा हुआ है, जबकि बेटी पूजा शादी के बाद अपने ससुराल में है।

जयपुर से रवाना हुए थे मरने वाले दो यात्री

आज सुबह जयपुर- मुंबई सुपरफास्ट एक्सप्रेस में हुई फायरिंग की घटना में राजस्थान के एएसआई के अलावा तीन यात्रियों की भी मौत हो गई।

इनमें 3 मृतकों में से दो की पहचान कर ली गई है। बताया जा रहा है कि ये दोनों मृतक जयपुर से ट्रेन में रवाना हुए थे।

इनके नाम अब्दुल कादर भानपुरवाला और अजगर अब्बास अली बताए गए हैं। 

अजगर अब्बास अली मूल रूप से बिहार के रहने वाले थे जबकि अब्दुल कादर भानपुरवाला का पूरा परिवार दुबई में रहता है।

यात्रियों को लगा आतंकी हमला हुआ है

बता दें कि ट्रेन में फायरिंग की ये वारदात ट्रेन के कोच बी-5 में महाराष्ट्र के पालघर में वापी से बोरीवली-मीरा रोड के बीच हुई है। 

बताया जा रहा है कि सुबह करीब 5 से 5.30 के बीच गोलीबारी की घटना हुई। जिसमें 4 लोगों की मौत हो गई और कई घायल भी हैं जिनका इलाज चल रहा है।

चलती ट्रेन में अचानक से गोलियां चली तो यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई। गोलीबारी देखकर यात्रियों को लगा आतंकी हमला हुआ है। 

यात्रियों के अनुसार, बोगी में जगह-जगह खून ही खून फैला हुआ था और उनके पास में ही लाशें पड़ी थी।

वहीं घटना के बाद सभी शवों को बोरीवली स्टेशन पर उतारा गया. इधर कॉन्स्टेबल चेतन को गिरफ्तार तो कर लिया गया है लेकिन घटना के पीछे की वजह अभी तक सामने नहीं आई है. वहीं मामले की जांच त्च्थ् ने शुरू कर दी है.

मृतकों के परिजनों को सहायता राशि का ऐलान

इस घटना पर वेस्टर्न रेलवे ने बेहद दुख जताया है और मृतकों के परिजनों के लिए सहायता राशि का भी ऐलान किया गया है।

पश्चिमी रेलवे के अनुसार, दिवंगत एएसआई के परिजनों को 15 लाख रुपए रेलवे सुरक्षा कल्याण निधि, 15 लाख रुपए मृत्यु या रिटायरमेंट निधि से दिए जाएंगे।

इनके अलावा मृतक के आश्रितों को 20 हजार रुपए अंतिम संस्कार के लिए और 65 हजार रुपए इंश्योरेंस योजना के तहत दिए जाएंगे।

आखिर जवान ने क्यों कि फायरिंग ?

चलती ट्रेन में फायरिंग करने वाले आरोपी आरपीएफ कॉन्स्टेबल के लिए कहा जा रहा है कि वह अपने ट्रांसफर की वजह से काफी परेशान था और मानसिक तनाव से ग्रसित था।

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो कॉन्स्टेबल चेतन का ट्रांसफर गुजरात से मुंबई कर दिया गया था, लेकिन उसका पूरा परिवार गुजरात में ही रहता है जिसके चलते वह काफी परेशान चल रहा था।

Must Read: गणतंत्र दिवस समारोह -2024, संभागों एवं जिला मुख्यालयों पर उप मुख्यमंत्री, केबिनेट मंत्री एवं राज्य मंत्री करेंगे ध्वजारोहण

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :