बर्थडे पर पीएम मोदी की मेट्रो यात्रा: लोगों के साथ खिंचवाई सेल्फी, गपशप भी की

लोगों के साथ खिंचवाई सेल्फी, गपशप भी की
Ad

Highlights

पीएम मेट्रो में सफर करने निकल पड़े। ऐसे में मेट्रो के अंदर सफर कर रहे यात्रियों का तो ठिकाना ही नहीं रहा। अपने बीच दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता और अपने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को देखकर लोग हैरान रह गए। 

नई दिल्ली | PM Narendra Modi Birthday: दुनिया में भारत का लौहा मनवाने वाले देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज 73 साल के हो गए हैं। 

जहां देश-दुनिया के लोग पीएम मोदी को उनके जन्म दिवस पर बधाईयां देने में लगे हुए हैं। वहीं पीएम मोदी तो कुछ और ही काम में बिजी दिखे। 

रविवार को अपने जन्मदिन के अवसर पर पीएम मोदी दिल्ली में मेट्रो की सवारी करते नजर आए।

पीएम मोदी ने आज सुबह द्वारका सेक्टर 21 से नए मेट्रो स्टेशन ’यशोभूमि द्वारका सेक्टर 25’ तक दिल्ली एयरपोर्ट मेट्रो एक्सप्रेस लाइन के विस्तार का उद्घाटन किया। यशोभूमि द्वारका सेक्टर-25 अंडर ग्राउंड स्टेशन है, जो सीधे शहर की जरूरी जगहों जैसे इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट के टर्मिनल 3 और नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से जुड़ा होगा।

इसके बाद पीएम मेट्रो में सफर करने निकल पड़े। ऐसे में मेट्रो के अंदर सफर कर रहे यात्रियों का तो ठिकाना ही नहीं रहा। अपने बीच दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता और अपने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को देखकर लोग हैरान रह गए। 

लोगों ने पीएम मोदी को जन्मदिन की बधाईयां दी और उनके साथ सेल्फी भी ली। इस दौरान महिला यात्रियों ने तालियां बजाकर और ‘हैप्पी बर्थडे मोदी जी’ गाकर उन्हें जन्मदिन की बधाई दी। 

ऐसे में पीएम मोदी भी पीछे कैसे रहने वाले हैं। पीएम ने भी लोगों के साथ सेल्फी खिंचवाई और उनसे बातचीत की।

बच्चों से हाथ मिलाया और उन्हें चॉकलेट दी। कई महिलाओं ने तो पीएम मोदी को सॉन्ग भी सुनाए। 

इंटरनेशनल कन्वेंशन और एक्सपो सेंटर यशोभूमि का इनॉगरेशन 

इसके बाद पीएम मोदी ने इंडिया इंटरनेशनल कन्वेंशन और एक्सपो सेंटर यशोभूमि (IICC) के पहले पार्ट का इनॉगरेशन किया। 

दिल्ली के द्वारका में बना यह दुनिया का सबसे बड़ा MICE (मीटिंग्स, इंसेंटिव, कॉन्फ्रेंस और एग्जीबिशन) सेंटर है।

देश को 'यशोभूमि' की सौगात देने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने वहां लोगों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि आज विश्वकर्मा जयंती का खास दिन पारंपरिक करीगरों और शिल्पकारों को समर्पित है।

हाथ के हुनर, औजारों और हाथ से काम करने वालों के लिए विश्वकर्मा योजना उम्मीद की नई किरण बनकर आ रही है।  इस योजना के साथ आज देश को इंटरनेशनल एग्जीबिशन सेंटर यशोभूमि भी मिला है।  जिस तरह का काम यहां हुआ है उसमें विश्वकर्मा भाई-बहनों का तप और तपस्या नजर आती है।  यशोभूमि देश के हर श्रमिक को समर्पित है। 

Must Read: ’बिकनी गर्ल्स के बीच भी उड़ती है राजस्थानी बिंदणी की पीली लुगड़ी... विदेशी भी लगाते हैं ठुमका

पढें मनचाही खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :