बड़ी कामयाबी! : NCB और ATS ने राजस्थान-गुजरात में 230 करोड़ रुपये की ड्रग्स पकड़ी, 13 गिरफ्तार

NCB और ATS ने राजस्थान-गुजरात में 230 करोड़ रुपये की ड्रग्स पकड़ी, 13 गिरफ्तार
Ad

Highlights

सुबह 4 बजे सिरोही, जोधपुर, गांधीनगर और अमरेली में छापेमारी की गई

राजस्थान के 6 और गुजरात के 7 लोगों को गिरफ्तार किया गया

4 हाईटेक नशा बनाने वाली लैब का भंडाफोड़ किया गया

जोधपुर/अहमदाबाद: नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) और गुजरात एटीएस की संयुक्त टीम ने एक बड़ी सफलता हासिल करते हुए राजस्थान-गुजरात सीमा पर 230 करोड़ रुपये की ड्रग्स पकड़ी है। इस अभियान में 13 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

शनिवार सुबह 4 बजे की गई कार्रवाई

यह कार्रवाई शनिवार सुबह 4 बजे की गई। टीम में राजस्थान एसओजी और एनसीबी के अधिकारी शामिल थे।

गुजरात डीजीपी ने दी जानकारी

गुजरात के डीजीपी विकास सहाय ने बताया कि एटीएस के डीएसपी एसएल चौधरी को करीब दो महीने पहले सूचना मिली थी कि अहमदाबाद निवासी मनोहर लाल और गांधीनगर निवासी कुलदीप सिंह ड्रग्स बनाने के लिए कच्चा माल लाकर लैब में एमडी ड्रग तैयार करते हैं। इस पर एटीएस ने एनसीबी के साथ मिलकर काम करना शुरू किया।

इन जगहों पर हुई रेड

एनसीबी और एटीएस की टीम ने आज जालोर के भीनमाल, जोधपुर के ओसियां और गुजरात के गांधीनगर और अमरेली में रेड डाली।

इन लोगों को किया गया गिरफ्तार

इस दौरान राजस्थान-गुजरात में कुल 13 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इनमें से 6 राजस्थान के हैं। गिरफ्तार किए गए लोगों में मनोहर कृष्णदास (अहमदाबाद), राजाराम (राजस्थान), बजरंगलाल (राजस्थान), नरेश (अहमदाबाद), कन्हैयालाल (अहमदाबाद), नितेश दवे (बनासकांठा), हरीश सोलंकी (वलसाड, गुजरात), दीपक सोलंकी (पाली), कुलदीप (पाली), सिद्धार्थ अग्रवाल (जोधपुर), रामप्रताप (ओसियां, जोधपुर), नितिन काबड़िया (अमरेली) और किरीट मंडाविया (अमरेली) शामिल हैं।

इस अभियान में 149 किलो एमडी, 50 किलो एफेड्रिन, 200 लीटर एसिटोन, 15 किलो एमडी और 100 लीटर लिक्विड एमडी, 500 ग्राम एमडी और 17 लीटर लिक्विड एमडी, 6.30 किलो एमडी और 4 लीटर लिक्विड एमडी बरामद किया गया है।

यह ड्रग्स 230 करोड़ रुपये की है

डीजीपी विकास सहाय ने बताया कि बरामद ड्रग्स की कीमत करीब 230 करोड़ रुपये है। पूछताछ के आधार पर पुलिस अब गैंग के मुख्य सरगना की तलाश कर रही है।

नशा बनाने वाली 4 लैब का पता चला

इस अभियान में 4 नशा बनाने वाली हाईटेक लैब का भी पता चला है। डीजीपी विकास सहाय ने कहा कि यह एक बड़ी सफलता है और इससे नशा तस्करी पर अंकुश लगाने में मदद मिलेगी।

सिरोही में हुई यह कार्यवाही

अनिल कुमार जिला पुलिस अधीक्षक सिराही के निर्देशन में पुलिस द्वारा अवैध मादक पदार्थों के विरुद्ध एटीएस गुजरात और एनसीबी जोधपुर के साथ संयुक्त कार्यवाही करते हुए पुलिस थाना कैलाशनगर के हल्का क्षेत्र में गांव लाटीवाडा बड़ा में दबिश देकर रगाराम मेघवाल के खेत में मैथड्रग्स बनाने की गुप्त फैक्ट्री का पर्दाफाश कर दिया है। संदिग्ध अभियुक्तों को डिटेन किया जाकर मौके पर तैयार लगभग 12 किलोग्राम (मैथ ड्रग्स) जब्त किया तथा लगभग 60 किलोग्राम (लिक्विड फॉर्म में सेमी प्रोसेस्ड मैथ) व ड्रग्स बनाने के केमिकल्स व उपकरण जब्त किए। उक्त खेप गुजरात राज्य व अन्य राज्यों तथा राजस्थान राज्य के विभिन्न स्थानों पर पहुंचाई जाने की तैयारी थी। उक्त जब्त ड्रग्स की बाजार कीमत करीब 50 करोड़ रुपये हैं।

अभियुक्तों का विवरण:

  1. रगाराम पुत्र नरसाराम उम्र 47 वर्ष जाति मेघवाल निवासी गांव लाटीवाडा बड़ा पुलिस थाना कैलाशनगर जिला सिराही।
  2. बजरंग विष्णोई पुत्र धनाराम विष्णोई उम्र 45 वर्ष निवासी गांव लियादरा थाना झाब तहसील सांचौर जिला सांचौर।

Must Read: भक्ति की ओर स्केटिंग: राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव के लिए सिमरन की अयोध्या की अनूठी यात्रा

पढें जालोर खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :