सिरोही Rajasthan: सिरोही जिला कांग्रेस ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप, निंदा प्रस्ताव पारित

Ad

सिरोही: जिला कांग्रेस कमेटी ने रविवार को एक बैठक आयोजित कर जिला पुलिस के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित किया। कांग्रेस ने पुलिस पर आरोप लगाया कि वह निर्दोष लोगों को अपराधी बनाने का षडयंत्र रच रही है और भाजपा के दबाव में आकर कार्य कर रही है।

पुलिस पर राजनीतिक षडयंत्र के आरोप
जिला कांग्रेस कमेटी ने आरोप लगाया कि पुलिस भाजपा के आकाओं को खुश करने के लिए पूज्य संत पोमजी महाराज की पत्नी के हत्यारों को गिरफ्तार करने के लिए न्याय की मांग करने आए फरियादियों के साथ अभद्रता कर रही है और उन पर झूठे मुकदमे दर्ज कर रही है।

संतु बाई हत्याकांड
कांग्रेस ने बताया कि शिवगंज तहसील के खन्दरा गांव स्थित बाबा रामदेव आश्रम मठ के पूज्य सन्त पोमजी महाराज की पत्नी सतु बाई की हत्या का मामला पुलिस थाना शिवगंज में दर्ज है। इस हत्याकांड के आरोपी पिछले दो महीनों से गिरफ्तार नहीं किए गए हैं, जिससे जिले में नाराजगी है। इसी के चलते 28 जून को शांति पूर्वक धरना प्रदर्शन किया गया था, लेकिन पुलिस ने भाजपा के दबाव में आकर प्रदर्शनकारियों के खिलाफ झूठे मुकदमे दर्ज कर दिए।

लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन
जिला कांग्रेस कमेटी ने कहा कि प्रदेश में भाजपा सरकार के आने के बाद से जनहित के मुद्दों पर विपक्ष के आंदोलनों को पुलिस बल से कुचलने का प्रयास हो रहा है। यह लोकतंत्र का अपमान है और जनता की आवाज को दबाने का प्रयास है। कांग्रेस ने कहा कि जन आंदोलन करना विपक्ष का लोकतांत्रिक अधिकार है और जनता को सरकार की नीतियों का विरोध करने का अधिकार है।

भाजपा सरकार की आलोचना
कांग्रेस ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार झूठे मुकदमे दर्ज कर जन आंदोलनों को कुचलने का प्रयास कर रही है। आम जनता को डराया जा रहा है और उनकी अभिव्यक्ति की आजादी छीनी जा रही है। राज्य के हर जिले में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ झूठे मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं, जिससे कार्यकर्ताओं में रोष व्याप्त है।

निंदा प्रस्ताव पारित
बैठक में जिला कांग्रेस अध्यक्ष आनंद जोशी, विधायक रेवदर मोतीराम कोली, प्रधान आबूरोड लीलाराम गरासिया, पूर्व विधायक गंगाबेन गरासिया, प्रदेश महामंत्री प्रभारी सिरोही अंजना मेघवाल, पूर्व विधायक लालाराम गरासिया, पूर्व लोकसभा प्रत्याशी संध्या चौधरी, प्रदेश महिला कांग्रेस सचिव तसलीम बानो, प्रदेश कांग्रेस कमेटी सदस्य निंबाराम गरासिया सहित सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सामूहिक हस्ताक्षर के साथ निंदा प्रस्ताव पारित किया।

कांग्रेस ने भाजपा सरकार के उक्त कृत्य की घोर निंदा की और लोकतांत्रिक अधिकारों की रक्षा के लिए संघर्ष जारी रखने का संकल्प लिया।

Must Read: ’डेड बॉडी’ के सम्मान वाला बिल विधानसभा में पारित, उल्लंघन करने पर हो सकती है 10 साल तक की सजा

पढें राज्य खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें thinQ360 App.

  • Follow us on :